Breaking News

शहीदों के खून के हर एक कतरे का बदला लिया जाएगा – भारतीय नेताओं से इशारा

नवी दिल्ली – पुलवामा में हुए आतंकी हमले की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद इन्होंने कडे शब्दों में निंदा की है। इस हमले में शहीद हुए जवानों के परिवार के साथ पुरा देश खडा है, ऐसा राष्ट्रपति कोविंद इन्होंने कहा। प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी इन्होंने इस कायराना हमले का विरोध किया है। इस कायराना हमले में शहीद हुए जवानों की शहादत जाया नही जाएगी, ऐसे बोधक वक्तव्य प्रधानमंत्री मोदी ने किया है। वही, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंग इन्होंने यह हमला बेचैन करनेवाला है, ऐसा कहा है। केंद्रीय अरूण जेटली इन्होंने ऐसा कहा है की, इस हमले के बाद आतंकी कभी भी भूल नही सकेंगे, ऐसा सबक सिखाया जाएगा।

शहीद, आतंकी हमला, रामनाथ कोविंद, पुलवामा, प्रतिक्रिया, world war three, भारत, केन जस्टरराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृहमंत्री और साथ ही पूर्व लष्कर प्रमुख एवं विदेश राज्यमंत्री जनरल व्ही.के.सिंग इन्होंने इस हमले से हमारा खून खौल उठा है, ऐसा कहा। इस हमले में शहीद हुए हर एक जवान के खून के हर एक कतरे का बदला लिया जाएगा, ऐसा जनरल व्ही.के.सिंग इन्होंने कहा है। पूर्व लष्करी अधिकारियों ने साथ ही लष्करी विश्‍लेषक भी इस हमले पर कडी प्रतिक्रिया दर्ज कर रहे है और अब पाकिस्तान के साथ बातचीत एवं समझौते के मार्ग बंद हुए है, ऐसा इशारा दे रहे है।

अब पाकिस्तान को हमेशा के लिए सबक सिखाया नही तो ऐसे आतंकी हमले बंद नही हो सकते, ऐसा इन भूतपूर्व लष्करी अधिकारी और विश्‍लेषक कह रहे है। दुबारा सर्जिकल स्ट्राईक करके या युद्ध शुरू करने से संबंधी निर्णय करने का अधिकार सरकार के पास है ही। पाकिस्तान को परेशान करने के लिए अन्य विकल्प सामने होने की भी जानकारी भूतपूर्व अधिकारी दे रहे है। पाकिस्तान के साथ शुरू व्यापार भारत पूरी तरह से बंद करे एवं भारत से पाकिस्तान पहुंच रही नदीयों का पानी रोक दिया जाए, ऐसी सलाह पूर्व लष्करी अधिकारी सरकार को दे रहे है।

जो देश हमारे विरोध में अघोषित युद्ध कर रहे है, ऐसे देश को हमसे किसी भी तरह से सहयोग प्राप्त ना हो, यह भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सामने डटकर कहना होगा, यह मांग भी इस अवसर पर हो रही है। इस दौरान, भारत में नियुक्त अमरिकी राजनीतिक अधिकारी केन जस्टर इन्होंने इस हमले पर निंदा करके इस परिस्थिति में अमरिका पूरी तरह से भारत के साथ है, यह भी कहा है।

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info