Breaking News

सौदी अरेबिया द्वारा येमेन में भारी हवाई हमले – ५० से ज्यादा हौती विद्रोही की मौत

सना – सौदी अरेबिया ने उसपर प्रक्षेपास्त्र डागनेवाले येमेन के हौती विद्रोहियों पर भारी हवाई हमले किये है। इस में ५० से भी ज्यादा विद्रोहियों की मौत हुई है। इस हवाई हमले में सौदी के साथ अरब देशों का भी सहभाग था। पिछले १० दिन में सौदी और सौदी के मित्रदेशों ने मिलकर येमेन में किया हुआ यह तिसरा बडा हवाई हमला है।

येमेन के हौती विद्रोहियों ने शुक्रवार को सौदी अरेबिया के जझान में आठ प्रक्षेपास्त्र डागे थे। उस में से चार प्रक्षेपास्त्रों को रोकने में सौदी के यंत्रणाओं को सफलता मिली थी। हौती विद्रोहियों के हमले पर तत्काल जवाब देते हुए सौदी ने राजधानी सना पर जोरदार हवाई हमले किये।

इस हवाई हमलों में उत्तर सना स्थित रक्षा मंत्रालय तथा अन्य सरकारी कार्यालय के ईमारत को लक्ष्य बनाया गया। सौदी और सहयोगी अरब देशों के इन हमलों मे ५० से भी ज्यादा हौती विद्रोहियों की मौत हुई। इन में विद्रोहियों के दोन बडे कमांडर्स शामिल है। हौती विद्रोहियों द्वारा हवाई हमलों की पुष्टी की गयी है लेकिन मरनेवालों की संख्या स्पष्ट नही की गयी है।

सौदी के इन हमलों के बाद शनिवार को हौती विद्रोहियों ने राजधानी सना में जोरदार सामर्थ्य का प्रदर्शन किया । १९ अप्रैल को सौदी द्वारा किये गये हवाई हमलों में हौती विद्रोहियों के वरिष्ठ नेता सालेह अल-समद की मौत हुई थी। उनकी अंतिम यात्रा शनिवार को निकाली गयी थी। इस समय हजारों की संख्या में हौती विद्रोही शस्त्रों के साथ शामिल हुए थे। इस समय कई हौती नेताओं ने समद के मौत के लिए सौदी और अमरिका को जिम्मेदार ठहराते हुए, इसके लिए उनको कीमत चुकानी पडेगी, ऐसी चेतावनी भी दी।

येमेन के हौती विद्रोहियों को ईरान का समर्थन है और सौदी अरेबिया ने उसके खिलाफ काफी आक्रामक भूमिका ली है। पिछले कई दिनों से सौदी द्वारा येमेन में हो रहे हमलें काफी तीव्र हो चुके है। राजधानी सना के साथ ही हजाह प्रांत को भी निशाना बनाया गया है। १९ अप्रैल को सौदी द्वारा सना पर हवाई हमले चढाए गये थे। उसके बाद २२ अप्रैल को हजाह में हमला किया गया। अब फिर एक बार राजधानी सना पर हमले करते हुए सौदी ने ईरान को एक प्रकार से चेतावनी दी है, ऐसे दिखाई दे रहा है।

साल २०१५ से येमेन में गृहयुद्ध शुरू है। पिछले तीन साल से सौदी सहयोगी अरब देशों के साथ संघर्ष में शामिल हो चुका है। इस संघर्ष में अभी तक दस हजार से ज्यादा येमेनी लोगों की मौत हो चुकी है, ऐसी चिंता संयुक्त राष्ट्रसंघ ने जतायी है।

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info/posts/388238464917977