Breaking News

ब्रेक्जिट की पृष्ठभूमि पर प्रधानमंत्री जॉन्सन ने किया ब्रिटेन की संसद स्थगित करने का निर्णय

लंदन – ब्रिटेन यूरोपिय महासंघ से बाहर निकलने के लिए सीर्फ दो महिने शेष बचे है और ऐसे में प्रधानमंत्री बोरिस जॉन्सन ने संसद स्थगित करने का ऐलान किया है| प्रधानमंत्री जॉन्सन के इस निर्णय को ब्रिटेन के शाही परिवार की प्रमुख ‘क्विन एलिजाबेथ’ ने मंजूरी दी है| इसके अनुसार ९ सितंबर से १२ अक्तुबर के दौरान ब्रिटेन की संसद की कार्यवाही नही होगी| प्रधानमंत्री जॉन्सन ने किए इस निर्णय पर सियासी दायरे में बडी सनसनी मची है और ब्रिटीश चलन पौंड और शेअर बाजार में बडी गिरावट हुई है|

जुलाई महीने में प्रधानमंत्री पद का जिम्मा स्वीकारने के बाद जॉन्सन ने किसी भी स्थिति में ३१ अक्तुबर तक ब्रिटेन महासंघ से बाहर निकलेगा, यह ऐलान किया था| इसके बाद प्रधानमंत्री जॉन्सन ने अपने सहयोगीयों समेत इसी मुद्दे पर ध्यान केंद्रीत किया है और ‘नो डील ब्रेक्जिट’ ही महासंघ से बाहर निकलने के लिए सबसे अच्छा विकल्प रहेगा, यह ऐलान भी किया है| लेकिन, पिछले कुछ दिनों में किसी भी स्थिति में ‘नो डील’ के साथ महासंघ से बाहर निकलने की स्थिति का ब्रिटेन को सामना ना करना पडे इसलिए जॉन्सन के विरोधकों ने?आक्रामकता से गतिविधियां शुरू की है|

संसद में ‘ब्रेक्जिट’ के मुद्दे पर वोट लेकर जॉन्सन को पराभूत करना और उनके विरोध में अविश्‍वास प्रस्ताव रखने के साथ अन्य कई विकल्प सामने आ रहे है| फिलहाल जॉन्सन की सरकार संसद में महज एक मत से बहुमत बनाकर है| इसका लाभ उठाकर विपक्षी नेता जॉन्सन के पक्षांतर्गत विरोधकों से हाथ मिला रहे है और ‘नो डील’ और प्रधानमंत्री जॉन्सन को रोकने के लिए अत्यधिक विकल्प का स्वीकार करने का इशारा दे रहे है| इस पृष्ठभूमि पर जॉन्सन ने संसद स्थगित करने का किया निर्णय सियासी विरोधकों को करारा झटका देनेवाला साबित हुआ है|

प्रधानमंत्री जॉन्सन ने ब्रिटेन की महारानी को दिए प्रस्ताव के नुसार ९ सितंबर से १२ अक्तुबर के दौरान संसद की कार्यवाही बंद रहेगी| इसके बाद १४ अक्तुबर के रोज ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ के भाषण के साथ संसद के नए सत्र की शुरूआत होगी| ब्रिटीश संविधान के अनुसार महारानी के भाषण से पहले कुछ दिन संसद को छुट्टी देने की परंपरा है फिर भी इस बार प्रधानमंत्री जॉन्स ने करीबन एक महीने से भी अधिक समय तक संसद स्थगित करने के लिए प्राप्त की हुई अनुमति विवाद में फंसी है| जॉन्सन ने किया यह निर्णय यानी जनतंत्र के विरोध में बगावत है और प्रधानमंत्री जॉन्सन तानाशाह है, ऐसी जहरिली आलोचना उनके राजनयिक विरोधक कर रहे है|

प्रधानमंत्री जॉन्सन के निर्णय की गुंज ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में भी सुनाई दे रही है| ब्रिटीश चलन ‘स्टर्लिंग पौंड’ की कुछ घंटे में ही एक प्रतिशत से भी अधिक गिरावट हुई है| ब्रिटेन के शेअर बाजार में भी गिरावट शुरू हुई है और निवेशकों को बडा झटका लगने के संकेत प्राप्त हो रहे है| ‘ब्रेक्जिट’ का विरोध कर रहे सियासी दल एवं गुट जॉन्सन ने किए निर्णय के विरोध में रास्ते पर उतरें है और देश के कोने कोने में बडे प्रदर्शन शुरू हुए है|

इसी बीच अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने ब्रिटीश प्रधानमंत्री ने किए निर्णय का स्वागत किया है और जॉन्सन ब्रिटेन के लिए उचित नेतृत्व है, ऐसी प्रशंसा भी उन्होंने की है| ऐसे में यूरोपिय महासंघ ने कडी आलोचना की है और जॉन्सन का निर्णय बडा भयंकर होने की बात आलोचना में कही है|

English     मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info