Breaking News

इस्रायल से द्विपक्षीय सहयोग करने से यूएई और बहरीन असुरक्षित हुए हैं – ईरान की धमकी

तेहरान – ‘संयुक्त अरब अमीरात’ (यूएई) और बहरीन ने इस्रायल के साथ द्विपक्षीय समझौता करके स्वयं को असुरक्षित किया है। इसके आगे इस्रायल ने इस क्षेत्र में कोई भी उकसानेवाली हरकत की तो उसकी ज़िम्मेदारी इन दोनों देशों पर होगी। इसके लिए यूएई और बहरीन के खिलाफ़ कार्रवाई किए बगैर ईरान शांत नहीं रहेगा, ऐसी धमकी ईरान ने दी है। दो दिन पहले ईरान के रिवोल्युशनरी गार्ड्स ने बहरीन के राजा ‘हमाद बिन इला अल खलिफा’ को इस्रायल के साथ संबंध स्थापित करने पर धमकाया था।

मात्र एक महीने में यूएई और बहरीन इन अरब देशों ने इस्रायल के साथ संबंध सुधारने से संबंधित निर्णय करने से ईरान बेचैन हुआ है। इसी बेचैनी की स्थिति से ईरान ने अपने पड़ोसी अरब देशों को धमकाना शुरू किया है। ईरानी संसद की ‘राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेश नीति’ से संबंधित समिती ने यूएई और खास तौर पर बहरीन को गंभीर परिणामों का इशारा दिया है। अमरीका से मित्रता कर रहे यूएई और बहरीन की सुरक्षा के लिए पहले से ही खतरा बना था। लेकिन, इस्रायल के साथ हाथ मिलाने से यूएई और बहरीन की सुरक्षा को ईरान से बना खतरा और भी बढ़ा है, ऐसी धमकी ईरान की संसदीय समिती ने दी है। बहरीन के राजा हमाद बिन इसा अल खलिफा की हुकूमत अमरीका के हाथ की कठपुतली हैं और इस्रायल से मित्रता करने से बहरीन की हुकूमत का जल्द ही तख्ता पलट जाएगा, यह दावा भी ईरानी संसदीय समिती ने किया।

बहरीन ने इस्रायल के साथ द्विपक्षीय सहयोग स्थापित करने से संबंधित निर्णय के बाद बीते चार दिनों में ईरान ने बहरीन को दी हुई यह दूसरी धमकी है। इससे पहले शनिवार के दिन ईरान के रिवोल्युशनरी गार्ड्स ने बहरीन की जनता को राजा खलिफा की हुकूमत के खिलाफ़ बगावत करने के लिए उकसाया था। ‘जेरूसलम को आज़ाद करने के लिए संघर्ष कर रहे पैलेस्टिनी मुज़ाहिद्दींयों से बहरीन की हुकूमत को जोरदार प्रत्युत्तर प्राप्त होगा’, ऐसी धमकी रिवोल्युशनरी गार्ड्स ने दी थी। बहरीन एवं पैलेस्टिन में भी बहरीन की हुकूमत के खिलाफ़ प्रदर्शन जारी हैं।

इससे पहले, वर्ष २०११ में अरब इस्लामी देशों में फैले ‘अरब स्प्रिंग’ के दौरान भी ईरान ने बहरीन में खलिफा की हुकूमत का तख्ता पलटने की कोशिश की थी। लेकिन, सौदी अरब ने खलिफा हुकूमत का समर्थन करने से ईरान की साज़िश नाकाम हुई। वैसी ही कोशिश ईरान अब दुबारा करेगा, ऐसा दावा खाड़ी क्षेत्र के विश्‍लेषक और यूरोपिय माध्यम कर रहे हैं। तभी, ईरान की रिवोल्युशनरी गार्ड्स ने दी हुई धमकी पर इस्रायल के लष्करी विश्‍लेषकों ने चिंता व्यक्त की है। समुद्री क्षेत्र का इस्तेमाल करके ईरान बहरीन में ‘टेरर सेल’ का निर्माण करके वहां पर इस्रायली नागरिकों पर हमले करेगा, यह ड़र इस्रायली विश्‍लेषकों ने व्यक्त किया है।

इसी बीच, बहरीन को धमकाने के साथ ही ईरान ने होर्मूज़ की खाड़ी में नौसेना का युद्धाभ्यास करना शुरू किया है। साथ ही अमरिकी युद्धपोत इस युद्धाभ्यास से दूर रहे, ऐसी धमकी भी ईरान ने दी है। इस युद्धाभ्यास के दौरान ईरान होर्मूज़ की खाड़ी में ‘लाईव फायरिंग’ का अभ्यास कर रहा है और इससे विश्‍व के दो तिहाई र्इंधन व्यापार का हिस्सा बने इस समुद्री क्षेत्र में तनाव बढ़ा है।

मराठी  English

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info