Breaking News

पाकिस्तान बारा मिनट में इस्रायल को तबाह करेगा – पाकिस्तान के वरिष्ठ सेना अधिकारी की धमकी

वरिष्ठ सेना अधिकारीइस्लामाबाद – ‘पाकिस्तान सिर्फ १२ मिनट में इस्रायल को तबाह कर देगा’, ऐसी धमकी पाकिस्तानी सेना के वरिष्ठ अधिकारी ने दी| पाकिस्तानी सेना के ‘जॉईंट चीफ ऑफ स्टाफ’ कमिटी के चेअरमन ‘जनरल झुबेर महमूद हयात’ ने यह धमकी देते हुए इस्रायल और पाकिस्तान के बीच रहे दुश्मनी के ऐतिहासिक संदर्भ भी दिये है| अमरिका द्वारा अपना दूतावास जेरुसलेम में स्थलांतरित करने के बाद पाकिस्तान में भी अमरिका और इस्रायल का विनाश करने के नारे उग्रपंथियों द्वारा दिये जा रहे है| इसके चलते जनरल झुबेर महमूद हयात ने इस्रायल को दी धमकी ध्यान खींचनेवाली साबित हो रही है|

एक बातचीत में बोलते हुए जनरल हयात ने इस्रायल को पाकिस्तान केवल १२ मिनट में तबाह कर सकता है, ऐसे धमकाया| अगर इस्रायल पाकिस्तान की जमीं पर आक्रमण करता है, तो पाकिस्तान ऐसी कार्रवाई कर सकता है, ऐसा दावा जनरल हयात ने किया है| यह धमकी देते हुए, वह ज्यू के खिलाफ नही है ऐसा भी जनरल हयात ने कहा है| पर यह बयान करते हुए जनरल हयात ने इस्रायल के पहले प्रधानमंत्री डेव्हिड बिन गुरियन द्वारा १९६७ में एक नियतकालिक में लिखे हुए लेख का जिक्र किया| इस लेख में गुरियन ने कहा है कि, इस्रायल को पाकिस्तान से धोखा है|

इस लेख में गुरियन ने, पाकिस्तान मजहब पर खडा देश है तथा पाकिस्तानी ज्यूधर्मियों की नफरत करते है और अरबों से प्यार, ऐसे कहा था| अरबों से अरबों पर प्यार करनेवाले इस्रायल के लिए ज्यादा खतरनाक हो सकते है| ऐसा कहते हुए गुरियन द्वारा लेख में मॉंग कि गयी थी कि, पाकिस्तान के खिलाफ अभी से कदम उठाये जाय| साथ ही इसके लिए भारतीयों का इस्तेमाल किया जा सकता है, ऐसा सुझाव भी गुरियन ने अपने लेख में दिया था| जनरल हयात ने इस लेख का संदर्भ देते हुए इस्रायल शुरु से ही पाकिस्तान के खिलाफ रहा हुआ देश है, ऐसा दावा किया|

पर जिस लेख का संदर्भ जनरल हयात द्वारा दिया जा रहा है, वह लेख डेव्हिड बिन गुरियन ने लिखा ही नही, ऐसा कहते हुए कुछ अभ्यासक इस लेख के विश्‍वसनीयता पर सवाल खडे कर रहे है| पर कुछ दशक पहले लिखे हुए लेख का इस्तेमाल करके जनरल हयात  वर्तमान इस्रायल को धमका रहे है, ऐसा दिखाई दे रहा है| इस वक्त जेरुसलेम के मसले पर इस्रायल और अमरिका के खिलाफ कई देशों में स्थिती भडक चुकी है और उस में पाकिस्तान भी शामिल है| पाकिस्तान में कई जगहों पर ‘जेरुसलेम’ पर अमरिका ने लिए फैसले के खिलाफ प्रदर्शन किये जा रहे है|

पैलेस्टिनी प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कार्रवाई करनेवाले इस्रायल के खिलाफ पाकिस्तान सरकार और सेना द्वारा कठोर भूमिका ली जानी चाहिए, ऐसी मॉंग इस देश के उग्रपंथियों द्वारा की जा रही है| पाकिस्तान को अगर समर्थ नेतृत्त्व मिलता तो इस्रायल की कार्रवाई को जरुर जवाब मिलता ऐसी नाराजगी भी इस देश के उग्रपंथियों द्वारा जतायी जा रही है| इन उग्रपंथियों का रोष कम करने के लिए पाकिस्तानी सेना द्वारा कोशिश की जार ही है| इस्रायल को तबाह करने की क्षमता पाकिस्तान के पास है, यह जनरल हयात का बयान इन्हीं कोशिशों का हिस्सा दिख रहा है|

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info/status/998929094501945344
https://www.facebook.com/WW3Info/posts/396858074056016