Breaking News

राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प और प्रिंस मोहम्मद में महत्वपूर्ण चर्चा मीडिया के सामने तपशील बताना टाल दिया

वॉशिंग्टन: अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प और सऊदी के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की मुलाकात पूरी हुई| अल्पावधि में ही प्रिंस मोहम्मद अपने उत्तम मित्र बन गए हैं और सऊदी अरेबिया अमरिका का नजदीकी मित्र और अमरिकी हथियारों की खरीदारी करने वाला बड़ा देश बन गया है, ऐसा इस मुलाकात के बाद ट्रम्प ने कहा है| इस मुलाकात के बाद अमरिका और सऊदी के बीच रुके हुए हथियारों के अनुबंध तेजी से आगे बढ़ेंगे, ऐसा दावा किया जा रहा है| लेकिन इस मुलाकात में ट्रम्प और प्रिंस मोहम्मद के बीच हुई चर्चा का महत्वपूर्ण तपशील गुलदस्ते में ही रखा गया है|

वर्तमान में सऊदी अरेबिया के सर्वाधिकार प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के हाथों में हैं और वही सऊदी का ध्येय और नीति को को निश्चित कर रहे हैं| ३२ वर्ष के प्रिंस मोहम्मद ने येमेन पर हमले करने से लेकर सऊदी के भ्रष्टाचार के खिलाफ आक्रामक कार्रवाई हाथों में लेकर पूरी दुनिया को आश्चर्यचकित किया था| एक ही समय में इतने महत्वपूर्ण फैसले करने वाले प्रिंस मोहम्मद की इस अमरिका यात्रा पर जानकारों की विशेष नजर थी| राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने दस महीनों पहले सऊदी अरेबिया का दौरा किया था| इस मुलाकात में दोनों देशों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अनुबंध हुए थे| लेकिन यह अनुबंध आगे नहीं बढ़े थे| प्रिंस मोहम्मद के इस अमरिकी दौरे के बाद यह अनुबंध तेजी से आगे बढने वाले हैं, ऐसा कहा जा रहा है|

इसके अनुसार अमरिका सऊदी को ‘सी१३०’ यह बोझिल परिवहन करने वाले विमान, लष्करी वाहन, पनडुब्बी भेदी पोसायडन और हवाई सुरक्षा यंत्रणा की आपूर्ति करने वाला है| यह अनुबंध अमरिका के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है और इस वजह से अमरिका की अर्थव्यवस्था अधिक आगे बढ़ने वाली है| उसी समय येमेन, सीरिया और खाड़ी के अन्य देशों में सऊदी के ईरान के साथ प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष संघर्ष की पृष्ठभूमि पर सऊदी अरेबिया के लिए अमरिका की यह शस्त्र सहायता बहुत ही आवश्यक साबित होती है|

डोनाल्ड ट्रम्प और प्रिंस मोहम्मद के बीच चर्चा में ईरान का विषय मुख्य रूपसे चर्चा में रहेगा, ऐसा दावा मीडिया की तरफ से किया जा रहा था| लेकिन इस मामले में चर्चा का कोई भी तपशील सामने नहीं आया हैं| राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने प्रिंस मोहम्मद को अमरिका में निवेश करके अपनी संपत्ति का विस्तार करने के बारे में दी सलाह को ही अधिक प्रसिद्धि दी जा रही है| लेकिन प्रत्यक्ष में खाड़ी में संघर्ष भड़का है ऐसे में, और ईरान और सऊदी के बीच सीधा संघर्ष भडकने की संभावना है, ऐसे में राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प और प्रिंस मोहम्मद के बीच इस विषयपर चर्चा अपेक्षित है|

इस बारे में दोनों देशों ने जानकारी गुप्त रखी है| साथ ही अमरिका के इस दौरेसे पहले प्रिंस मोहम्मद ने एक न्यूज़ चैनल को दी मुलाकात में, ईरान ने परमाणु बम संपादन किया, तो सऊदी भी परमाणु बम विकसित करेगा, ऐसी धमकी दी थी| इस पृष्ठभूमि पर, प्रिंस मोहम्मद की इस मुलाकात का राजनीतिक और सामरिक महत्व कई गुना बढ़ गया है| लेकिन इस बारे में अधिक जानकारी मीडिया को नहीं दी गई है| लेकिन राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प के विशेष सलाहकार और जमाई जेराड कशनर के साथ प्रिंस मोहम्मद की मुलाकात में सबसे महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा होने के दावे अमरिकी की मीडिया में प्रसिद्ध हुए हैं|

 

(Courtesy: www.newscast-pratyaksha.com)

 

 

leave a reply