Breaking News

ईरान के परमाणु समझौते से अमेरीका अलग हुआ; कठोर प्रतिबंध डालने का निर्णय

वॉशिंग्टन – आखिरकार अमेरीका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से पिछे हटने की घोषणा की| दुनिया में उलथपुलथ करनेवाली इस घोषणा के साथही राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने जल्दही ईरान के खिलाफ बेहद कठोर प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दी है| परमाणु समझौते के अनुसार राहत मिलने के बावजूद ईरान द्वारा एटमी बम बनाने की कोशिशें थमी नहीं थी| इसकारण अमेरीका इस परमाणु समझौते से अलग होने का फैसला ले रहा है, ऐसा राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने स्पष्ट किया

राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने इससे पहले हो चुके परमाणु समझौते की कड़ी अलोचना करते हुए इस समझौते का हेतू बिलकूल सफल नहीं हुआ, ऐसा इल्जाम रखा| परमाणु समझौते के द्वारा मिली राहत का इस्तेमाल करते हुए ईरान ने अपने एटमी कार्यक्रम को और भी गतिमान किया, ऐसा राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने कहा| इसकारण यह समझौता भीषण था और यह अमेरीकी जनता के लिए शर्मसार करनेवाली घटना थी, ऐसी आलोचना राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने की| यह परमाणु समझौता तोडते समय अमेरीका के राष्ट्राध्यक्ष ने ईरान के आतंकी साथही अमेरीका विरोधी कारनामों को दोहराया| ईरान ने अमेरीका के दूतावास साथही सैनिकी बेस पर हमले किए| ईरान ने अमेरीका के सैकड़ो सैनिकों को खत्म कर कईकों का अपहरण करते हुए उनपर अत्याचार किए थे, इसकी राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने याद दिलाई|

आतंकवाद के समर्थक ईरान ने खाड़ी देशों में संघर्ष भडकाया| हिजबुल्लाह, हमास, अल कायदा और तालिबान इन जैसे खतरनाक आतंकी संगठनों को ईरान ने घातक प्रक्षेपास्त्र देखील आपूर्ति की है| ऐसे देश पर लदे वित्तिय प्रतिबंध परमाणु समझौते के बाद निकाल दिए गए थे| ईरान ने इसका लाभ उठाया और उसके बाद ही सीरिया और यमन इन देशों में ईरान की खतरनाक गतिविधियॉं शुरू हो गई| इस कारण पश्‍चिमी देशों ने ईरान के साथ किया परमाणु समझौता इस देश को रोकने के लिए बल्कि विघातक कारनामों को उत्तेजना देनेवाला था, ऐसा दावा अमेरीका के राष्ट्राध्यक्ष ने किया|

कुछ दिनों पहले इस्रायल के राष्ट्राध्यक्ष बेंजामिन नेत्यान्याहू ने ईरान एटम बम तैयार कर रहा है, इसके सबूत दुनिया के सामने घोषित किए थे| राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने इसका भी संदर्भ दिया| इससे ईरान एटम बम तैयार नहीं कर रहा, यह साफ झूठ साबित हो चुका है, ऐसा ट्रम्प ने कहा| इसीलिए ईरान का परमाणु समझौता चालू रखना मतलब इस क्षेत्र में हथियारों की दौड़ को आमंत्रित करना ऐसा है| अमेरीका इस एटमी ब्लॅकमेल का शिकार नहीं होगा और अमेरीकी जनता के खिलाफ कोई भी हरकत सहन नहीं करेगा, ऐसी चेतावनी राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने दी|

राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने यह घोषणा करने के बाद ईरान पर कठोर प्रतिबंध लगाने के आदेशों पर हस्ताक्षर किए, जिससे ईरान से सहयोग रखनेवाले देशों को राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने कड़ी चेतावनी दी| इसके बड़े परीणाम आनेवाले समय में सामने आएंगे, जो अभी से दिखाई दे रहे है|

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info