Breaking News

पैसिफिक महासागर में अमरिका के एटमीं कुडे का रिसाव होने का दावा – ‘मार्शल आयलैंड’ पर स्थित ‘न्युक्लिअर टॉम्ब’ में आठ करोड लीटर्स परमाणु कुडे का भंडार

मार्शल आयलैंड – अमरिका ने ‘असोसिएटेड स्टेट’ दर्जा प्रदान किए पैसिफिक महासागर के मार्शल आयलैंड से परमाणु कुडे का रिसाव शुरू होने का दावा किया गया है| मार्शल आयलैंड के द्विप पर अमरिका ने अलग अलग परमाणु परीक्षण से इकठ्ठा हुआ करीबन ८.३२ करोड ‘परमाणु कुडा’ (न्युक्लिअर वेस्ट) का भंडार किया गया है| परमाणु कुडे के इस भंडार से सीधे पैसिफिक महासागर में रिसाव होने की चौकानेवाला दावा वैज्ञानिक एवं प्रसारमाध्यमों ने किया है|

वर्ष १९४० से १९६० के दौरान अमरिका ने पैसिफिक महासागर के ‘मार्शल आयलैंडस्’ पर कई परमाणु परीक्षण किए थे| इसमें वर्ष १९५४ में १५ मेगाटन क्षमता के ‘थर्मोन्युक्लिअर वॉरहेड’ का परीक्षण भी शामिल है| ‘कैसल ब्राव्हो’ नाम के परमाणु हथियारा का भी परीक्षण किया गया है और अमरिका ने अबतक किए परमाणु परीक्षणों में यह सबसे बडा परमाणु परीक्षण होने की बात कही जाती है| इस परीक्षण के साथ अन्य सभी परमाणु परीक्षणों में से तैयार हुआ कुडा एवं अन्य संबंधित घटक नष्ट करने के आदेश १९७० के दशक में दिए गए थे|

इसके बाद वर्ष १९७७ से १९८० के दौरान अमरिका के करीबन चार हजार सैनिकों ने मार्शल आयलैंड के ‘एनेवेटक एटॉल’ इस के छोटे द्विप पर यह कुडा दफन किया था| इसपर एक बडे आकार का कांक्रिट का ढक्कन भी लगाया गया| परमाणु कुडा रखे इस क्षेत्र को ‘रुनिट डोम’ नाम दिया गया| स्थानिय लोग और वैज्ञानिकों में यह जगह ‘न्युक्लिअर टॉम्ब’ के नाम से जानी जा रही है|

‘मार्शल आयलैंड’ के क्षेत्र से बडी तादाद में रेडिएशन होने की जानकारी इस क्षेत्र में खोज कार्य क ररहे अलग अलग गुटों ने दी है| ‘कोलंबिया युनिव्हर्सिटी’ ने जारी किए रपट के अनुसार ‘मार्शल आयलैंडस्’ से हो रहा रेडिएशन रशिया के चेर्नोबिल एवं जापान के फुकुशिमा में हुए दुर्घटना के बाद हुए रेडिएशन से भी अधिक है| साथ ही मौसम में हुए बदलाव के कारण समुद्री सतेह से काफी निकट होनेवाला मार्शल आयलैंड अगले कुछ दशकों में पूरी तरह से पानी में डुब जाएगा, यह डर भी व्यक्त किया गया है|

ऐसा हुआ तो ‘न्युक्लिअर टॉम्ब’ से करोडों लीटर्स का एटमी कुडा पैसिफिक महासागर में फैलेगा और बडी तबाही होगी, यह इशारा वैज्ञानिक दे रहे है| इस कुडे में ‘प्लुटोनियम’ के घातक यौगिक पदार्थ भी है| कुछ वैज्ञानिकों ने यहां से रिसाव शुरू हुआ है, यह डर भी व्यक्त किया है|

अमरिका ने ‘मार्शल आयलैंडस्’ के कुछ लोगों को अन्य जगह पर स्थानांतरित किया है और ४० लाख डॉलर्स के हरजाने के सिवाय अन्य कुछ प्रदान करने से इन्कार किया है| अब इसके आगे ‘न्युक्लिअर टॉम्ब’ की जिम्मेदारी मार्शल आयलैंडस् के प्रशासन की है, यह भूमिका अमरिकी प्रशासन ने अपनाई है| इस वजह से स्थानिय लोग और प्रशासन में बडी नाराजगी है और जीस का निर्माण अमरिका ने किया है, उसकी जिम्मेदारी हमारी कैसी हो सकती है, यह सवाल पुछा जा रहा है|

English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info