Breaking News

२००७ में सिरियन परमाणुप्रकल्प पर किया हमला खाड़ी क्षेत्र में इस्रायल के शत्रु को इशारा- रक्षामंत्री एविग्दोर लिबरमन

जेरूसलम: सन २००७ वर्ष की सितंबर को देर रात पर सितंबर के सुबह होने से पहले के समय में इस्रायली वायु सेना कीएफ१५औरएफ१६इन लड़ाकू विमानों का जकीरा सीरिया के दिशा से निकला था| सीरिया के देर अल ज़ोर पर इन विमानों ने हमला किया था| लगभग १८ टन विस्फोटकों का हमला होने के बाद सीरिया काहल कुबारपरमाणु प्रकल्प निर्माण होने से पहले ही नष्ट हुआ था| दूसरे दिन हमले की खबरें प्रसिद्ध हुई थी पर इस्रायल ने उस समय हमले की पुष्टि नहीं की अथवा उसे इंकार भी नही किया था|

इस हमले को १० वर्ष से अधिक समय होने के बाद अब इस्रायल ने इस हमले की जिम्मेदारी स्वीकारी है| यह हमला मतलब ईरान का इशारा ठहरता है, ऐसा स्पष्ट संकेत इस्रायल के रक्षामंत्री एविग्दोर लिबरमन ने दिया है| इस्रायल के शत्रु का उत्साह एवं उन्हें मिलनेवाली प्रेरणा पिछले कई वर्षों में बढ़ी है| उसी समय २००७ वर्ष की तुलना में इस्रायल के रक्षा दल की एवं गुप्तचर यंत्रणा की क्षमता बड़ी है, इसका एहसास इस्रायल के शत्रु रखें| खाड़ी क्षेत्र में हर एक देश यह समीकरण याद रखे, ऐसे शब्दों में इस्रायल के रक्षा मंत्री लिबरमन ने ईरान को इशारा दिया है|

ईरान को इशारा देते हुए रक्षामंत्री लेबरमन ने १० वर्षों पहले किये इस निर्णय का जोरदार समर्थन किया है| आज के समय में इस्रायल सन २००७ में हुए निर्णय से सबक ले सकता है| उस समय लिए ऐतिहासिक एवं साहसी निर्णय इस्रायल की सुरक्षा को किसी भी प्रकार का धक्का नहीं दे सकता, यह आज भी सिद्ध किया जा सकता है| इस्रायल ने कायम राष्ट्रीय हितसंबंधों को प्राथमिकता देना चाहिए और उसके अनुसार निर्णय एवं आवश्यकता के अनुसार कार्रवाई करनी चाहिए| उस समय अगर इस्रायल ने हमला नहीं किया होता, तो अपने परमाणु सज्ज सीरिया को जवाब देने का समय आया होता, ऐसा लिबरमनने सूचित किया है|

इस्रायल की गुप्तचर विभाग के मंत्री इस्रायल कात्झ ने लिबरमन के विधान का समर्थन किया है| सन २००७ के हमले के बारे में जानकारी उजागर करने पर जारी किए प्रतिबंध उठाना इस्रायल के शत्रु को इशारा है| ११ वर्ष पहले लिए साहसी निर्णय की वजह से सीरिया में परमाणु प्रकल्प नष्ट हुआ और इस्रायल के शत्रु को कड़ा संदेश मिला है| इस्रायल के अस्तित्व को खतरा पहुंचानेवाले ईरान जैसे देश के हाथ हम कभी भी परमाणु शस्त्र नहीं पड़ने देंगे, ऐसे आक्रामक शब्दों में कात्झने उजागर तौर पर ईरान को इशारा दिया है|

इस्रायल के रक्षा दल प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल गादी आइसनकोट ने सन २००७ वर्ष का हमला यह इस्रायल के हालही में हुए भविष्य के शत्रुओं को स्पष्ट संदेश है, ऐसा सूचित किया है| इस्रायल ने सीरियन परमाणु प्रकल्प पर किए हमले की जिम्मेदारी १० वर्ष बाद ली है, फिर भी अमरिका एवं पाश्चिमात्य प्रसार माध्यमों ने यह बात इससे पहले उजागर की थी| अमरिका के भूतपूर्व राष्ट्राध्यक्ष जॉर्ज बुश ने सन २०१० वर्ष में प्रसिद्ध किए आत्मचरित्र में सीरिया में की गई कार्रवाई के बारे इस्रायल के प्रधानमंत्री एहुद ओल्मर्ट से बात होने जानकारी दर्ज की है|

 

(Courtesy: www.newscast-pratyaksha.com)

leave a reply