Breaking News

अमरीका समेत बढ़ते तनाव के पृष्ठशभूमी पर – रशिया के बॉम्बर्स विमान व्हेनेझूएला में दाखिल

मॉस्को/वॉशिंग्टन – सीरिया का संघर्ष, यूक्रेन का विवाद और नॉर्डस्ट्रिम गॅसपाईपलाईन के कारण जहॉं अमरीका और रशिया में तनाव बढ़ रहा है, वहीं रशिया के दो बॉम्बर्स विमान व्हेनेझूएला में दाखिल हुए है। इन बॉम्बर्स विमानों की तैनाती से व्हेनेझूएला की सुरक्षा के लिए हम तैयारी कर रहे है, ऐसा दावा रशिया ने किया। वहीं रशियन बॉम्बर्स व्हेनेझूएला में दाखिल हो रहे थे ऐसे में अमरीकी वायू सेना ने नेवाडा में दुश्मनों के इलाकों में सेना उतारने का अभ्यास किया।

अमरीकी राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने रशिया से तनाव कम करने के लिए रशियन राष्ट्राध्यक्ष से बातचित की तैयारी दर्शायी थी। अर्जेंटिना में ‘जी-२०’ की बैठक में ये बातचित संभव थी। लेकिन इसके पहलेही रशिया ने ‘सी ऑफ ऍझोव्ह’ में यूक्रेन की नौकाओं को कब्जे में लिया। रशिया की इस कार्रवाई पर आलोचना करते हुए ट्रम्प ने पूतिन से मुलाकात नहीं हो सकती, ऐसा स्पष्ट किया। सीरिया, यूक्रेन में रशिया की चल रहीं इन आक्रामक गतिविधियों पर अमरीका द्वारा आलोचना हो रही थी, वहीं सोमवार रशियन वायू सेना के विमान व्हेनेझूएला के ‘बोलिव्हर’ हवाईअड्डे पर दाखिल हुए।

रशिया के दो सूपरसोनिक ‘टू-१६०’ बॉम्बर विमान साथही रशियन सेना के ‘ऍन-१२४’ और ‘आयएल-६२’ ये यातायात विमान भी व्हेनेझूएला में दाखिल हुए। रशियन बॉम्बर्स ने नॉर्वे का समंदर, अटलांटिक महासागर और कॅरेबियन समंदर ऐसा दस हजार किलोमीटर दूरी की यात्रा की। व्हेनेझूएला के वायू सेना समेत हवाई अभ्यास में शामिल होने के लिए रशियन विमान दाखिल हुए, ऐसा रशिया ने कहा। लेकिन इस हवाई अभ्यास के द्वारा व्हेनेझूएला को सुरक्षा के बारे में आश्‍वस्त करने के लिए रशियन विमान यहा दाखिल हुई, ऐसा रक्षा मंत्री व्लादिमिर लोपेझ ने कहा।

रशियन बॉम्बर्स विमानों के व्हेनेझूएला में हुई तैनाती पर अमरीका के विदेश मंत्री माईक पॉम्पिओ ने ऐतराज जताया है। ‘इस हवाई अभ्यास के जरिए दो भ्रष्ट देश अपनी जनता का पैसा और अपनी जनता की स्वतंत्रता छिन रहे है’, ऐसी आलोचना पॉम्पिओ ने की। रशियन सरकार के प्रवक्ता दिमित्रि पेस्कोव्ह ने अमरीका का ये आरोप ठूकराया।

दौरान, अमरीका के ‘सी-१७ ग्लोबमास्टर थ्री’ और ‘सी-१३० हक्यूलिस’ इन सैनिकी विमानों के काफिले ने नेवाडा राज्य में बडा युद्धाभ्यास किया। ‘जॉईंट फोर्सिबल एन्ट्री’ ये इस युद्धाभ्यास का नाम है, जिसमें करीब दस विमान शामिल हुए थे। युद्ध के समय जवानों को दुश्मन के इलाके में उतारना और उसके आगे की सैनिकी कार्रवाई का अभ्यास यहॉं किया गया। ये वार्षिक युद्धाअभ्यास होने का दावा अमरीका कर रहा है। लेकिन रशिया के बॉम्बर्स विमान व्हेनेझूएला में दाखिल हो रहे थे तभी अमरीकी विमानों का ये अभ्यास अलगही संकेत देनेवाले है।

English     मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info