Breaking News

यूरोप में मौजूद ‘स्लीपर सेल’ की सहायता से ईरान ब्रिटेन में आतंकी हमलें करवायेगा – ब्रिटेन की गुप्तचर यंत्रणा का इशारा

लंदन – ‘‘ईरान ने ‘ऑइल टैंकर’ जब्त करने के बाद प्रत्युत्तर में यदि ब्रिटेन ने कार्रवाई की तो यूरोप में मौजूद अपने ‘स्लीपर सेल’ की सहायता से ईरान सीधे ब्रिटेन में हमलें करवा सकता है’’, यह इशारा ब्रिटेन के गुप्तचर यंत्रणाओं ने दिया है| ईरान समर्थक हिजबुल्लाह का ‘टेरर सेल’ यूरोप में बडी तादाद में सक्रिय है, इस ओर ध्यान आकर्षित करके इस अधिकारी ने चिंता व्यक्त की है| ईरान के साथ बने तनाव में बढोतरी होने की पृष्ठभूमि पर प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने शीघ्रता में ब्रिटेन के विशेष सुरक्षा दल की बैठक बुलाई है|

‘स्लीपर सेल’, आतंकी हमलें, रिव्होल्युशनरी गार्डस्, गुप्तचर यंत्रणा , ww3, लंदन, ईरान, पर्शियन खाडी

ईरान के रिव्होल्युशनरी गार्डस् ने होर्मुझ की खाडी में हेलिकॉप्टर और गश्ती पोतों की सहायता से ‘स्टेना इम्पेरो’ इस ईंधन टैंकर पर कब्जा किया था| इसके बाद ब्रिटेन के ‘एमआई५’ और ‘एमआई६’ इन दोनों गुप्तचर यंत्रणाओं ने कडी चिंता व्यक्त की है| रशिया, चीन के साथ अब ब्रिटेन की सुरक्षा को अब सबसे अधिक खतरा ईरान से ही है, ऐसा इन गुप्तचर यंत्रणाओं का कहना है| ईरान के इस खतरे की ओर अनदेखा करना मुमकिन नही है, यह बात भी गुप्तचर यंत्रणा से जुडे एक अधिकारी ने ब्रिटेन के समाचार पत्र से की बातचीत के दौरान कही|

वर्ष २०१५ में ब्रिटेन की सुरक्षा यंत्रणाओं ने लंदन में एक घर पर किए छापे में ईरान से जुडा ‘स्लीपर सेल’ तबाह किया था| ईरान से जुडे हिजबुल्लाह इस गुट से संबंधित इस घर में विस्फोटकों का बडा भंडार बरामद किया गया था| लेकिन, ईरान समर्थक हिजबुल्लाह का टेरर सेल नेटवर्क सीर्फ ब्रिटेन में ही फैला नही है, बल्कि यह पूरे यूरोप में फैल चुका है, इसका एहसास इस अधिकारी ने दिलाया है| ऐसी स्थिति में अपना ‘ऑइल टैंकर’ रिहा करने के लिए ब्रिटेन ने ईरान के विरोध में कदम उठाया तो यूरोप में मौजूद अपने ‘स्लीपर सेल’ की सहायता से ईरान सीधे ब्रिटेन में हमलें करवायेगा, यह इशारा इस अधिकारी ने दिया|

ईरान की रिव्होल्युशनरी गार्डस् ने एक व्हिडिओ प्रसिद्ध किया है और इसमें रिव्हल्युशनरी गार्डस् के सैनिक हेलिकाप्टर से ब्रिटेन के टैंकर पर उतरते और इस टैंकर पर ईरान का झंडा फहराते दिखाई दे रहे है| ईरान के इस हमलें पर बातचीत करने के लिए ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने सोमवार के दिन ‘कोब्रा’ इस विशेष सुरक्षा दल की बैठक बुलाई| इस बैठक में अपने टैंकर की रिहाई के लिए जरूरी योजनाओं पर बातचीत होगी, यह जानकारी सरकारी सूत्रों ने दी|

इस दौरान पर्शियन खाडी में दिन दहाडे ईरान के रिव्होल्युशनरी गार्डस् ने ब्रिटेन के टैंकर को अगवाह करना चिंताजनक घटना है| अंतरराष्ट्रीय समुदाय इस घटना का संज्ञान लेकर ईरान के विरोध में कडी भूमिका अपनाए, यह निवेदन सौदी अरब ने किया है|

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info