Breaking News

इस्रायल फिर से गाजा पर कब्जा करेगा – इस्रायली प्रधानमंत्री का इशारा

तेल अवीव – ‘गाजा पट्टी से हो रहे हमलें रोकने के लिए इस्रायल पूरे गाजा पट्टी पर कब्जा करेगा| इस्रायल के सामने होनेवाले विकल्पों में यह सबसे आखिरी विकल्प है’, यह कहकर इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू इन्होंने खलबली मचाई है| फिलहाल गाजापट्टी पर इस्रायल का नियंत्रण है, फिर भी वर्ष २००७ से गाजा पट्टी का अंतर्गत कारोबार वहां की पैलस्टिनी सरकार और प्रशासन संभाल रहे है| लेकिन, इसके आगे गाजा पट्टी से इस्रायल पर हमलें जारी रहे, तो दुबारा गाजा पट्टी कब्जे में लेने का ऐलान करके इस्रायली प्रधानमंत्री ने जहाल पैलस्टिनी संगठनों को आखिरी चेतावनी दी दिख रही है|

इजिप्ट की मध्यस्थता से गाजा पट्टी से इस्रायल पर हो रहे राकेटस्, मॉर्टर्स एवं बलुन बम के हमले बंद हुए है| लेकिन, किसी भी क्षण हमास एवं इस्लामिक जिहाद इन दहशतगर्द संगठनों से दुबारा हमलें शुरू होंगे, यह चिंता इस्रायली जनता को सता रही है| इस पृष्ठभूमि पर एक मुलाकात के दौरान बोलते समय इस्रायल के प्रधानमंत्री ने गाजा की जहाल पैलस्टिनी संगठनों के साथ आतंकी संगठनों को धमकाया है| अपनी सुरक्षा के लिए इस्रायल ने सभी विकल्प सामने रखे है और इसमें गाजा में प्रवेश करने से लेकर कब्जा करने तक के सभी विकल्पों का समावेश होने की चेतावनी प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू इन्होंने दी है|

लेकिन, गाजा पर दुबारा कब्जा करना यह इस्रायल के लिए आखिरी विकल्प रहेगा, यह कहकर इसके पहले अन्य विकल्प का इस्तेमाल करेंगे, यह भरोसा इस्रायल के प्रधानमंत्री ने दिलाया है| साथ ही लष्करी कार्रवाई से हमास को तबाह करने की क्षमता इस्रायल रखता है| लेकिन, शुरू में ही ऐसा करना गलत होगा, यह कहकर गाजा के बारे में अपने पास कई विकल्प होने की बात नेत्यान्याहू इन्होंने कही है| यदि इस्रायल ने गाजा पर कब्जा किया तो फिर इस्रायल गाजा से पीछे नही हटेगा, यह भी इस्रायली प्रधानमंत्री ने कहा है| लेकिन, इस्रायल को २० लक्ष पैलस्टिनियों पर हुकूमत करने की इच्छा नही है, यह नेत्यान्याहू इन्होंने स्पष्ट किया|

इसके अलावा गाजा पट्टी का संपूर्ण कब्जा दुसरे देश के हाथ सौंपने के विकल्प पर भी विचार हो सकता है, यह सुझाव भी प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू इन्होंने रखा| इसके लिए हम अरब नेताओं से बातचीत की है, यह भी इस्रायली प्रधानमंत्री ने कहा| लेकिन, कोई भी अरब नेता गाजा पट्टी की जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार नही है, यह कहकर अरब देशों की गाजा पट्टी संबंधी भूमिका प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू इन्होंने रखी| साथ ही इस्रायल के विनाश का ऐलान करनेवाले हमास और अन्यों के साथ इस्रायल किसी भी प्रकार के सियासी समझौते में फंसेगा नही, ऐला प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू इन्होंने कहा है|

दौरान, गुरूवार सुबह प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू रशिया के लिए रवाना हुए है और इस दौरान वह राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन इनसे भेंट करेंगे| इस्रायल के चुनाव के सिर्फ पांच दिन बचे है, ऐसे में प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू इनके इस रशिया यात्रा की ओर गंभीरता से देखा जा रहा है| पिछले हफ्तें में नेत्यान्याहू इन्होंने अमरिका की यात्रा करके राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प से भेंट की थी|

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info