Breaking News

राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने रशियन राष्ट्राध्यक्ष पुतिन को इशारा दिया

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

वॉशिंग्टन: रशिया को अमरिका के साथ शस्त्र प्रतियोगिता चाहिए ही तो अमरिका उसके लिए तैयार है। लेकिन इन प्रतियोगता में अमरिका की ही जीत होगी, यह रशिया को ध्यान में रखना चाहिए, ऐसा कठोर इशारा अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने दिया है। रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमिर पुतिन के साथ फोनपर हुई चर्चा के दौरान यह इशारा दिया गया है, यह बात सामने आई है। अमरिका के एक निजी न्यूज़ चैनल ने यह खबर दी है।

पिछले हफ्ते रशिया में हुए राष्ट्राध्यक्ष पद के चुनाव में व्लादिमिर पुतिन वापस राष्ट्राध्यक्ष पद के लिए चुने गए हैं। इस जीत की मुबारक बात देने के लिए राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने पुतिन को फोन किया था। ट्रम्प के सलाहकारों ने रशियन राष्ट्राध्यक्ष को फोन न करें, ऐसा इशारा दिया था फिर भी ट्रम्प ने फोन करने की वजह से अमरिका में खलबली मची थी।

राष्ट्राध्यक्ष पुतिन

रशियन राष्ट्राध्यक्ष के साथ हुई चर्चा के बाद ट्रम्प ने ‘ट्वीट’ करके इस बारे में जानकारी दी थी। उसमें अमरीका-रशिया के संबंध में होने वाले सुधार अच्छी बात है ऐसा उल्लेख किया था। इसके पहले का अमरिकी नेतृत्व रशिया के साथ संबंध सुधारने में असफल साबित हुआ है और मुझे इसमें सफलता मिलेगी, ऐसा दावा राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने किया था। भविष्य में ट्रम्प ने पुतिन के साथ मुलाकात करने के संकेत भी दिए थे। उसी समय ट्रम्प ने नई शस्त्र प्रतियोगिता का भी उल्लेख किया है।

लेकिन अमरिकी न्यूज़ चैनल ने गुरुवार को अधिकारियों के बिना पर दी खबर में ट्रम्प ने पुतिन के साथ हुई चर्चा में ‘शस्त्र प्रतियोगिता ’ का उल्लेख करके अमरिका तैयार होने का इशारा दिया है। भविष्य में शस्त्र प्रतियोगिता भडकी तो अमरिका उसमे जीतेगा, ऐसा भी पुतिन को इशारा देने का दावा अधिकारियों ने किया है। पुतिन ने प्रचार के दौरान रशियन परमाणु और प्रगत हथियारों के बारे में दिए इशारों की वजह से राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प क्रोधित हो गए थे और इससे यह इशारा देने की खबर अमरिकी अधिकारियों के बिना पर दी गई है। अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ने ‘शस्त्र प्रतियोगिया’ के मुद्दे पर इशारा देने की खबर को रशिया ने नकारा है।

‘अन्य देशों की तुलना में रशियन मिसाइल सर्वाधिक दूरी के हैं और दुनिया का कोई भी देश इन मिसाइलों से सुरक्षित नहीं है। शत्रु की मिसाइल भेदी यंत्रणा भी रशियन मिसाइलों के आगे नाकाम साबित होंगे’, ऐसा इशारा रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमिर पुतिन ने इस महीने की शुरुआत में दिया था।

(Courtesy: www.newscast-pratyaksha.com)

leave a reply