Breaking News

सीरिया तख्ता पलट के लिए राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प की अमरिकन कांग्रेस की तरफ ५० करोड़ डॉलर्स की मांग

वॉशिंग्टन: राष्ट्राध्यक्ष बशर अल-अस्साद को सीरिया की सत्ता से नीचे खींचने के लिए अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प और रक्षा मुख्यालय पेंटागन ने जोरदार तैयारी की है| अस्साद विरोधी मुहीम के लिए सीरिया में कम से कम ६० हजार सैनिक तैनात करना आवश्यक है और उसके लिए ५० करोड़ डॉलर्स का निधि आवश्यक है, ऐसा पेंटागन ने कहा है| अमरिकन कांग्रेस पेंटागन के इस प्रस्ताव को मान्य करे, ऐसी मांग राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने रखी है|

एक महीने पहले अमरिका का रक्षा मुख्यालय ‘पेंटागन’ ने अमरिकन कांग्रेस के सामने ६८६ अरब डॉलर्स का प्रस्ताव रखा था| इसमें सीरिया के संघर्ष के लिए पेंटागन ने ५० करोड़ डॉलर्स के निधि की मॉंग की है| पिछले वर्ष पेंटागन ने सीरिया में ‘आईएस’ विरोधी संघर्ष के लिए ३० करोड़ डॉलर्स का प्रस्ताव रखा था| उसके बाद अमरिका और मित्र देशों ने सीरिया के उत्तरी इलाके में की कार्रवाई में ‘आईएस’ को मार भगाया था| इस वजह से पेंटागन के सीरिया विषयक प्रस्ताव में कटौती होगी, ऐसी संभावना जताई जा रही थी| लेकिन पेंटागन ने निधि मॉंग में बढ़ोत्तरी की है और कांग्रेस इस प्रस्ताव को मंजूर करे, इसके लिए राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प भी जोरदार कोशिश कर रहे हैं्|

सीरिया के ‘वेटेड सीरियन अपोझिशन’ (वीएसओ) इस अस्साद विरोधी बागियों के लिए पेंटागन ने यह प्रावधान सुझाने का दावा किया जा रहा है| सीरिया में करीब ६० से ६५ हजार तक अस्साद विरोधी सैनिक तैनात करने की ट्रम्प की योजना है| इसमें से ३०,००० सैनिक लष्करी संघर्ष के लिए और ३५,००० सैनिक अंतर्गत सुरक्षा के लिए तैनात रहेंगे, यह जानकारी एक प्रमुख वृत्तसंस्था ने दी है| इन सैनिकों के लिए प्रगत हथियारों का भंडार और लष्करी गाड़ियों के लिए सदर प्रस्ताव में मॉंग में बढ़ोत्तरी की गई है| पेंटागन ने इस वृत्त पर प्रतिक्रिया नहीं दी है|

सीरिया की परिस्थिति बहुत ज्यादा बिगड़ रही है और ‘ईस्टर्न घौता’ में दो हफ़्तों के संघर्ष में एक हजार से अधिक लोगों की जान गई है| सीरिया की अस्साद राजवट और रशियन लष्कर ‘ईस्टर्न घौता’ पर लगातार हमले कर रहे हैं, ऐसा दावा किया जा रहा है| उसी समय सीरियन राजवट की तरफ से अपनी जनता पर रासायनिक हमले कर रही है, ऐसे आरोप अमरिका कर रहा है|

ओमान का दौरा कर रहे अमरिका के रक्षामंत्री जेम्स मैटिस ने सीरिया में रासायनिक हमलों के लिए अस्साद राजवट और रशिया को जिम्मेदार ठहराया है| संयुक्त राष्ट्रसंघ की रिपोर्ट भी रासायनिक हमलों के लिए सीरियन राष्ट्रसंघ की तरफ ऊँगली कर रही है| रशिया ने सीरिया में २१० हथियारों का परीक्षण करने की घोषणा करके रशिया के रक्षामंत्री सर्जेई शोईगू ने रशिया इन आरोपों की परवाह नहीं करता, ऐसा दिखा दिया है|

 

(Courtesy: www.newscast-pratyaksha.com)

leave a reply