Breaking News

‘कोरोना व्हायरस’ यानी ‘कम्युनिस्ट पक्ष’ के सामने पिछले ७० वर्षों में खडा हुआ सबसे बडा संकट – चीन के राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग

बीजिंग – ‘चीन के वुहान शहर के साथ ही अन्य शहरों में तेजी से फैल रही ‘कोरोना व्हायरस’ की महामारी यानी पिछले सात दशकों में कम्युनिस्ट पक्ष के सामने खडा हुआ सबसे बडा खतरा है’, ऐसा ऐलान चीन के राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग ने किया है| इस भयंकर समस्या का हल निकाल ने के लिए या इसे नियंत्रण में लाने का अभी उपाय प्राप्त नही हुआ है, यह बात स्वीकार करके राष्ट्राध्यक्ष ने गंभीर चिंता भी व्यक्त की|

कोरोना व्हायरस की महामारी में सीर्फ चीन में ही २,५९२ लोगों की मौत हुई है| जापान, दक्षिण कोरिया इन पडोसी देशों के साथ ही ईरान में भी इस बिमारी के मरीज बडी संख्या में दिखाई दे रहे है| इस पृष्ठभूमि पर चीन के राष्ट्राध्यक्ष जिनपिंग ने कोरोना व्हायरस का संकट रोकने के लिए अधिक कोशिश जरूरी है, यह निवेदन किया|

इस विषाणु का फैलाव काफी तेज हो रहा है और इस पर नियंत्रण प्राप्त करना कठिन होने की बात जिनपिंग ने कही है| वर्ष १९४९ में कम्युनिस्ट पार्टी ने चीन में हुकूमत स्थापित की और इसके बाद पिछले ७० वर्षों में पहली बार ऐसी भीषण महामारी हडकंप मचाती दिख रही है| चीन के लिए यह काफी बडा संकट है और यह कसौटी का अवसर है’, यह बयान राष्ट्राध्यक्ष जिनपिंग ने किया है|

कोरोना व्हायरस से चीन के उद्योग क्षेत्र को भी झटका लग रहा है और चीन के निर्यात में काफी बडी कमी हुई है| इसका सीधे चीन की अर्थव्यवस्था पर असर होने लगा है| इससे चौकन्ना हुए राष्ट्राध्यक्ष जिनपिंग ने कोरोना व्हायरस के प्रभाव में ना होनेवाले राज्य उत्पाद पर ध्यान केंद्रीत करें, यह निवेदन किया है|

इस विषाणु के आतंक की वजह से जिनपिंग की हुकूमत ने अपनी सियासी भेंट-गांठ एवं अंतरराष्ट्रीय बैठकों के समय में बदलाव किया है| साथ ही कम्युनिस्ट पक्ष की सालाना संसदिय बैठक भी रद्द की गई है|

इसी बीच कोरोना व्हायरस जैसे अन्य विषाणु का फैलाव रोकने के लिए इसके आगे वन्य जीवों का इस्तेमाल खाने के लिए ना करें, यह सूचना चीन के ‘नैशनल पिपल्स कांग्रेस’ ने की है| इसके अनुसार बिल्ली, चुहा, सांप, गिरगिट, छिपकली, भेडिया का मांस का प्रयोग खाने में ना करनें की कडी चेतावनी चीन में जारी की गई है|

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info