Breaking News

भारत पर हमला करने के लिए पाकिस्तान ने ‘जैश’ का इस्तेमाल किया – भूतपूर्व तानाशाह मुशर्रफ ने बेशरमी से किया इकबाल

इस्लामाबाद – पाकिस्तान की गुप्तचर संस्था ने भारत के आतंकी गतिविधियां करने के लिए ‘जैश ए मोहम्मद’ का इस्तेमाल किया था, यह बात पूर्व तानाशाह परवेज मुशर्रफ ने बेशरमी के साथ स्वीकार की है। एक पाकिस्तानी समाचार चैनल को दी मुलाकात देने दौरान मुशर्रफ ने यह बात मान ली है। इस वजह से पाकिस्तान में ‘जैश’ का अस्तित्व ही नही है, ऐसा दावा कर रही पाकिस्तान की सेना मुंह के बल गिरी है। इस दौरान फिलहाल अपनी चमडी बचाने के लिए पाकिस्तान आतंकी संगठनों पर कार्रवाई रही है और यह कार्रवाई सिर्फ एक दिखावा है, यह भी मुशर्रफ ने किए वक्तव्य से स्पष्ट हो रहा है।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए कायराना हमले के बाद पाकिस्तान ने कई बार अपना वक्तव्य बदल दिया है। इस हमले के सबूत दिए तो आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करेंगे, ऐसा वादा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने किया था। भारत ने इससे जुडे सबूत देने के बाद पाकिस्तान ने भारत को शांत करने के लिए और देश पर बना अंतरराष्ट्रीय दबाव कम करने के लिए आतंकी संगठनों के विरोध में कार्रवाई करने का दिखावा शुरू किया है। इसके नुसार लगभग १२२ आंतकियों को और संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है और उमें ‘जैश’ प्रमुख मौलाना मसूद अजहर के नजदिकी रिश्तेदारों का भी समावेश है। साथ ही चरमपंथियों के कुछ मदरसों पर भी कार्रवाई की गई है, ऐसा पाकिस्तान से बताया जा रहा है।

लेकिन, यह कार्रवाई शुरू होते हुए भी ‘जैश’ जैसी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आतंकी घोषित किए गए संगठन का प्रमुख अजहर को गिरफ्तार करके उसपर कार्रवाई करने का हौसला पाकिस्तान की यंत्रणा में नही है। बल्कि उसे सुरक्षा बहाल करके पाकिस्तान ने उसकी भारत की संभाव्य कार्रवाई से रक्षा करने की तैयारी रखी है।

पाकिस्तान ऐसा क्यों कर रहा है, यह इस देश के भूतपूर्व तानाशाह परवेज मुशzफ इन्होंने किए वक्तव्य से उजागर हो रहा है। मुशर्रफ इन्होंने एक पाकिस्तानी समाचार चैनल को मुलाकात देकर ‘जैश’ के अलावा अन्य आतंकी संगठनों का भारत में आतंकी गतिविधियां करने के लिए ‘आईएसआई’ ने इस्तेमाल किया यह बात मुशर्रफ इन्होंने बडी निर्लज्जता से स्वीकार की है। यह स्वीकार करके भी ‘जैश’ यह आतंकी संगठन ही है, यह दावा भी मुशर्रफ इन्होंने किया। साथ ही ‘जैश’ ने मुझपर जानलेवा हमला किया था, इसकी याद दिलाकर फिलहाल पाकिस्तान में ‘जैश’ के विरोध में शुरू कार्रवाई सही है, ऐसा मुशर्रफ इन्होंने कहा है। इतना ही नही बल्कि इस कार्रवाई पर मुशर्रफ इन्होंने संतोष जताया है। अपने कार्यकाल के दौरान यह कार्रवाई करना मुमकिन नही था, क्यों की वह समय अलग था, इन शब्दों में मुशर्रफ इन्होंने खुद का बचाव भी किया। लेकिन, मुशर्रफ इन्होंने जाहीर तौर पर दी इस जानकारी की वजह से फिलहाल पाकिस्तान कर रहे कार्रवाई पर भी सवाल खडे हो रहे है।

‘जैश’ प्रमुख अजहर की ध्वनीफीत हालही में प्रसिद्ध हुई थी। इस में उसने भारत के दबाव में आकर पाकिस्तान की सरकार आतंकी संगठनों पर कर रही कार्रवाई को लेकर नाराजगी जताई थी। इतना ही नही, तो पाकिस्तान के अपने धर्म बांधव भडक उठे तो उद्रेक होगा, यह धमकी भी उसने पाकिस्तान को दी है। राष्ट्राध्यक्ष होते समय मुशर्रफ इनपर हमला करने के बावजूद अपने पर कार्रवाई करने से प्रशासन को दूर रखने में सफल हुए ‘जैश’ के पाकिस्तान में बनाया सामर्थ्य भी इससे उजागर हुआ है। इस वजह से फिलहाल ‘जैश’ पर हो रही कारवाई सिर्फ आलोचना बंद करने के लिए ही हो रही है और इस कार्रवाई की कोई भी अहमियत नही है, यही अब स्पष्ट हुआ है। अपने देश में ‘जैश’ का अस्तित्व ही नही है, यह कहनेवाले पाकिस्तानी लष्कर से इससे अलग प्रतिक्रिया प्राप्त होने की उम्मीद नही है। साथ ही सेना के इशारे पर नाचनेवाली कठपुतली के तौर पर जाने जा रहे इम्रान खान इन्होंने किए वादे पर भी भारत को भरोसा रखना मुमकिन नही है, यह बात मुशर्रफ इनके इकबालिया बयान से स्पष्ट होती है।

‘जैश’ दुसरे ‘पुलवामा’ की तैयारी में

‘जैश ए मोहम्मद’ दक्षिण कश्मीर में आतंकी हमला करने का षडयंत्र बना रहा है, ऐसा इशारा भारत के गुप्तचर विभाग ने दिया है। ‘जैश’ का यह हमला ‘पुलवामा’ जैसा बडा हमला हो सकता है, ऐसी चेतावनी भी गुप्तचर विभाग ने दी है। आनेवाले तीन या चार दिनों में ऐसे आतंकी हमले की संभावना है और दक्षिण कश्मीर के काझीगंद और अनंतनाग में चोरी की गई ‘एसयूव्ही’ का इस्तेमाल करके यह हमला करने की तैयारी ‘जैश’ ने की है। गुरूवार के दिन जम्मू में हुए ग्रेनेड हमले के बाद गुप्तचर विभाग ने ‘जैश’ के भयंकर षडयंत्र की जानकारी प्रसिद्ध की है और उसके बाद जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा और भी बढाई गई है।

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info