Breaking News

संयुक्त राष्ट्रसंघ के नए रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के १३९ व्यक्ति एवं संघटना आतंकवादियों की सूची में

संयुक्त राष्ट्रसंघ, नए रिपोर्ट, पाकिस्तान, १३९ आतंकवादी, झटका, नई दिल्ली, अमरिकानई दिल्ली: हाफिज सईद के मिल्ली मुस्लिम लीग को (एम्एम्एल) इस राजनीतिक पक्ष को आतंकवादियों के सूची में डालकर अमरिका ने इस देश पर दबाव बनाया है। दूसरे दिन ही संयुक्त राष्ट्रसंघ के सुरक्षा परिषद में जारी हुई आतंकवादियों के नए सूची में दाऊद इब्राहिम एवं हाफिज सईद के साथ १३९ आतंकवादी एवं दहशतगर्द संगठनों का समावेश है। पाकिस्तान आतंकवादी देश ना होकर आतंकवाद का बलि ठहरने वाला देश है, ऐसे ढिंढोरा पीटने वाले पाकिस्तान को एक और झटका लगा है।

संयुक्त राष्ट्रसंघ, नए रिपोर्ट, पाकिस्तान, १३९ आतंकवादी, झटका, नई दिल्ली, अमरिकासंयुक्त राष्ट्रसंघ की सुरक्षा परिषद ने बुधवार को आतंकवादी संगठन और आतंकवादीयों की सूची तैयार की है। इसमें १३९ पाकिस्तानी आतंकवादी एवं आतंकवादी संगठन के नाम है। १९९३ के मुंबई बम विस्फोट के सूत्रधार दाऊद इब्राहिम, मुंबई पर आतंकी हमले का सूत्रधार हाफिज सईद एवं उसकी संगठन लष्कर-ए-तोयबा का नाम भी सूची में है। संयुक्त राष्ट्रसंघ के इस सूची में दाऊद के कराची के पते का समावेश है। दाऊद का कराची के नूराबाद में आलीशान बंगला होकर उसके पास अलग-अलग नाम के पासपोर्ट है। यह सभी पासपोर्ट पाकिस्तान ने जारी किए हैं, ऐसा भी सुरक्षा परिषद के रिपोर्ट में कहा गया है। इसकी वजह से पाकिस्तान की मदद से ही दाऊद इस देश में उजागर तौर पर घूमने की बात स्पष्ट हो रही है।

अलकायदा का प्रमुख अल जवाहिरी के साथ उसके साथियों के भी नाम इस सूची में है। इसकी वजह से पाकिस्तान को इस स्तर पर अपना बचाव करना लगभग असंभव बना हुआ है। पिछले कई महीनों से पाकिस्तान के आतंकवादी कार्यवाहियों की तरह अमरिका की नजर है और ट्रम्प प्रशासन इस बारे में पाकिस्तान पर निशाना साधने की एक बार अवसर नहीं छोड़ रहे हैं, ऐसे परिणाम दिखाई देने लगे हैं। एक ही दिन पहले हाफिज सईद के राजकीय पक्ष को आतंकवादियों की सूची में डालकर अमरिका ने पाकिस्तान को झटका दिया था। तथा लष्कर-ए-तोएबा आतंकी संगठन का चेहरा माने जाने वाले संगठन को भी आतंकवादियों की सूची में डालकर इस आतंकी संगठन ने कितने भी नाम बदल ले फिर भी अमरिका इस संगठन को दया नहीं दिखाएगी ऐसा सूचित किया है।

(Courtesy: www.newscast-pratyaksha.com)

leave a reply