Breaking News

इस्रायल का घात करने का मौका देखने वाले हर एक को प्रत्युत्तर दिया जाएगा – इस्रायली प्रधानमंत्री का इशारा

जेरुसलेम/गाझा/ मॉस्को: ‘जो कोई इस्रायल का घात करने का मौका देख रहे हैं, उस हर एक पर इसके आगे भी हमले किए जाएंगे’, ऐसा इशारा इस्रायल के प्रधानमंत्री ‘बेंजामिन नेत्यान्याहू’ ने दिया है। गाझापट्टी से इस्रायली सीमा के पास चल रहे हिंसक प्रदर्शनों की पृष्ठभूमि पर यह घोषणा की है। लेकिन नेत्यान्याहू की यह प्रतिक्रिया सोमवार को सीरिया में किए गए हवाई हमले से संबंधित है, ऐसा दावा किया जा रहा है।

इस्रायल की सीमा के पास हिंसक प्रदर्शन करने वाले पॅलेस्टिनियों पर इस्रायल ने की कार्रवाई में अब तक ३० लोगों की जान गई है और हजार से अधिक घायल हुए हैं। इस्रायली लष्कर की कार्रवाई में मारे गए लोगों में से बहुतांश हमास के आतंकवाद हैं, ऐसा दावा इस्रायल कर रहा है। इस्रायल की सीमा में घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे कुछ प्रदर्शनकारियों से चाकू, जिन्दा बम भी बरामद किए गए हैं।

कुछ घंटों पहले सीमा के पास प्रदर्शनकारियों की भीड़ से इस्रायल की सीमा में घुसपैठ करने वाले पॅलेस्टिनियों के समूह ने इस्रायली सुरक्षा चौकी के पास बम लगाने की नाकाम कोशिश की। इस्रायल ने इस बम को नाकाम करने की वजह से बड़ी हानि टल गई। लेकिन अगले कुछ ही मिनटों में इस्रायली लड़ाकू विमानों ने गाझा में स्थित हमास के अड्डों पर हमले करने की खबर भी प्रसिद्ध हुई थी। इस्रायली प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू ने इस्रायल की सीमा के पास चल रहे इन हिंसक प्रदर्शनों पर टीका की है। और इस्रायल की सुरक्षा को चुनौती देने वाले हर एक को लक्ष्य बनाया जाएगा, ऐसा इशारा नेत्यान्याहू ने दिया है।

हमास के नेता पिछले दस दिनों से गाझापट्टी के पॅलेस्टिनी नागरिकों ने इस्रायल की सीमा के पास शुरू किए प्रदर्शनों को उकसा रहे हैं, हमास के भूतपूर्व प्रधानमंत्री ‘इस्माइल हनिया’ ने सोमवार को हजारो प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए गाझा की सीमा तक मर्यादित यह प्रदर्शन सीधे जेरुसलेम तक ले जाने की घोषणा की है।

‘पॅलेस्टाईन और जेरुसलेम हमारे स्वामित्व में हैं। इस वजह से जल्द ही इस्रायल ने डाले दबाव को तोड़कर, घुसपैठियों को बाहर उकसाकर और संपूर्ण पॅलेस्टाईन पर कब्ज़ा करने के लिए मै जल्द ही पॅलेस्टाईन में स्थित अपने घर और जेरुसलेम पहुँचूँगा। अपना लक्ष्य प्राप्त करने तक पॅलेस्टिनियों के यह प्रदर्शन जारी रहेंगे’, ऐसा हनिया ने घोषित किया है। इसके पहले भी हमास के अन्य नेताओं ने गाझापट्टी की सीमारेखा तोड़कर हजारों की संख्या में इस्रायल की सीमा में घुसने की घोषणा की थी। उस पृष्ठभूमि पर हनिया ने पॅलेस्टिनी प्रदर्शनकारियों को किए आवाहन की तरफ गंभीरता से देखा जा रहा है।

दौरान, इस्रायल ने गाझापट्टी पर किए हमलों पर रशिया ने कडी टीका की है और पॅलेस्टिनियों पर इस्रायल के हमले अविवेकी और अमान्य हैं, ऐसा कहा है। रशिया के साथ साथ तुर्की ने भी इस्रायल ने पॅलेस्टिनियों पर की कार्रवाई का निषेध किया है।

(Courtesy: www.newscast-pratyaksha.com)