राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने अमरिका में चीन की पूरी आयात पर कर लगाया

वॉशिंगटन – अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने अमरिका में चीन से हो रही पूरी आयात पर कर लगाने का ऐलान किया है| चीन और चीन के राष्ट्राध्यक्ष आश्‍वासन का पालन नही कर रहे है और इसी कारण यह कर लगाया जा रहा है, यह कहकर ट्रम्प ने नए करों का समर्थन किया| अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ने दी जानकारी के नुसार १ सितंबर से अमरिका में चीन से आयात होनेवाले ३०० अरब डॉलर्स के सामान पर १० प्रतिशत कर लगाया जाएगा| ट्रम्प ने इससे पहले ही अमरिका में पहुंच रहे चीन के २५० अरब डॉलर्स के सामान पर २५ प्रतिशत पर कर लगाया है|

अमरिका-चीन व्यापार युद्ध पर हल निकालने के लिए इस सप्ताह के दौरान चीन में दो दिनों की बैठक का आयोजन किया गया था| इस बैठक में किसी भी प्रकार का हल निकला नही है और अमरिका का शिष्टमंडल वापिस लौट आया है| इस शिष्टमंडल से चीन में हुई बैठक की जानकारी प्राप्त करने के बाद राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने चीन के विरोध में दुबारा आक्रामक रवैया स्वीकारने की बात सामने आई है| शुक्रवार के दिन सोशल मीडिया पर किए ट्विट से ट्रम्प ने चीन के विरोध में अपनी नाराजगी उजागर तौर पर व्यक्त की|

‘अमरिकी शिष्टमंडल ने भविष्य में व्यापारी समझौते के लिए चीन के साथ हाल ही में बातचीत की| तीन महीने पहले अमरिका और चीन में व्यापारी समझौता हुआ था| लेकिन, चीनने हस्ताक्षर करने से पहले वापसी करके फिर से बातचीत शुरू की| साथ ही चीन ने अमरिका से बडी मात्रा में कृषि उत्पाद आयात करने की बात स्वीकारी थी| लेकिन, असल में ऐसा कुछ हुआ नही’, इन शब्दों में चीन अपने वचनों से पीछे हटा है, यह आरोप ट्रम्प ने किया|

इस दौरान ट्रम्प ने चीन के राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग को भी लक्ष्य किया| जिनपिंग अपने मित्र है और उन्होंने अमरिका में ‘फेन्टाईल’ की ब्रिक्री ना करने की बात कही थी, यह दावा भी अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ने किया| लेकिन, चीन के राष्ट्राध्यक्ष ने अपना वचन निभाया नही और इससे कई अमरिकी नागिरकों की जान जा रही है, इस पर ट्रम्प ने नाराजगी व्यक्त की| चीन और राष्ट्राध्यक्ष जिनपिंग पर आरोप कर रहे अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ने आगे चीन के साथ व्यापारी बातचीत जारी रहेगी, यह कहते हुए अमरिका चीन के उत्पादों पर नए कर लगाने का ऐलान किया|

पिछले वर्ष अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन के विरोध में व्यापार युद्ध शुरू करते समय ५० अरब डॉलर्स की आयात पर कर लगाया था| इसके बाद २०० अरब डॉलर्स के चीन के उत्पादों पर शुरू में १० प्रतिशत एवं बाद में २५ प्रतिशत कर लगाकर ट्रम्प ने यह व्यापारयुद्ध और भी तेज किया| इसी दौरान चीन ने प्रत्युत्तर देते समय अमरिका से चीन में आयात हो रहे ११० अरब डॉलर्स के सामान पर कर लगाया था| अमरिका-चीन व्यापार में अमरिका से हो रही आयात ५०० अरब डॉलर्स से अधिक है और ट्रम्प के नए वक्तव्य के बाद इस पूरे आयातपर कर लगाया गया है|

इस दौरान अमरिका के विदेशमंत्री माईक पोम्पिओ ने बैंकॉक में एक बैठक में चीन की व्यापारी निती पर कडी आलोचना की| ‘चीन उनके रक्षावादी एवं दुसरों को निगलने की व्यापारी निती में सुधार करते नही तबतक एशियाई देश चीन से सहयोग ना करें’, यह इशारा भी पोम्पिओ ने दिया|

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info