Breaking News

अगले महीने अमेरीका ईरान पर हमला करेगा – ऑस्ट्रेलियन समाचार एजन्सी का दावा

कॅनबेरा – अमेरीका ने ईरान पर हमले की तैयारी कर ली है जिसका फैसला भी अमेरीका ने कर लिया है। इस अनुसार अगले महीने में अमेरीका ईरान के एटमी प्रकल्पों पर हमला करेगा, ऐसा दावा ऑस्ट्रेलिया की समाचार एजन्सी ने किया है। ऑस्ट्रेलिया के अधिकारी ने प्रधानमंत्री टर्नबूल का हवाला देते हुए ये जानकारी दी, ऐसा इस समाचार एजन्सी ने कहा है। साथही ईरान पर हमले के लिए ऑस्ट्रेलिया भी अमेरीका को सहायता करेगी, ऐसा इस एजन्सी ने कहा है।ईरान पर कठोर कार्रवाई की धमकी देने वाले अमेरीका के राष्ट्राध्यक्ष ने चार दिन पहले ईरान से समझौता होने के संकेत दिए थे। इसके बाद ऑस्ट्रेलियन समाचार एजन्सी ने जारी की इस खबर में ईरान ने समझौते का प्रस्ताव लथाडा तो क्या हो सकता है, इसका अहसास कराया है।

ऑस्ट्रेलियन समाचार एजन्सी, दावा, टर्नबूल, एटमी प्रकल्प, अमेरीका, हमला, ईरान, ब्रिटनअमेरीका ने ईरान के विवादास्पद परमाणू कार्यक्रम से संबंधित ठिकानों पर हमले की पूरी तैयारी की है। राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प के एक इशारे पर अमेरीका ईरान पर हमला कर सकता है। ऐसा हुआ तो उसके नतीजे खाड़ी देशों में देखने को मिलेंगे, ऐसी चेतावनी ऑस्ट्रेलियन अधिकारी ने दी। ऑस्ट्रेलिया अमेरीका को ईरान पर हमले के सहायता करेगा, ऐसा इस अधिकारी ने कहा, ऐसी जानकारी समाचार एजन्सी ने दी।

ऑस्ट्रेलिया इसके लिए अपने उत्तरी छोर के ‘पाईन गॅप’ का खुफिया एजन्सी का बेस इस्तेमाल कर सकता है। इस बेस से ऑस्ट्रेलियन खुफिया एजन्सी ईरान के एटमी प्रकल्प और सैनिकी बेस की जानकारी अमेरीका के जासूसी उपग्रहों को दे सकता है। ऑस्ट्रेलिया के समान ब्रिटन भी ईरान के खिलाफ हमलों के लिए ऐसीही सहायता करेगा। ईरान पर हमले के लिए ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटन अमेरीका के साथ सीधा शामिल नहीं होगा, ऐसा इस अधिकारी ने स्पष्ट किया।

ऑस्ट्रेलियन समाचार एजन्सी, दावा, टर्नबूल, एटमी प्रकल्प, अमेरीका, हमला, ईरान, ब्रिटनइस अधिकारी ने ऑस्ट्रेलियन प्रधानमंत्री का हवाला देते हुए ये जानकारी दी है, लेकिन प्रधानमंत्री टर्नबूल ने इस खबर को झुठला दिया। ‘राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने ईरान के बारे में अपनी नीति स्पष्ट की है। लेकिन अमेरीका ईरान पर हमला करेगा, ऐसा नहीं दिखाई देता’ ऐसी प्रतिक्रिया टर्नबूल ने दी। वहीं ईरान इस क्षेत्र में शांति और स्थिरता स्थापित करने के लिए कोशिश करे, ऐसा आवाहन ऑस्ट्रेलियन विदेश मंत्री जुली बिश ने किया।

दौरान, अमेरीका के राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने ईरान के परमाणू समझौते पर आक्रामक नीति अपनाई है। दो महीनों पहले ईरान के परमाणू समझौते से पिछे हटकर राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने ईरान पर कठोर प्रतिबंध लगाए थे। साथही ईरान ने अमेरीका की मॉंगे पूरी नहीं की तो इतिहास में किसी ने भी अनूभव नहीं किए, ऐसे नतीजों का सामना करना पडेगा, ऐसी धमकी अमेरीका ने दी है। लेकिन ट्रम्प ने अभी तक ईरान के खिलाफ सैनिकी कार्रवाई के संकेत नहीं दिए थे।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info