Breaking News

‘साऊथ चायना सी’ में युद्धपोत भेजकर ब्रिटन ने चीन का सहयोग खतरें में डाला – चीन के विदेश मंत्रालय की चेतावनी

बीजिंग – ‘साऊथ चायना सी’ की सीमा में युद्धपोत भेजते हुए ब्रिटन ने बड़ी गलती की, ऐसी चेतावनी चीन ने दी है| ‘यूरोपीय महासंघ से ब्रिटन के ‘एक्झिट’ के बाद चीन से मुक्त व्यापार समझौता करने की कोशिशों को ‘साऊथ चायना सी’ की गश्ती से झटका बैठ सकता है| इसलिए ब्रिटन ने समय रहते अपनी गलती सुधारे’, ऐसी धमकी चीन के विदेश मंत्रालय ने दी| ब्रिटन का सबसे बडा व्यापारी सहयोगी देश के बतौर चीन सामने आ रहा है| इसलिए चीन द्वारा ब्रिटन को दिए गए चेतावनी की गंभीरता बढ़ती है|

पिछले सप्ताह ब्रिटन के नौसेना के ऍम्फिबियस युद्धपोत ‘एचएमएस ऍल्बियॉन’ ने ‘साऊथ चायना सी’ से सफर किया था| ब्रिटन के रॉयल मरीन्स को ले चली युद्धपोत ने इस समुद्री क्षेत्र के ‘पॅरासेल’ द्वीपों की सीमा के पास से सफर किया था| ‘साऊथ चायना सी’ से ब्रिटिश युद्धपोत ने किए सफर पर चीन ने आलोचना की थी| इस संपूर्ण समुद्री क्षेत्र पर अपना अधिकार है, ऐसा कहते हुए ब्रिटन ने अनुमती के बिना चीन के समुद्री क्षेत्र में युद्धपोत रवाना करते हुए उकसाया है, ऐसी आलोचना चीन के विदेश मंत्रालय ने की थी| साथही ‘साऊथ चायना सी’ में ब्रिटन की गश्ती ये आंतर्राष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन होने का आरोप किया था|

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ‘हुआ चुनयिंग’ ने इन आरोपों को कुछ घंटे नही होते वही ब्रिटन को कडी चेतावनी दी| ‘चीन समेत सहयोग का सुवर्णयूग स्थापित करने की घोषणा करनेवाले ब्रिटन ने चीन से सहयोग का उल्लंघन किया है| ब्रिटन की इस कार्रवाई का सीधा नतीजा दोनों देशों के बीच के संबंधों पर जरूर होगा’, ऐसी चेतावनी चुनयिंग ने दी| साथही ब्रिटन ने चीन समेत सहयोग के गंभीरता को पहचानते हुए समय रहते अपनी गलती सूधारे, ऐसी धमकी देते हुए दोनों देशों के बीच व्यापारी सहयोग का एहसास दिलाया|

चीनी माध्यमों के जरीए चुनयिंग ने ये चेतावनी देने के बाद अगले कुछ घंटों में चीन के मुखपत्र ने ब्रिटन पर कडी आलोचना की| साथही ब्रिटन चीन के सहयोग को भूल चुका है, ऐसा आरोप किया| आने वाले महीनों में ब्रिटन यूरोपीय महासंघ से बाहर निकलनेवाला है| इस ‘ब्रेक्झिट’ के बाद ब्रिटन की अर्थव्यवस्था पर तनाव ना बढ़े इसलिए चीन ने ब्रिटन समेत मुक्त व्यापार करने की घोषणा की थी| इससे ब्रिटन की अर्थव्यवस्था को काफी फायदा होना था, ऐसा दावा चीन के राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग ने किया था|

 

ऐसा होते हुए भी ब्रिटन ने ‘साऊथ चायना सी’ में युद्धपोत भेजते हुए चीन समेत व्यापारी सहयोग का भविष्य खतरे में डालने की धमकी चीन के माध्यमों ने दी| चीन ने ‘साऊथ चायना सी’ के पूरे समुद्री क्षेत्र पर अधिकार जताया है| साथही चीन की अनूमती के बिना इस समुद्री क्षेत्र से विदेशी जहाजों को प्रवेश नही, ऐसी धमकी भी चीन दे रहा है| पिछले कुछ सप्ताहों से इस समुद्री क्षेत्र से प्रवास करनेवाले जहाज साथही विमानों को चीन की नौसेना से धमकीयॉं मिल रही है| इससे इस समुद्री क्षेत्र से होने वाले तीन ट्रिलियन डॉलर्स के व्यापार की सुरक्षा पर सवाल खडे किए जा रहे है|

English मराठी

 

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info