Breaking News

इस्रायल और हिजबुल्लाह युद्ध में ईरान शामिल होगा- अमरिका के गुप्तचर यंत्रणा के अधिकारी का दावा

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

वॉशिंगटन: इस्रायल और हिजबुल्लाह में युद्ध हुआ, तो वह युद्ध उन दोनों तक मर्यादित नहीं रहेगा| ईरान इस युद्ध में खींचा जाएगा और वैसा हुआ तो युद्ध की व्याप्ति कई गुना बढ़ेगी, ऐसी चिंता अमरिका की गुप्तचर यंत्रणा के वरिष्ठ अधिकारी डेविड कैटलर ने व्यक्त की है| इस्रायल के नेता हिजबुल्लाह संघटना को खत्म करने की धमकियां दे रहे हैं तथा हिजबुल्लाह के प्रमुख नेता इस्रायल के सर्वनाश की घोषणा उजागर तौर पर कर रहे हैं, ऐसी परिस्थिति में कैटलर ने चिंता व्यक्त करके युद्ध की व्याप्ति भयंकर होगी, ऐसा एहसास दिलाया है|

अमरिका के राष्ट्रीय गुप्तचर यंत्रणा के ‘नियर ईस्ट’ विभाग के व्यवस्थापक होनेवाले कैटलर ने एक अभ्यास गट से बोलते हुए पश्चिम खाड़ी में बनी परिस्थिति पर चिंता व्यक्त की है| इस क्षेत्र में युद्धजनक परिस्थिति निर्माण होने का दावा कैटलर ने किया है| इस्रायल और हिजबुल्लाह में युद्ध वास्तविकता बनने की बात कैटलर ने कही है| इस्रायल और लेबनॉन में युद्ध हुआ तो ईरान उसमें उतरेगा और उसके बाद इस युद्ध में लिव्हंट भी (लिव्हंट भूमध्य समुद्र के पास होने वाले लेबनॉन, सीरिया, सऊदी अरेबिया, जॉर्डन, इजिप्त, इराक और पेलेस्टाइन का बड़ा भूभाग) खींचा जाएगा| इस्रायल समर्थन के लिए अमरिका और मित्र देश इस युद्ध में शामिल होंगे, ऐसा इशारा कैटलर ने दिया है| इसकी वजह से इस्रायल और हिजबुल्लाह संघर्ष खाड़ी तथा पाश्चिमात्य देशों को भी खींच सकता है, ऐसी चिंता कैटलर ने व्यक्त की है|

पिछले कई महीनों से इस्रायल और हिजबुल्लाह में तनाव बढ़ता दिखाई दे रहा है| सीरिया में संघर्ष की आड़ हिजबुल्लाह को मिल रही सरकारी सहायता, गोलान पहाड़ियों की सीमा के पास हिजबुल्लाह एवं ईरान की लष्करी जमाव, लेबनॉन के दक्षिणी सीमा के पास हिजबुल्लाह के शस्त्रास्त्र के भंडार और भूमध्य समुद्र में हिजबुल्लाह का इंधन उत्खनन इसकी वजह से इस्रायल एवं हिजबुल्लाह में संघर्ष की आशंका जताई जा रही है| इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू रक्षामंत्री एवीग्दोर लिबरमन ने हिजबुल्लाह पर हमले करने की चेतावनी दी है| इस्रायल की इस आक्रमकता का अमरिक ाने भी समर्थन किया है|

उसके बाद हिजबुल्लाह के प्रमुख हसन नसरल्ला ने इस्रायल के विनाश की घोषणा की थी| अपने मिसाइल इस्रायल के दिमोना परमाणु प्रकल्प, हैफा शहर और तेल अवीव को राख कर देंगे, ऐसी धमकी नसरल्ला ने दी थी| साथ ही इस्रायल विरोधी संघर्ष के लिए लेबनॉन का लष्कर तैयार रहें, ऐसा आवाहन हिजबुल्लाह के प्रमुख ने किया था| इसके साथ लेबनॉन की सीमा पर हिजबुल्लाह ने लगभग ५००० मिसाइल जमा करने की खबरें प्रसिद्ध हुई थी| हिजबुल्लाह के एक कमांडर ने यह जानकारी दी थी| उसके बाद इस्रायल एवं अमरिका ने हिजबुल्लाह के विरोध में अधिक आक्रामक भूमिका का स्वीकार किया था|

२ दिनों पहले हिजबुल्लाह के दूसरे क्रमांक का नेता ‘शेख नईम कासेम ने अमरिका एवं इस्रायल को धमकाया था| अमरिका एवं इस्रायल ने लेबनॉन पर हमला किया, तो दोनों देशों को हिजबुल्लाह से जोरदार प्रति उत्तर मिलेगा, ऐसी धमकी कासेम ने दी थी| अमरिका और इस्रायल लेबनॉन पर प्रतिबंध डालकर हमले करने की तैयारी कर रहे है| पर हिजबुल्लाह उनके मार्ग में बाधा होने का दावा कासेम ने किया है|

 

(Courtesy: www.newscast-pratyaksha.com)

leave a reply