Breaking News

सीरिया में इस्रायली विमानों पर हमला हुआ तो इस्रायल रशिया के ‘एस-३००’ नष्ट करेगा – इस्रायल के रक्षा मंत्री की रशिया को धमकी

तेल अविव – ‘इस्रायल के रशिया से अच्छे संबंध है। लेकिन अगर सीरिया में इस्रायल के लड़ाकू विमानों पर हमले किए गए, तो फिर रशिया की ‘एस-३००’ हो या ‘एस-७००’ हो, किसी की भी फिक्र ना करते हुए इस्रायल इन रक्षा प्रणालीओं को नष्ट करेगा’, ऐसी धमकी इस्रायल ने दी। इस्रायल के रक्षा मंत्री ‘एविग्दोर लिबरमन’ ने एक समाचार एजन्सी को दी मुलाकात में यह चेतावनी देते हुए इस्रायल के तैयारी की अनुभूति दी है। सीरियन सेना और सीरिया में ईरान के बसे की सुरक्षा के लिए रशिया ने अगुवाई की तो रशिया से भीड़ने की क्षमता इस्रायल के पास है, ऐसा ‘संदेश’ इस्रायल के रक्षा मंत्री के चेतावनी से मिला है।

रशिया की ‘एस-३००’ यह हवाई सुरक्षा प्रणाली पहले से ही तैनात है। लेकिन इनका इस्तेमाल रशियन द्वारा ही किया जाता है। अब तक रशिया ने सीरियन सेना और ईरान को इनका इस्तेमाल नहीं करने दिया। इस कारण आज तक यह प्रणाली इस्रायल के खिलाफ नहीं चलाई गई, ऐसी जानकारी रक्षा मंत्री लिबरमन ने दी। लेकिन रशिया से इस्रायल के अच्छे संबंध रहने के बावजदू आने वाले समय में इस्रायल के लड़ाकू विमानों पर सीरिया में हमले हुए, तो फिर इस्रायल रशिया की इन हवाई रक्षा प्रणालीयों को ध्वस्त करे बगैर नहीं रहेगा, ऐसा कहते हुए रक्षा मंत्री लिबरमन ने इस्रायल की योजना स्पष्ट की।

नौ दिन पहले इस्रायल ने सीरिया के होम्स में ‘टी४’ बेस पर हमला करते हुए ईरान के सात सेना सलाहकारों को मार गिराया था। इससे पहले फरवरी महीने में सीरिया में घुसकर किए हवाई हमलों में इस्रायल को अपना ‘एफ-१६’ विमान गवाना पड़ा था। इस विमान को गिराने का दावा सीरियन सेना ने किया था। लेकिन इसके पिछे ‘एस-३००’ यह रशियन प्रणाली थी, ऐसा दावा किया जता है। इस पृष्ठभूमी पर इस्रायल के रक्षा मंत्री लिबरमन ने किया दावा मतलब रशिया को दी हुई चेतावनी दी, ऐसा दिखाई दे रहा है।

किसी भी स्थिती में इस्रायल ईराण को सीरिया में अपना सैनिकी बेस नहीं बनाने देगा, ऐसा लिबरमन ने इस मुलाकात में कहा। इसीलिए आनेवाले सयम में इस्रायल सीरियन सेना के साथ सीरिया में ईरान के बेस को भी निशाना बनाता रहेगा, ऐसे स्पष्ट संकेत लिबरमन ने दिए। इस कार्रवाई के आड़े रशिया की प्रणाली आती है तो इस्रायल रशिया के प्रणालीयों पर हमले करेगा, ऐसा रक्षा मंत्री लिबरमन ने स्पष्ट रुप से बता रहे है। मुख्यत: से इसके लिए रशिया से संघर्ष करने की हिम्मद इस्रायल के पास है, ऐसी समझ रक्षा मंत्री लिबरमन ने दी। इस संघर्ष के लिए इस्रायल तैयार है, ऐसा संदेश इस्रायली रक्षा मंत्री अपने मुलाकात में दे रहे है।

इससे पहले इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू ने रशिया को तीन बार भेंट देते हुए सीरिया में चल रहीं ईरान के सैनिकी कारनामों पर चिंता जताई थी। रशिया ने इन कारनामों पर आँखे बंद करते हुए इस्रायल की सुरक्षा का खतरा ना बढ़ाए, ऐसा आवाहन इस्रायल के प्रधानमंत्री ने किया था। उसको रशिया द्वारा अनुकूल जवाब नहीं मिला था। इस कारण समय आने पर इस्रायल अपनी सुरक्षा के लिए रशिया की भी पर्वा नहीं करेगा, ऐसी अंतिम चेतावनी इस्रायल के प्रधानमंत्री ने दी थी। रक्षा मंत्री लिबरमन ने इससे आगे जाते हुए इस्रायल रशिया से भिड़ने से पिछे नहीं हटेगा, ऐसा बताते हुए कम शब्दों में इस्रायल की तैयारी पूरी हो चुकी ऐसा धमकाया है।

सीरिया में रशिया के हवाई अड्डे पर हमले की कोशिश नाकाम

सीरिया के खेमिम में रशिया के हवाई अड्डे के पास अज्ञात चीजों को रशियन प्रणालीयों ने हवा में ही मार गिराई है। रशियन सेना ने इस बारे में जानकारी उजागर की। यह अज्ञात चीज मतलब लड़ाकू विमान था, ड्रोन था की प्रक्षेपास्त्र थे। यह अब तक स्पष्ट नहीं हो सका है। यह चीज आकार से छोटी थी, इतनाही रशियन सेना ने कहा है।

२४ अप्रेल को यह घटना घटी है। लेकिन इस विषय पर अधिक रोशनी डालने वाली जानकारी एक वेबसाईट पर सामने आई है। रशियन एजन्सीयों को अज्ञात दिखने वाली यह चीज मतलब आतंकीयों के ड्रोन्स थे, ऐसा इस वेबसाईट ने कहा है। वहीं अन्य मीडिया में आई खबरों में भी ये रॉकेटस थी, ऐसा दावा किया गया है। १ जनवरी को खेमिम के रशियन हवाई अड्डे पर आतंकियों ने ड्रोन हमले करने की खबर आई थी। लेकिन रशिया ने यह खबर को झुठला दिया था।

 

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info/status/989438808843268096
https://www.facebook.com/WW3Info/posts/387137441694746