Breaking News

सीरिया के हमा प्रांत में इस्रायल के हवाई हमले – सीरियन रक्षा मंत्रालय का आरोप

दमास्कस – पश्‍चिमी सीरिया के हमा प्रांत में इस्रायल के लड़ाकू विमानों ने हवाई हमले किए। लेकिन, सीरिया की हवाई सुरक्षा यंत्रणाओं ने इस्रायल के अधिकांश हवाई हमले सफलता के साथ नाकाम किए हैं, ऐसा दावा सीरिया के रक्षा मंत्रालय ने किया है। इस्रायली विमानों ने लेबनान की हवाई सीमा में प्रवेश करके सीरिया पर यह हमले किए। तभी इस्रायल ने सीरिया में स्थित ईरान के लष्करी अड्डे को लक्ष्य करने के लिए किए हमलों में छह आतंकी मारे जाने का दावा सीरिया में स्थित मानव अधिकार संगठन ने किया है।

इस्रायल के लड़ाकू विमानों ने गुरूवार देर रात बाद यह हवाई हमले शुरू किए, यह आरोप सीरियन रक्षा मंत्रालय ने किया। हमा प्रांत के ‘मसयाफ’ शहर पर इस्रायल ने रॉकेट्स दांगे। यह हमले करके इस्रायल ने अपनी आक्रामक मानसिकता दिखाई है, ऐसी आलोचना भी रक्षा मंत्रालय ने की है। साथ ही सीरिया की हवाई सुरक्षा यंत्रणा ने इस्रायल के रॉकेट्स मार गिराए हैं, यह दावा भी सीरियन रक्षा मंत्रालय ने किया है।

हमा प्रांत में हमले करने के लिए इस्रायल के लड़ाकू विमानों ने लेबनान की राजधानी बैरूत की हवाई सीमा पार की और सीरिया की सीमा के निकट लीबिया के ‘त्रिपोली’ शहर तक पहुँचकर यह हमले किए, ऐसा सीरियन रक्षा मंत्रालय ने कहा है। इस्रायल के इन हवाई हमलों में कितना नुकसान हुआ, इसका ब्यौरा देने से सीरियन रक्षा मंत्रालय दूर रहा है। लेकिन, सीरिया में स्थित मानव अधिकार संगठन इन हमलों की अलग ही जानकारी प्रदान कर रहा है।

शुक्रवार के दिन इस्रायली लड़ाकू विमानों ने किए इन हमलों में ‘मसयाफ’ शहर में मौजूद ईरान के लष्करी अड्डे को लक्ष्य किया। इस हमले में ईरान से जुड़े आतंकी संगठन के छह लोग ढ़ेर होने की जानकारी इस मानव अधिकार संगठन ने प्रदान की है। सीरियन रक्षा मंत्रालय ने किए इन आरोपों पर इस्रायली सरकार या सेना ने कुछ भी बयान नहीं किया है।

हमा प्रांत में स्थित ‘मसयाफ’ शहर लष्करी नज़रिये से बड़ा अहम ठिकाना समझा जाता है। इस शहर में सीरियन सेना की अकादमी एवं सेना से संबंधित विज्ञान अनुसंधान केंद्र भी बना है। इसके अलावा ‘मसयाफ’ शहर में ईरान के सैनिकों का एवं ईरान से जुड़ी आतंकी संगठनों का बड़ा प्रभाव होने का दावा भी किया जा रहा है। यहा पर बने ईरान के ठिकाने को लक्ष्य करने के लिए इस्रायल ने इससे पहले भी हमले किए हैं, ऐसी खबरें प्राप्त हुई थीं।

बीते महीने में इस्रायल ने सीरिया के गोलान क्षेत्र में हमले किए थे। इन हमलों में इस्रायल ने ईरान की कुद्स फोर्सेस के सैनिक और ईरान से जुड़े आतंकी संगठनों को लक्ष्य किया था। ईरान ने यह वृत्त ठुकराया था। लेकिन, इस्रायल की इस कार्रवाई में कम से कम आठ लोग मारे जाने की जानकारी सीरिया स्थित मानव अधिकार संगठन ने साझा की थी।

इसके बाद इस्रायल की गोलान पहाड़ियों के करीब सीरियन सेना ने गतिविधियां बढ़ाने की जानकारी सामने आयी थी। इन लष्करी गतिविधियों की आड़ में ईरान, हिज़बुल्लाह और ईरान से जुड़े आतंकी संगठन इस्रायल की सीमा के करीब अड्डा स्थापित करने की तैयारी में जुटे होने का आरोप इस्रायल ने किया था। इसके बाद इस्रायल ने गोलान पहाड़ियों के क्षेत्र में बड़ी मात्रा में लष्करी जमावड़ा शुरू किया था। इस वजह से गोलान क्षेत्र में तनाव निर्माण हुआ था।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info