Breaking News

इथिओपिया जे वांशिक संघर्ष के कारण १० लाख से अधिक नागरिक विस्थापित – संयुक्त राष्ट्रसंघ का अहवाल

आदिस अबाबा – अफ्रिका के इथिओपिया में पिछले तीन महिनों से चल रहे वांशिक संघर्ष के कारण अक्षरशः १२ लाख नागरिकों पर बेघर होने की नौबत आ गई है। ऐसी जानकारी संयुक्त राष्ट्रसंघ ने दी। जून महिने में संघर्ष की तीव्रता बढ जाने से बिलकुल आठ लाख लोगों को बेघर होना पडा, साथ ही इस संख्या के बढने का भय भी बरकरार है।

इथिओपियाइथिओपिया के दक्षिण भाग के ‘गेडेओ’ एवं ‘वेस्ट गुजी’ नामक प्रांतों में इथिओपिअन सोमाली एवं अन्य वंशो के नागरिकों में जमीन एवं अन्य स्त्रोतों के कारण भी यह संघर्ष भडक उठा है। इस संघर्ष के कारण फरवरी महिने में इथिओपिआ के तत्कालीन प्रधानमंत्री ‘हेलेमरिअम देसालेग्न’ को मजबूरन राजीनामा देना पडा था। इसके पश्चात अप्रैल महिने में ‘अ‍ॅबि अहमद’ ने प्रधानमंत्री पद की जिम्मेदारी संभाल ली थी। मात्र उन्हें भी वार्षिक संघर्ष पर नियंत्रण करने में सफलता नहीं मिली। नये अहवाल के अनुसार यह बात स्पष्ट हुई है।

अप्रैल महिने से ही शुरु हो चुके इस संघर्ष में अनेकों की जानें भी गई, साथ ही दिनों-दिन लोगों के बेघर होने की संख्या बढती ही चली जा रही है। सरकार की तरफ से की जा रही कोशिशों के बावजूद भी इस संघर्ष को टालने में उसे असफलता ही हाथ लगी। इसी कारण दक्षिण इथोपिया में लश्कर तैनात की गई है। फिर भी हिंसाचार में किसी भी प्रकार की कमी नही आई है। यह बात संयुक्त राष्ट्रसंघ के विवरण द्वारा स्पष्ट है।

इथिओपिया – अफ्रिका खंड का द्वितीय क्रमांक पर आनेवाला काफी बडा देश है जिसकी अपनी एक अलग ही पहचान है।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info