Breaking News

वर्ष २००२-०३ के ‘सार्स’ की तुलना में ‘वुहान कोरोना व्हायरस’ की बिमारी अधिक खतरनाक

बीजिंग – चीन में पिछले एक महीने से भी अधिक समय से फैर रही ‘वुहान कोरोना व्हायरस’ की बिमारी से अबतक ८१३ लोगों की मौत हुई है| इनमें से ८११ लोग सीर्फ चीन में ही जान से गए है| शनिवार के दिन मात्र २४ घंटों में इस बिमारी ने ८९ नए मरीजों को अपनी चपेट में लिया है| इसके साथ ही दुनिया भर में ‘वुहान कोरोना व्हायरस’ ने चपेट में लिए नागरिकों की संख्या ३७ हजार से भी अधिक हुई है| इन आंकडों के साथ ही वर्ष २००२-०३ में परेशानी का कारण बनी ‘सार्स’ की बिमारी को भी ‘वुहान कोरोना व्हायरस’ ने पीछे छोडा है| ‘सार्स’ के कारण दुनियाभर में ७७४ लोगों की मौत हुई थी| इसी बीच चीन की यंत्रणा ने ‘वुहान कोरोना व्हायरस’ लोगों को तीन अलग अलग तरीके से अपनी चपेट में लेने का दावा किया है|

‘वुहान कोरोना व्हायरस’, बिमारी से मुकाबला, सार्स, बिमारी, नीधि प्रदान, चीन, मलेशियाचीन में वर्ष २००२ में ‘सीव्हिअर एक्युट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम’ (सार्स) की बिमारी का फैलाव हुआ था| लगभग नौ महीनों में यह बिमारी २० से भी अधिक देशों में फैल चुकी थी| ‘कोरोना व्हायरस’ जैसे ही विषाणु से फैले ‘सार्स’ की चपेट में आने से ७७४ लोगों की मौत हुई थी| इस बिमारी को नियंत्रण में रखने के लिए चीन ने गलत कदम उठाए थे, ऐसी आलोचना भी दुनियाभर में हुई थी| इसी पृष्ठभूमि पर ‘वुहान कोरोना व्हायरस’ की बिमारी और भी अधिक खतरनाक और बडे दायरे की साबित हुई है|

‘वुहान कोरोना व्हायरस’ की बिमारी फैलने का असर अंतरराष्ट्रीय उद्योग और अर्थव्यवस्था पर भी होता दिखाई देने लगा है| एशियाई देशों में अमरिका और यूरोप के उद्योग क्षेत्र को चीन में फैली इस बिमारी से नुकसान होना शुरू हुआ है| सबसे बडा झटका पर्यटन क्षेत्र को लगने की बात कही जा रही है| अमरिका समेत यूरोप और एशियाई देशों में चीन के पर्यटकों ने की हुई बुकिंग रद्द की है| इससे हो रहा नुकसान अरबों डालर्स तक जा पहुंचने की संभावना विश्‍लेषकों ने व्यक्त की है|

‘वुहान कोरोना व्हायरस’, बिमारी से मुकाबला, सार्स, बिमारी, नीधि प्रदान, चीन, मलेशियाचीन को दुनिया की फैक्टरी कहा जाता है और पिछले कुछ वर्षों में इलेक्ट्रॉनिक, धातू और दंवाईयों के उद्योग का चीन उत्पाद केंद्र बना है| ‘वुहान कोरोना व्हायरस’ के फैलने से चीन ने अपने कई शहर ‘लॉकडाउन’ किए है और इससे कई बडे कारखाना और उद्योग भी बंद रखे गए है| इसका असर अन्य देशों के कारोबार पर होना शुरू हुआ है और चीन से हो रही आयात लगभग बंद होने का डर जताया जा रहा है| अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने चीन को कारखाना शुरू करने के लिए प्राथमिकता देने का निवेदन करने की बात भी सामने आयी है|

पर, चीन ने ‘वुहान कोरोना व्हायरस’ पर नियंत्रण प्राप्त होने तक शहरों के साथ ही कारखाना और स्कूल बंद रखने के निदेश जारी किए है| चीन में स्थित अधिकांश कारखाना फरवरी के अंत तक बंद रहेंगे, यह कहा जा रहा है| साथ ही चीन की सरकार ने ‘वुहान कोरोना व्हायरस’ की बिमारी से मुकाबला करने के लिए अतिरिक्त १० अरब डालर्स का नीधि प्रदान करने की जानकारी सामने आयी है|

इसी बीच, मलेशिया ने चीन से पहुंच रहे यात्रियों पर ‘ट्रैव्हल बैन’ का दायरा बढाने का ऐलान किया है| इस हफ्ते में सिंगापूर में शुरू हो रहे अंतरराष्ट्रीय हवाई प्रदर्शनी से लगभग ७० कंपनियां पीछे हटने की बात भी सामने आयी है|

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info