Breaking News

सिरिया पर रशिया द्वारा दिए धमकी के पृष्ठभूमी पर ‘एफ-३५’ से लेस अमरिकी युद्धपोत आखात में दाखिल

रशिया द्वारा सीरियन तट पर ३० युद्धपोत का ताफा तैनात करके अमरिकी सेना के जगहों पर हमले करने की धमकी दी गयी थी| इसे उसी भाषा में जवाब दिया जा रहा है| अमरिकी हवाईदल के अतिप्रगत स्टेल्थ लडाकू विमान ‘एफ-३५बी’ द्वारा लेस युद्धपोत आखात में दाखिल हो चुका है| अस्साद हुकूमत द्वारा रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल हुआ तो सीरिया पर हमले चढाने के लिए अमरिकी विमान इस क्षेत्र में दाखिल हुए है, ऐसा दावा किया जाता है|

पिछले महीने में सीरिया में बसे बदलाव हुए है| रशिया द्वारा इदलिब में कार्रवाई तथा सीरियन सेना के सहायता के लिए ३० युद्धपोत और पनडुब्बियों का ताफा भूमध्य सागर के लिए रवाना किया गया है| साथ ही रशियन नौदल के मरिन्स ने कुछ दिन पहले सीरियन तट के नजदीक युद्ध अभ्यास भी किया था| पिछले कई दिनों से रशिया तथा सीरियन सेना ने ‘इदलिब’ पर हमले शुरु किये है| आनेवाले समय में रशिया यह हमले और भी तीव्र करेगी, ऐसी खबरें सामने आ रही है|

अमरिका की दो युद्धपोत और पनडुब्बियां भूमध्य सागर में सीरिया पर हमले के लिए पहले से ही तैनात है| इदलिब में सीरियन सेना ने रासायनिक हमला किया तो अमरिका और मित्रदेश अस्साद हुकूमत पर हमला चढाएंगे, ऐसी चेतावनी अमरिका ने दी थी| पर अमरिका ने अगर अस्साद हुकूमत पर हमला किया तो सीरिया में अमरिकी जगहों पर हमला चढाने की धमकी रशिया ने दी है| रशिया के विदेश मंत्रालय ने अधिकृत स्तर पर यह चेतावनी दी थी| रशिया के साथ ईरान ने भी अमरिका को धमकाया था|

इस धमकी के पृष्ठभूमी पर अमरिका ने ‘युएसएस एसेक्स’ यह सबसे तेज ऍम्फिबियस युद्धपोत सीरिया के लिए रवाना की है| ‘युएसएस एसेक्स’ युद्धपोत में करीब दो हजार मरिन्स, २० ‘एफ-३५बी’ स्टेल्थ लडाकू विमान, हॅरिअर लडाकू विमान, वायपर और ऑस्प्री हेलिकॉप्टर्स के ताफे के साथ सागरी क्षेत्र में दाखिल हुई है| इस वक्त यह युद्धपोत ‘सुएझ नहर’ में है| यहॉं के सागरी क्षेत्र से ‘युएसएस एसेक्स’ सीरिया के गतिविधियों पर ध्यान रखेगी, ऐसी जानकारी अमरिकी नौदल के अधिकारियों ने दी

इस्रायल के नजदीक सागरी क्षेत्र में तैनात ‘युएसएस एसेक्स’ पर तैनात ‘एफ-३५बी’ स्टेल्थ लडाकू विमान कुछ मिनटों में सीरिया पर हमले कर सकते है| साथ ही आवश्यकता निर्माण होने पर ‘युएसएस एसेक्स’ अन्य विमानवाहू युद्धपोत के तुलना में अधिक गति से सीरियन सागरी क्षेत्र में दाखिल हो सकती है, ऐसा दावा अमरिकी अधिकारी कर रहे है| इसलिए इस वक्त ‘युएसएस एसेक्स’ सुएझ नहर से तो टॉमाहॉक प्रक्षेपास्त्र से लेस अमरिकी नौसेना की दो युद्धपोत पहले से ही भूमध्य सागर में तैनात है| इस से अमरिका ने दोनो बाजूओं से सीरिया पर हमले की पूरी तैय्यारी की है, ऐसा साफ दिखाई देता है|

इसी बीच, अस्साद हुकूमत पर हमले करते हुए रशिया द्वारा संघर्ष ना हो, इसलिए रशियन यंत्रणाओं के संपर्क में रहेंगे, ऐसा अमरिका ने कहा है| पर अमरिका ने अस्साद हुकूमत पर हमले किये तो गंभीर परिणाम हो सकते है, ऐसा रशिया ने साफ किया है| साथ ही इस बार में किसी भी प्रकार की सुलह नही होगी, ऐसा संदेश भी दिया है| इसलिए आनेवाले समय में सीरिया में क्या होगा, इसका अंदाजा लगाना दिनबदिन और भी कठीन होता जा रहा है|

English मराठी

 

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info