Breaking News

केनिया में हुआ आतंकी हमला यह ट्रम्प इनके ‘जेरूसलम’ के निर्णय पर प्रतिक्रिया – ‘अल शबाब’ का दावा

नैरोबी – केनिया की राजधानी नैरोबी के होटल पर हुआ हमला यह अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प इनके जेरूसलम संबंधी किए निर्णय को दिया प्रत्युत्तर था, यह दावा ‘अल शबाब’ इस आतंकी संगठन ने किया है। मंगलवार के दिन ‘अल शबाब’ ने नैरोबी में ‘ड्युसिटडी२’ इस होटल पर आतंकी हमला किया था। इस हमले में हमलावर के साथ कुल २१ लोगों की मृत्यु हुई थी। इस हमले से ‘अल शबाब’ यह आतंकी संगठन अफ्रीका में अपना दायरा बढा रही है, यह फिर से स्पष्ट हुआ है।

मंगलवार की शाम ‘अल शबाब’ ने किए आतंकी हमले में अमरिका और ब्रिटेन के नागरिकों के साथ कुल २१ लोग मारे जाने की जानकारी सामने आ रही है। इस में ‘अल शबाब’ के पांच आतंकियों का भी समावेश है। मंगलवार की शाम अल शबाब के आतंकियों ने दो बम विस्फोट करके होटल ‘ड्युसिटडी२’ में प्रवेश किया था। उसके बाद एक हमलावर ने आत्मघाती विस्फोट कराया और इसके बाद अन्य आतंकियों ने ‘एके-४७’ से गोलीबारी शुरू की।

कई घंटों की मुठभेड के बाद केनियन सुरक्षा यंत्रणा ने होटल में आतंकियों को खतम किया और पर्यटक एवं कर्मचारियों को होटल के बाहर निकालने में सफलता प्राप्त की। उसके बाद होटल की आवार से हथियार और कुछ बम जब्त किए गए, ऐसी जानकारी स्थानिय यंत्रणा ने दी। इस आतंकी हमले के बाद केनियन यंत्रणा ने राजधानी नैरोबी के साथ नजदिकी क्षेत्र में आक्रामक मुहीम शुरू की है और पिछले २४ घंटों में हमले से जुडे नौ संदिग्धों को गिरफ्तार किया है, यह कहा जा रहा है।

अमरिका, युरोप के अलवा अफ्रीकी सुरक्षा यंत्रणा और लष्कर पिछले दशक से ‘अल शबाब’ के विरोध में मुहिम चला रहे है। लेकिन ‘अल शबाब’ के सैंकडों आतंकियों को ढेर करने के बाद भी इस संगठन का सामर्थ्य बढता रहता है, यह पिछले कुछ वर्षों में लगातार दिखाई दिया है। सोमालिया में जनतंत्रवादी सरकार के विरोध में संघर्ष करने के उद्देश्य से गठित की गई इस आतंकी संगठन ने केनिया के साथ ही अन्य अफ्रीकी देशों में भी बडे आतंकी हमले किए है।

सोमालिया में अमरिका ‘अल शबाब’ के विरोध में बडी कार्रवाई कर रही है और इसके लिए केनिया से बडी तादात में सहायता की जा रही है। इस वजह से पिछले छह वर्षों में ‘अल शबाब’ ने केनिया पर भी लगातार आतंकी हमले किए है और मंगलवार के दिन हुआ यह तिसरा बडा आतंकी हमला साबित हुआ है।

२०१३ में ‘अल शबाब’ ने केनिया के ‘वेस्टगेट मॉल’ में किए हमले में लगभग ७० लोगों की मृत्यु हुई ती। उसके बाद २०१५ में केनिया की प्रसिद्ध ‘गॅरिसा युनिव्हर्सिटी’ में किए गए आतंकी हमले में डेढ सौ से भी ज्यादा लोग बलि हुए थे। यह हमला केनिया में हुआ सबसे बडा आतंकी हमला माना जा रहा है। इस हमले के बाद ‘अल शबाब’ के विरोध में बडी कार्रवाई होने पर भी यह आतंकी संगठन अधिक आक्रामक और बडे हमले करने में सफल हो रही है, ऐसा नैरोबी के होटल पर हुए हमले से दिखाई दे रहा है।

 English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info