Breaking News

सीरिया के इदलिब और अलेप्पो में जारी संघर्ष के कारण ८ लाख लोग हुए विस्थापित – संयुक्त राष्ट्रसंघ का दावा

दमास्कस, दि. १५ (वृत्तसंस्था) – सीरिया के इदलिब प्रांत समेत अलेप्पो में सीरियन सरकार और रशिया के आक्रामक हमलें जारी है| सीरिया और रशिया की यह लष्करी कार्रवाई लगभग ढाई महीनों से भी अधिक समय से शुरू है और इस कारण लाख से भी अधिक लोक विस्थापित होने का दावा संयुक्त राष्ट्रसंघ ने किया है| इसी बीच, पिछले चार दिनों में सीरियन बागियों ने इदलिब में सीरियन सरकार के दो लष्करी हेलिकाप्टर्स गिराने का दावा भी किया है|

सीरिया के इदलिब में राष्ट्राध्यक्ष अस्साद की हुकूमत के विरोध में लड रहे आतंकी संगठनों के अड्डे है| इन गुटों की तुर्की से सहायता प्राप्त हो रही है और उनकी सहायता के लिए तुकी ने अपनी सेना को भी तैनात करने की बात समझी जा रही है| पर, अस्साद हुकूमत और उसे समर्थन दे रही रशिया के लिए इदलिब एवं अलेप्पो निर्णायक मुकाम समझा जा रहा है| इस वजह से इदलिब और अलेप्पो पर कब्जा करने के लिए सीरियन सरकार और रशिया ने दिसंबर महीने से आक्रामक लष्करी मुहीम शुरू की है|

सीरिया और रशिया की इस मुहीम में पिछले ढाई महीनों में सैकडों आतंकी मारे गए है और बडे क्षेत्र पर कब्जा किया गया है| पर, इससे इस क्षेत्र की सीरियन जनता को काफी बडा झटका लगने की बात सामने रही है| सीरिया और रशिया ने तुर्की समर्थक आतंकी गुटों के विरोध में शुरू रखी मुहीम की वजह से अबतक यहां के आठ लाख स्थानिय लोग विस्थापित हुए है|

पिछले चार दिनों में एक लाख से भी अधिक लोग विस्थापित होने की जानकारी संयुक्त राष्ट्रसंघ ने सार्वजनिक की है| इन विस्थापित लोगों की वजह से सीरिया नए मानवी आपत्ति के दहलिज पर खडा होने का इशारा भी संयुक्त राष्ट्रसंघ दे रहा है| इस क्षेत्र में अनाज, दंवाईयां और अन्य जरूरी सामान की किल्लत बनी है और सहायता पहुंचाने में कठिनाई होने की बात भी स्पष्ट हुई है|

सीरियन हुकूमत और रशिया अभी इदलिब में जारी अपनी इस कार्रवाई पर ज्यादा कुछ बोलने के लिए तैयार नही है| इसके लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर से भी कडी आलोचना हो रही है और ऐसे में भी सीरियन हुकूमत ने और रशिया ने इस ओर पुरी तरह से अनदेखा किया है| इसके साथ ही इन दोनों ने अपनी कार्रवाई जारी रखी हुई दिख रही है| इस मामले में तुर्की ने रशिया पर कडे आरोप रखे है और इससे रशिया और तुर्की के बीच तीव्र मतभेद होने की बात सामने रही है| कुछ दिन पहले ही अस्साद हुकूमत ने इदलिब में हो रहे नरसंहार को रशिया का समर्थन होने का आरोप तुर्की के राष्ट्राध्यक्ष रेसेप एर्दोगन ने किया था|

 

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info