Breaking News

चीन से अंतरराष्ट्रीय सागरी क्षेत्र की सुरक्षा को खतरा- अमरिका के पैसिफिक कमांड प्रमुख का इशारा

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

वाशिंगटन: ‘ईस्ट और साउथ चाइना सी’ में चीन की कार्रवाई रचनात्मक है| चीन अपनी लष्करी एवं आर्थिक सामर्थ्य का उपयोग करके स्वतंत्र होने वाले अंतराष्ट्रीय सागरी क्षेत्र को नष्ट कर रहा है, ऐसा इशारा अमरिका के पैसेफिक कमांड के प्रमुख एडमिरल हैरी हैरिस ने दिया है| साथ ही चीन का बढ़ता लष्करी सामर्थ्य अमरिका को हर क्षेत्र में चुनौती दे सकता हैं ऐसा कहकर भविष्य में चीन के साथ संघर्ष में अमरिका के पैसिफिक कमांड पर बढ़ा तनाव होगा ऐसा दावा हैरिस कर रहे है|

अमरिकन कॉंग्रेस के ‘आर्मड् सर्विसेस कमेटी’ के समक्ष बोलते हुए एडमिरल हैरिस ने आशिया प्रशांत क्षेत्र मे शुरू चीन की गतिविधिया खतरनाक होने की बात स्पष्ट की है| चीन अपने स्वार्थ के लिए आशियां प्रशांत क्षेत्र में अस्थिरता मचा रहा है| इसके लिए चीन अपने पड़ोसी देशों पर प्रगत लष्कर और बलशाली वित्त व्यवस्था द्वारा वर्चस्व दिखा रहा है, ऐसा आरोप हैरिसने जडे है| २ वर्षों पहले अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने साउथ चाइना सी के बारे में चीन के विरोध में निर्णय दिया था| पर चीन ने यह निर्णय नजरअंदाज करके साउथ चाइना सी में अपनी गतिविधियां अधिक बढ़ाई है, इसका दाखिला एडमिरल हैरीस ने दिया है|

ईस्ट और साउथ चाइना सी पर वर्चस्व स्थापित करने का अवसर चीन साध रहा है, ऐसा कई लोगों को लगता है| पर मुझे ऐसा नहीं लगता| दोनों सागरी क्षेत्र में चीन ने हर गतिविधि को विचारपूर्वक और व्यूहरचना के बलबुते से अंजाम दिया है| अपनी लष्करी एवं आर्थिक सामर्थ्य का उपयोग करके चीन और खुले अंतरराष्ट्रीय सागर क्षेत्र को नष्ट कर रहा है, ऐसा कहकर हैरिस ने चीन का खतरा रेखांकित किया है| उसके साथ साउथ चाइना सी में कृत्रिम द्वीप का लष्करीकरण करके चीन सागर क्षेत्र पर सार्वभौम अधिकार प्रस्तावित करने का प्रयत्न कर रहा है, ऐसी टीका एडमिरल हैरीस ने उस समय की है|

तथा चीन का उद्देश्य अत्यंत स्पष्ट होकर चीन अपने लष्करी सामर्थ्य मे कर रही बढ़त अमरिका को प्रत्येक क्षेत्र में चुनौती देने वाली हो सकती है, ऐसा दावा पैसेफिक कमांड प्रमुख ने दिया है| उसके लिए चीन की मिसाइल यंत्रणा, पांचवी वी श्रेणी के लड़ाकू विमानों का सामर्थ्य और चीन के नौदल का पूरा विस्तार इसकी याद एडमिरल हैरीस ने दिलाई है| अफ्रीका के उत्तर में जिबौती के चीन में निर्माण किए पहला नौदल तल का दाखिला एडमिरल हैरिस ने उस समय दिया है|

इससे व्यतिरिक्त हाइपरसोनिक मिसाइल, अंतरिक्ष और साइबर क्षेत्र में प्रगति तथा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में चीन बड़ा निवेश कर रहा है| अमरिका ने अगर चीन के इस गति का विचार करके अपनी तैयारी नहीं की, तो भविष्य में चीन के साथ युद्ध में पैसेफिक कमांड को जीतने के लिए कड़े प्रयत्न करने होंगे, ऐसा इशारा हैरिस ने कॉंग्रेस के सामने बोलते हुए दिया है| चीन से बढ़ते हुए संकट का सामना करना है तो अमरिका को तैवान को शस्त्र बेचने होंगे| इसकी वजह से तैवान के शस्त्र सामर्थ्य में बढ़त हो सकती है और इस क्षेत्र में चीन के लिए नई चुनौतियां तैयार हो सकती है, ऐसा हैरिसने आगे सुझाया है|

दौरान फरवरी महीने में अमरिकन सीनेट के सामने बोलते हुए एडमिरल हैरीस ने चीन के बढ़ते लष्करी सामर्थ्य पर चिंता व्यक्त की थी| चीन का लष्करी सामर्थ्य आशिया प्रशांत क्षेत्र में अमरिका के वर्चस्व को चुनौती देगा| आने वाले वर्ष में अमरिका का इस क्षेत्र में बना वर्चस्व खत्म हो सकता है, ऐसा एडमिरल हैरीस से सूचित किया था|

 

(Courtesy: www.newscast-pratyaksha.com)

अमरिका के लष्करी संकेतस्थल पर चीन के हैकर्स का हमला

अमरिका के रक्षा क्षेत्र से संबंधित संकेत स्थल पर हुए साइबर हमले के लिए चीन के हैकर्स जिम्मेदार होने की जानकारी सामने आ रही हैं| साउथ चाइना सी मामले में अमरिका की बढ़ती आक्रमकता का निषेध करने के लिए चीनी हैकर्स ने यह साइबर हमला किया है, ऐसा दावा साइबर सुरक्षा कंपनी फायरआय ने किया है|

चीनी हैकर्स के टेम्प इस गटने अमरिका के लष्करी तथा अभियांत्रिकी क्षेत्र से संबंधित संकेतस्थल पर साइबर हमले किया है, ऐसा आरोप फायरआय ने जडा है| अमरिका के साउथ चाइना सी से संबंधित लष्कर के संकेत स्थल को इन हैकर्स ने लक्ष्य किया है| इस संकेतस्थल से साउथ चाइना सी संबंधित जानकारी की चोरी करने का प्रयत्न इन हैकर्स ने किया है| चीनी हैकर्स साउथ चाइना सी में अमरिका के हस्तक्षेप को विरोध करने के लिए साइबर हमले कर रहे है, ऐसा दावा किया जा रहा है|

 

leave a reply