Breaking News

उत्तर कोरिया के तानाशाह की रशिया यात्रा से चीन बेचैन – अमरिकी अभ्यासगुट की विश्लेषिका का दावा

लंदन – उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जॉंग उन और रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन इन्होंने की ऐतिहासिक चर्चा का अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प इन्होंने स्वागत किया है| उत्तर कोरिया की समस्या का हल निकालने के लिए रशिया कर रहे सहयोग पर राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने आभार व्यक्त किया है| लेकिन, किम जॉंग उन इन्होंने चीन को बाजू में रखकर रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन से भेंट करने से चीन बेचैन हुआ है| चीन को बाजू में करके उत्तर कोरिया के राष्ट्रप्रमुख ने रशिया की यह यात्रा करने से चीन की चिंता बढ रही है, यह दावा विश्‍लेषिका जेनी टाऊन इन्होंने किया|

दोन दिन पहले उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जॉंग उन अपने आलिशान ट्रेन से रशिया के व्लादिवोस्तोक में दाखिल हुए थे| उत्तर कोरियन राष्ट्रप्रमुख ने इसी शहर में रशियाके राष्ट्राध्यक्ष पुतिन से भेंट करके बातचीत की थी| इस भेंट के दौरान उन्होंने अमरिका के साथ हुई बातचीत और मांगों का ब्यौरा राष्ट्राध्यक्ष पुतिन के सामने रखा| रशियन राष्ट्राध्यक्ष ने भी उत्तर कोरिया के हुकूमशहा ने परमाणु हथियारों का त्याग करने के लिए अपनाई भूमिका का स्वागत किया था| साथ ही यह बातचीत सफल होने के लिए उत्तर कोरिया की मांगें अमरिका के सामने रखने का ऐलान भी किया|

लेकिन, रशिया और उत्तर कोरियन राष्ट्रप्रमुख के इस भेंट की वजह से चीन बेचैन होने का दावा अमरिका के प्रसिद्ध अभ्यासगुट ‘स्टिमसन सेंटर’ की विश्‍लेषिका जेनी टाउन इन्होंने किया है| ब्रिटेन में एक रेडिओ चैनल के साथ बात करते समय टाउन इन्होंने उत्तर कोरिया ने मन में उद्देश्य रखकर चीन को नजरअंदाज करके रशिया से यह संबंध स्थापित किए है, ऐसा टाउन ने कहा है| उत्तर कोरिया के तानाशाह ने चीन की राह छोडकर सीधे रशिया के सामने अपनी भूमिका रखने से चीन चिंतित और बेचैन हुआ है, ऐसा टाउन का कहना है| अबतक उत्तर कोरिया के एटमी या मिसाइल कार्यक्रम को लेकर चीन ने मध्यस्थता की थी| लेकिन, पहली बार उत्तर कोरिया के तानाशाह ने चीन को किमत दिए बिना रशिया से हाथ मिलाना शुरू करने से चीन बेचैन हुआ है, ऐसा टाउन का कहना है|

उत्तर कोरिया के तानाशाह की इस रशिया यात्रा से दो अहम बातें रेखांकित हुई है, इस पर टाउन ने ध्यान दिलाया है| उत्तर कोरिया के तानाशाह के आत्मविश्‍वास में बढोतरी हो रही है और वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी भूमिका रख रहे है| उनके आत्मविश्‍वास में हुई बढोतरी उत्तर कोरिया पर बना चीन का प्रभाव कम करनेवाला साबित होता है, यह दावा टाउन ने किया है| रशिया यात्रा के बाद भी उत्तर कोरियन तानाशाह चीन को भेंट देने से दूर रहे है| इस वजह से भी चीन की चिंता में और भी बढोतरी हुई है, यह बात टाउन ने ब्रिटीश रेडिओ चैनल के साथ बोलते समय स्पष्ट की|

इस दौरान, पुतिन और उन इन्होंने की बातचीत का अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने स्वागत किया है| उत्तर कोरिया को परमाणु हथियारों से दूर करने के लिए यह भेंट मददगार साबित होगी, यह विश्‍वास राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने व्यक्त किया है|

English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info