Breaking News

दो सौ अरब डॉलर्स की चीनी आयात पर कर बढ़ाकर अमरिका चीन के खिलाफ व्यापार युद्ध तीव्र करेगा

वॉशिंग्टन – चीन के साथ भड़के व्यापार युद्ध से पीछे न हटते हुए अमरिका ने इस युद्ध को अधिक तीव्र करने की तैयारी की है। २०० अरब डॉलर्स के चीन की आयात पर लगभग २५ प्रतिशत कर लगाने का निर्णय अमरिका जल्द ही घोषित करने वाला है। ट्रम्प प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर मीडिया ने इस मामले की जानकारी प्रसिद्ध की है। इस निर्णय से चीन को जबरदस्त नुकसान होने वाला है और चीन की अर्थव्यवस्था पर दबाव बढ़ने वाला है।

चीनी आयात, व्यापार युद्ध, अमरिकन किसान, चीन विरोधी नीति, चीन, प्रत्युत्तर, वॉशिंग्टन, अर्थशास्त्री डेव्हिड ब्राउनपिछले हफ्ते में ही राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने चीन अमरिकन किसानों को मोहरा बना रहा है, ऐसा कहकर इस पर नाराज़गी जताई थी। ट्रम्प के आलोचक भी उनकी चीन विरोधी नीति की वजह से अमरिकन किसानों का नुकसान होने का इलजा़म लगा रहे हैं। इसका उत्तर देते हुए ट्रम्प ने चीन के इन दांवपेचों पर हमला किया और उसे जबरदस्त प्रत्युत्तर दिया जाएगा, ऐसे संकेत दिए थे। सन २०१७ में चीन ने अमरिका के साथ किए व्यापार में लगभग ५१७ अरब डॉलर्स की कमाई की थी, इसकी याद भी ट्रम्प ने पिछले हफ्ते अपने सोशल मीडिया के माध्यम से दिलाई थी।

इसके बाद अब ट्रम्प प्रशासन ने चीन की लगभग २०० अरब डॉलर्स की अमरिका में होने वाली निर्यात पर २५ प्रतिशत कर लगाने की तैयारी की है। जल्द ही इसकी घोषणा हो सकती है। पहले से ही ट्रम्प प्रशासन ने चीन के २०० अरब डॉलर्स की आयात पर १० प्रतिशत कर लगाया था। ३४ अरब डॉलर्स के चीनी उत्पादनों की आयात पर ट्रम्प प्रशासन ने २५ प्रतिशत आयात कर लगाया था। इसकी व्याप्ति बढ़ाकर २०० अरब डॉलर्स की चीनी आयात को मोहरा बनाकर ट्रम्प प्रशासन चीन की अर्थव्यवस्था को सबसे बड़ा झटका देने वाला है।

अमरिका और चीन के बीच इन दिनों व्यापार युद्ध शुरू हैं। इस व्यापार युद्ध में अमरिका चीन के आगे निकल रहा है चीन की अर्थव्यवस्था पर आया हुआ दबाव यही दिखा रहा है, ऐसा दावा अर्थशास्त्री कर रहे हैं। ऊपरी तौर पर चीन भले ही कितने भी दावे कर रहा हो, फिर भी चीन के राज्यकर्ता ट्रम्प द्वारा शुरू किए गए व्यापार युद्ध से परेशान होने के स्पष्ट संकेत मिल रहे हैं। अर्थशास्त्री डेव्हिड ब्राउन ने इस व्यापार युद्ध में अमरिका जीत रहा है, ऐसा दावा किया था।

चीन की अर्थव्यवस्था निर्यात प्रधान है और निर्यात पर परिणाम हुआ तो उसका नुकसान चीन को होने ही वाला है, ऐसा तर्क ब्राउन ने प्रस्तुत किया है। इस वजह से चीन के साथ के इस युद्ध में अमरिकन पूंजीवादियों का नुकसान होने वाला है, फिर भी अमरिकन अर्थव्यवस्था को इसका बड़ा लाभ मिल सकता है। इसका प्रमाण देकर ट्रम्प अमरिका के साथ आज तक चीन द्वारा द्विपक्षीय व्यापार में अमरिका को लूटने की  बात का अहसास लगातार अमरिकन जनता को करवा रहे हैं।

अमरिका द्वारा चीनी उत्पादों पर आयात कर बढ़ाने के बाद, चीन की तरफ से भी उसे प्रत्युत्तर दिया जा सकता है। इसकी तैयारी भी ट्रम्प प्रशासन ने पहले से ही की है। इस वजह से वर्तमान में अमरिका और चीन के बीच भड़के व्यापार युद्ध का अंत होने की संभावना नहीं है और इसी वजह से दोनों देशों के बीच के संबंध काफी हद तक बिगड़ने की संभावनाएं भी बढ़ गईं हैं।

मराठी  English

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info