Breaking News

इस्रायली लष्कर सीधे गाजा पट्टी पर हमला करेगा – इस्रायल के लष्करी प्रवक्ता का इशारा

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

जेरूसलम: गाजापट्टी में हमास ने आयोजित किए प्रदर्शन का जोर कम हुआ है फिर भी इस्रायल ने अपनी आक्रामक धारणा कायम रखने के संकेत दिए हैं। इस्रायली सीमा के पास हुए हिंसाचार की स्वतंत्र जांच करने से इस्रायल ने इनकार किया है और उसके विपरीत गाजापट्टी में हमले करने की चेतावनी इस्रायली सेना के प्रवक्ता ने दी है। इसकी वजह से इस्रायल एवं पैलेस्टाइन के दौरान शुरू संघर्ष अधिक तीव्र होने की आशंका जताई जा रही है।

१९७६ वर्ष में युद्ध में इस्राइल ने अपने भूभाग का कब्जा करने का आरोप करके आतंकवादी हमास संगठन ने पिछले हफ्ते में गाजा की जनता को इस्रायल विरोधी प्रदर्शन के लिए आवाहन किया था। पैलेस्टाइन की जनता सीधे इस्रायल के सीमा पर धड़के, ऐसी फुस हमास ने दी थी। इसके अनुसार ३० मार्च से गाजापट्टी से इस्रायल की सीमापर पहुंच्स हजारों नागरिकों ने हिंसक प्रदर्शन शुरू किए। इसके विरोध में इस्रायल ने की कार्रवाई में १७ प्रदर्शनकर्ताओ की जान गई है और लगभग डेढ़ हजार प्रदर्शन करता जख्मी हुए है।

प्रदर्शन शुरू होते हुए गाजापट्टी से आतंकवादियों ने घुसपैठ करने की घटना सामने आई है और उसके विरोध में आक्रमक कार्यवाही करने का इशारा इस्रायल की लष्कर ने दिया है। गाजा पर नियंत्रण रखनेवाले हमास से नए प्रदर्शन का उपयोग इस्रायल विरोधी हमले करने के लिए किया जाने की आशंका का भाग बढ़ाने का उनका इरादा है। इस्रायल सीमा के पास १५ मई तक प्रदर्शन शुरू रहेंगे, पर इस भाग में हमास के आतंकवादी हमले एवं उसके विरोध में प्रतिउत्तर इस समय तक इस्राइल की लष्करी कड़ी कार्रवाई मर्यादित नहीं रहेगी। अगर घुसपैठ एवं हिंसाचार शुरू रहा तो हमारे आगे सीधे गाजापट्टी में हमले करने के सिवाय दूसरा विकल्प नहीं रहेगा, ऐसा कडा इशारा इस्रायल के लष्कर के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल रोंनेन मैनेलिस ने दिया है।

एक तरफ इस्रायल सीधे गाजा पट्टी में कार्रवाई का इशारा देते हुए इस्रायली सरकार ने हिंसक प्रदर्शन के विरोध में आक्रामक भूमिका ली है। इस्रायल ने प्रदर्शन कर्ताओ पर किए कार्रवाई में १७ लोगों की जान गई है और उनकी स्वतंत्र जांच हो ऐसी मांग विदेशों के गटो से की जा रही है। इस्रायल के रक्षा मंत्री एविग्दोर लिबरमन ने स्वतंत्र जांच की मांग ठुकराई है और उसके विपरीत कारवाई करने वाले सैनिकों की प्रशंसा करने की गवाही दी है, साथ ही हमास महिलाएं एवं छोटे बच्चों का उपयोग करके हिंसक घटनाएं करने का आरोप भी उन्होंने किया है।

आने वाले महीने में इस्रायल अपने ७० वा स्थापना दिन मनाने वाला है। इस पृष्ठभूमि पर इस्रायल की सुरक्षा को सीरिया लेबनान तथा गाजापट्टी एवं वेस्ट बैंक के सीमा रेखा से खतरा होने का इशारा इस्रायली गुप्तचर यंत्रणा ने दिया था। ईरान तथा इस्रायल विरोधी गट आने वाले २ महीनों में इस्रायल पर हमला कर सकते हैं, ऐसा भी सूचित किया गया है।

(Courtesy: www.newscast-pratyaksha.com)

leave a reply