Breaking News

‘दुनियाभर के लोग तृतीय विश्‍वयुद्ध के लिए तैयार रहें’ : ‘ऍनॉनिमस’ की चेतावनी

न्यूयॉर्क, दि. १०: दुनियाभर के लोग तृतीय विश्‍वयुद्ध का सामना करने के लिए तैयार रहें, ऐसी चेतावनी ‘ऍनॉनिमस’ इस आंतर्राष्ट्रीय हॅकर्स के गुट ने दी है| फिलहाल विश्‍व में घटित हो रहीं घटनाओं का, ख़ासकर कोरियन क्षेत्र के विस्फोटक हालातों का उदाहरण देते हुए ‘ऍनॉनिमस’ ने, ‘किसी भी समय तृतीय विश्‍वयुद्ध का भड़क सकता है’ ऐसा दावा किया| ‘तृतीय विश्‍वयुद्ध अधिक संहारक, क्रूर और तेज रफ्तार से आगे बढ़नेवाला होगा| इसका वैश्‍विक पर्यावरण और अर्थकारण पर ध्वसंक असर होगा’ ऐसा कहते हुए ‘ऍनॉनिमस’ ने दुनियाभर के लोगों को इसके लिए तैयार रहने की सलाह दी है|

एक वीडियो के अनुसार ऍनॉनिमस ने दुनिया के लोगों को संबोधित करते हुए तृतीय विश्‍वयुद्ध के वास्तविकता का एहसास कराने की कोशिश की है| कोरियन क्षेत्र की स्थिति विस्फोटक हुई होकर, सभी देश युद्ध के लिए तैयार हुए हैं| अमरीका, रशिया, चीन ये महासत्ताएँ जंग में उतरने के लिए तैयारी कर रहीं होकर, अन्य देशों को भी इस विश्‍वयुद्ध में अपना पक्ष चुनना ज़रूरी हो जायेंगा, ऐसा दावा ‘ऍनॉनिमस’ ने किया| उत्तर कोरिया के ख़तरों के खिलाफ दक्षिण कोरिया और अमरीका ने तैयारी की है| आठ हज़ार किलोमीटर की पहुँच होनेवाले ‘मिन्युटेमन ३’ इस आंतरमहाद्वीप प्रक्षेपास्त्र का परीक्षण कर अमरीका ने अपनी तैयारी दिखा दी है, इसका उल्लेख ‘ऍनॉनिमस’ ने किया|

चीन ने उत्तर कोरिया से अपने सभी लोगों को जल्द से जल्द अपने देश में वापस आने के आदेश दिये हैं| तो जापान ने भी परमाणुजंग से हमें बचाने के लिए लोगों को सूचना दी है| परमाणु हमले से सिर्फ दस मिनिट पहले पूर्वसूचना देने के बाद मजबूत मकान में आश्रय लेने की सूचना जापान ने अपने देश को दी है| ऑस्ट्रेलिया ने अपने उत्तर की ओर के इलाके में अमरीकन सैनिकों की तैनाती बढ़ाते हुए अपने लड़ाकू विमान तैयार रखे हैं| तृतीय विश्‍वयुद्ध भड़क उठेगा, यह ध्यान में लेते हुए यह सारी गतिविधियॉं की जा रही हैं, ऐसे ‘ऍनॉनिमस’ ने स्पष्ट किया|

जापान ने दूसरे विश्‍वयुद्ध के बाद अपनी बचावात्मक लष्करी नीति में बदलाव करते हुए सन २०२० तक स्वतंत्र सेना बनाने की तैयारी शुरू की है| वहीं, अमरीका ने यदि हमपर हमला किया, तो हम जापान को ‘टार्गेट’ करेंगे, क्योंकि जापान में भी अमरिकी सेना का अड्डा है, ऐसा उत्तर कोरीया ने धमकाया है| इसी कारण जापान अपनी रक्षा के लिए कोरियन क्षेत्र का तनाव कम करने के लिए कोशिश करें, ऐसे उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया ने ज़ोर देकर कहा था, इसका उदाहरण ‘ऍनॉनिमस’ ने दिया है| यह माहौल चीन के लिए बहुत ही चिंताजनक बना होकर, चीन कोरियन क्षेत्र का तनाव कम करने के लिए कोशिश कर रहा है| क्योंकि चीन को इस क्षेत्र में परमाणु युद्ध नहीं चाहिए और यदि यह युद्ध भड़क उठा, तो उनके विघातक आर्थिक नतीजे होंगे और चीन इससे कई साल पिछड़ जायेगा, ऐसा डर इस देश को लग रहा है| कोरियन क्षेत्र कें युद्ध के कारण अपनी सीमा में शरणार्थी घुसपैंठ करेंगे, इसकी चिंता चीन को लगी है| यह टालने के लिए चीन कोशिश कर रहा है| अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जाँग से भेंट करना हमारे लिए सम्मान की बात साबित होगी, ऐसे कुछ दिन पहले कहा था| लेकिन अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष के बयानों के बाद, व्हाईट हाऊस के प्रवक्ता ने चर्चा की संभावना को ख़ारिज करनेवाले बयान दिये थे, इसकी याद भी ऍनॉनिमस ने कराके दी|

ऍनॉनिमस के बारे में
‘वी आर ऍनॉनिमस. वी आर अ लीजन. वी डू नॉट फरगिव्ह, वी डू नॉट फरगेट, एक्स्पेक्ट अस’ इन बयानों में अपने बारे में कहनेवाले ‘ऍनॉनिमस’ की ‘आंतर्राष्ट्रीय हॅकर्स का गुट’ ऐसी पहचान है| इंटरनेट की स्वतंत्रता, मानवाधिकार, जानकारी का हक इसके लिए हम आंतर्राष्ट्रीय स्तर पर संघर्ष कर रहे हैं, ऐसा ‘ऍनॉनिमस’ द्वारा कहा जाता है| इसके बीच आनेवालों को सबक सिखाने के लिए ‘ऍनॉनिमस’ ने सायबर हमले करके गुप्त जानकारी दुनिया में प्रकशित की थी| कुछ देशों की सरकारों और बड़ी कंपनियों को ऍनॉनिमस ने लक्ष्य किया था|

ऍनॉनिमस की घोषणा हर बार ‘गाय फॉक्स’ इस ब्रिटिश क्रान्तिवादी के चेहरे का इस्तेमाल करते हुए की जाती है| चार सौ साल पहले ब्रिटन की सांसद उड़ाने की कोशिश करनेवाले ‘गाय फॉक्स’ का चेहरा सन २००५ में प्रदर्शित हुए हॉलिवूड के ‘व्ही फॉर वँडेटा’ इस फिल्म में दिखाया गया था| यह सूरत ‘ऍनॉनिमस’ का चेहरा बन गयी है| दुनिया में खलबली मचानेवाले सायबर हमलें और गुप्त जानकारी खुले करनेवाले इस गुट के संदर्भ में जानकारी और विवरण अब तक दुनिया के सामने नहीं आये हैं| लेकिन ‘ऍनॉनिमस’ का नेतृत्व किसी एक के पास नहीं है, ऐसे दावे किये जाते हैं|

(Courtesy: www.newscast-pratyaksha.com)

leave a reply