Breaking News

सीरिया में ईरान के ठिकानों पर इस्रालय ने किए जोरदार हमले – सीरिया के चार जवान ढेर

जेरूसलम/दमास्कस – सीरिया से अमरिकी सेना की वापसी के वजह से ईरान और भी मजबूत होगा, यह चेतावनी अमरिकी सिनेटर्स दे रहे है, तभी इस्रायल ने सीरिया में ईरान के ठिकानों पर जोरदार हवाई हमले किए है। इस्रालय के इन हमलों में ईरान के ‘कुदस् फोर्सेस’ के हथियारों के भंडार और ठिकाने नष्ट हुए। कुछ घंटो पहले ईरान की सेना ने सीरिया से इस्रायल की दिशा में छोडे राकेट हमलों के लिए यह प्रत्युत्तर है, यह इस्रायल की सेना ने कहा है। साथ ही सीरिया से इस्रायल पर हमलें करने वालों को इसकी भारी किमत चुकानी होगी, यह चेतावनी भी इस्रायल ने दी है।

इस्रायली लष्कर ने प्रसिद्ध की जानकारी के नुसार रविवार के दिन सीरिया से इस्रालय के गोलान पहाडीयों की दिशा में राकेट छोडे गए थे। सीरियन राजधानी दमास्कस के निकट बने लष्करी ठिकानों पर तैनात ईरान के ‘कुदस् फोर्सेस’ ने इस्रायल के गोलान और गॅलिली पहाडियों पर यह राकेट छोडकर हमले किए और इस्रायल की हवाई सुरक्षा का भेद करने की कोशिश की थी। लेकिन, इस्रायल के ‘आयर्न डोम’ इस हवाई सुरक्षा यंत्रणा ने ईरान के ‘कुदस् फोर्सेस’ ने किए हमले विफल किए। इस्रालय के हर्मन में पर्यटन स्थल पर स्कीइंग कर रहे कुछ पर्यटकों ने बनाया एक व्हीडीओ भी प्रसिद्ध हुआ है।

कुदस् फोर्सेस ने किए इस हमले को इस्रायल की सेना ने जोरदार प्रत्युत्तर दिया। रविवार रात से सोमवार के दिन तडके तक इस्रायल के लष्कर और लडाकू विमानों ने सीरिया में कम से कम दस जगहों पर खतरनाक भीषण हमलें किए। इन हमलों में सीरिया में ईरान के ‘कुदस् फोर्सेस’ ने बनाए हथियारों के भंडार और लष्करी ठिकानों के साथ मिसाइल का निर्माण करने वाली फैक्टरी नष्ट करने का दावा किया गया है। सीरियन नागरिकों ने सोशल मीडिया पर इस्रायल ने की इस कार्रवाई के फोटो प्रसिद्ध किए है और रात भर दमास्कस के नजदिकी क्षेत्र में इस्रायल के यह हमले शुरू थे, ऐसा कहा है।

इस्रायल के हमले रोकने के लिए सीरियन लष्कर ने हवाई सुरक्षा यंत्रणा कार्यान्वित की थी। साथ ही सीरिया हवाई सुरक्षा यंत्रणा का इस्तेमाल ना करे, ऐसी चेतावनी भी इस्रायल ने सीरिया को दी थी। लेकिन, सीरियन लष्कर ने यह चेतावनी ठुकराने से इस्रायल को सीरियन हवाई सुरक्षा यंत्रणा पर कार्रवाई करनी पडी, यह कहकर इस्रायल के लष्कर ने इन हमलों का व्हीडीओ प्रसिद्ध किया।

इस्रायल के इन हमलों में सीरियन लष्कर के चार जवान ढेर हुए और छह लोग जखमी होने की जानकारी रशिया के रक्षा मंत्रालय ने दी। वही, सीरियन लष्कर ने हवाई सुरक्षा यंत्रणा का इस्तेमाल नही किया होता तो यह कार्रवाई होती भी नही, यह कहकर इस्रायली लष्कर ने ईरान और हिजबुल्लाह पर इस्रायल ने किए हमलों के विरोध में सीरिया किसी भी स्वरूप की कार्रवाई ना करे, यह चेतावनी इस्रायल ने दी है।

इस दौरान, सीरिया ने ईरान की सेना को ईरान वापीस रवाना करे नही तो इस्रायल के सीरिया में हो रहे हमलें जारी रहेंगे, ऐसी चेतावनी इस्रायल ने पहले ही दी थी। इस्रायल के सीरिया में हो रहे यह हमले कोई भी रोक नही सकता, यह इस्रायल ने डटकर कहा था। अमरिकी सेना की सीरिया से वापसी होने पर भी इस्रायल की कार्रवाई पर असर नही होगा, यह इस्रालय ने पिछले हफ्ते में की कार्रवाई से दिखा दिया था।

इस्रायल के विरोध में अंतिम युद्ध के लिए ईरान तैयार – ईरान के वायु सेना प्रमुख की धमकी

‘Day X’, assassination plot, Dietmar Bartsch, German politicians, conspiracy, Berlin, Adolf Hitler

तेहरान – इस्रायल ने सीरिया में कुदस् फोर्सेस के ठिकानों पर किए हमलों पर ईरान से पहली प्रतिक्रिया प्राप्त हुई है। ‘ईरान का लष्कर अंतिम युद्ध करने के लिए तैयार है। ईरान का यह अंतिम युद्ध इस्रालय को विश्‍व की नक्शे से मिटा देगा’, यह धमकी ईरान के वायु सेना प्रमुख ब्रिगेडिअर जनरल अझिझ नसिरझादेह इन्होंने दी है।

ईरान की वायु सेना इस्रायल पर हमलें करने के लिए तैयार है, यह घोषणा नसिरझादेह इन्होंने माध्यमों के साथ की बातचीत के दौरान की है। ईरान के वायु सेना की नई पीढी इस्रायल को नष्ट करने के उतावली हुई है, यह दावा ईरान के वायु सेना प्रमुख ने किया। साथ ही दुश्मन देश ईरान पर खुले तौर पर हमलें नही कर सकता, क्यों की ईरान के लष्कर की तैयारी देखकर ईरान पर हमलें करने के लिए उनकी हिम्मत ही नही होगी, यह नसिरझादेह इनका कहना है।

कुछ दिनों पहले ही इस्रायल के अधिकारियों ने ईरान में सेना घुंसाकर हमले करने की घोषणा की थी। इस्रायल के इस इशारे पर ईरान के वायु सेना प्रमुख ने प्रत्युत्तर दिया है, यही दिख रहा है।

इस दौरान, इसके पहले भी ईरान के सर्वोच्च नेता से राष्ट्राध्यक्ष और लष्करी अधिकारियों ने इस्रायल का विनाश करने की धमकियां दी थी। सीरिया, लेबनान और गाझा पट्टी से इस्रालय पर हमले करने के संकेत भी ईरान के अधिकारियों ने दिए थे।

 

Englishमराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info