Breaking News

सुरक्षा परिषद में अफगानिस्तान ने दर्ज की पाकिस्तान के विरोध में तक्रार

न्यूयॉर्क/काबुल/तेहरान – भारत, ईरान इन पडोसी देशों में आतंकी हमला कर रहे पाकिस्तान के विरोध में अफगानिस्तान ने आक्रामक भूमिका अपनाई है। इसी बीच अफगानिस्तान ने संयुक्त राष्ट्रसंघ की सुरक्षा परिषद में पाकिस्तान के विरोध में तक्रार भी दर्ज की है। पाकिस्तानी लष्कर अपनी सीमा पर राकेट हमले कर रहा है और साथ ही हवाई सरहद का भी उल्लंघन कर रहा है, ऐसा आरोप अफगानिस्तान ने किया है। चीन का अपवाद करे तो सभी पडोसी देश पाकिस्तान के विरोध में खडे होने से पाकिस्तान पर बने दबाव में और भी बढोतरी होती दिख रही है।

पाकिस्तान का लष्कर अफगान सीमा पर लगातार उल्लंघन कर रहा है, ऐसा अफगान सरकार ने सुरक्षा परिषद में किए आरोपों में कहा है। वर्ष २०१२ से पाकिस्तानी लष्कर अफगानिस्तान की सीमा पर राकेटस्, मॉर्टर्स के हमले कर रहा है। इन हमलों के साथ ही पाकिस्तानी लष्कर के हेलिकॉप्टर्स हवाई सीमा का उल्लंघन करके अपने हवाई क्षेत्र में घुसपैठ कर रहे है, ऐसा अफगान सरकार ने कहा है।

पाकिस्तानी लष्कर लगातार अफगान हवाई सीमा का उल्लंघन करके अपनी प्रभुता को चुनौती दे रहा है, ऐसा क्रोध अफगान सरकार ने सुरक्षा परिषद को लिखे पत्र में व्यक्त किया है। पाकिस्तान की सीमा से निकट कुनार और नानगरहार प्रांत में पाकिस्तान हेलिकॉप्टर्स घुसपैठ कर रहे है, यह जानकारी सुरक्षा परिषद में नियुक्त अफगान राजदूत नजिफुल्ला सलारजाई इन्होंने दी है।

साथ ही संयुक्त राष्ट्रसंघ की सूचना के बावजूद पाकिस्तानी लष्कर अफगान सीमा में सुरक्षा पोस्ट और तार के बाड का निर्माण कर रहा है, ऐसा अफगान सरकार ने इन आरोपों में कहा है। पाकिस्तान की इस घुसपैठ पर सुरक्षा परिषद ध्यान दे और पाकिस्तान को कडे शब्दों में समज दे, ऐसा निवेदन अफगान सरकार ने किया है। पिछले हफ्ते में अफगानिस्तान ने पाकिस्तान के विरोध में सुरक्षा परिषद को दिया यह दुसरा पत्र है।

पिछले सप्ताह मे भी अफगानिस्तान ने पाकिस्तान के विरोध में एक पत्र लिखा था। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इम्रान खान इन्होंने तालिबान के साथ योजित बैठक के विरोध में अफगान सरकार ने आलोचना की थी। पाकिस्तान में तय यह बैठक अफगान शांतिचर्चा और प्रभुता को चुनौती देनेवाली होने का आरोप अफगानिस्तान ने किया था। उसके बाद तालिबान ने पाकिस्तान में योजित चर्चा से वापसी की थी।

वर्ष २०१२ से २०१८ के छह वर्षों में अफगानिस्तान ने पाकिस्तान के विरोध में २८१ तक्रार की है। लेकिन, पिछले कुछ हफ्तों से अफगानिस्तान ने सुरक्षा परिषद में पाकिस्तान के विरोध में और भी आक्रामक भूमिका अपनाई है। अफगानिस्तान की तरह पाकिस्तान का ईरान की सीमा पर भी संघर्ष शुरू है। पाकिस्तान सरकार अपनी सीमा में छिपे आतंकियों पर कार्रवाई नही करती, ऐसा आरोप ईरान कर रहा है। यह आतंकी ईरान की क्षेत्र में घुसपैठ करके हमले कर रहे है, ऐसी आलोचना ईरान ने की है। पाकिस्तान की सरकार ने समय पर इन आतंकियों पर कार्रवाई नही की तो पाकिस्तान में घुंसकर इन आतंकियों के ठिकानों पर हमले करने की धमकी ईरान ने दी है।

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info