Breaking News

घुसपैठी रशियन विमान पर दक्षिण कोरिया ने दागें ‘वॉर्निंग शॉटस्’

सेउल  – मंगलवार के तडके चीन और रशिया के लष्करी विमानों ने दक्षिण कोरिया की हवाई सीमा का उल्लंघन किया| कुछ ही घंटों की दूरी पर हुई इन घुसपैठ की घटना से क्रोधित हुए दक्षिण कोरिया ने अपने लडाकू विमान रवाना करके रशियन विमान पर ३६० वॉर्निंग शॉटस् दागें| इसके आगे अपनी सीमा का उल्लंघन किया तो और भी कडी कार्रवाई करने का इशारा भी दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने दिया है| इस दौरान दक्षिण कोरिया ने लगाए आरोप रशिया ने ठुकराए है|

चीन और रशिया की वायुसेना का युद्धाभ्यास शुरू होते हुए यह घुसपैठ होने का दावा दक्षिण कोरिया के अधिकारियों ने किया है| शुरू में चीन के दो ‘एच-६ बॉम्बर्स’ विमानों ने मंगलवार की सुबह ६.४५ से ७.४५ के दौरान दो बार दक्षिण कोरिया की हवाई सीमा में उडान भरी| इस घुसपैठ के बाद चीन के बॉम्बर्स विमान कम से कम २४ मिनिटों तक दक्षिण कोरिया के ‘एअर डिफेन्स आयडेन्टिफिकेशन झोन’ के क्षेत्र में मंडराते रहे| इसके बाद अगले एक घंटे के भीतर ही रशिया के ‘ए-५० कमांड ऍण्ड कंट्रोल’ विमान ने दक्षिण कोरियन सीमा में दो बार प्रवेश किया|

दक्षिण कोरियन वायुसेना ने इस घुसपैठ का संज्ञान लेकर रशियन विमान के चालक को ३० बार चेतावनी दी| लेकिन, रशियन पायलट का जवाब ना मिलने पर दक्षिण कोरिया ने अपने ‘एफ-१५एफ’ और ‘केएफ-१६’ इन लडाकू विमानों को रशियन विमान के दिशा में रवाना किया| इन दोनों विमानों ने रशियन विमान की दिशा में ३६० वॉर्निंग शॉटस् दागें| इन वॉर्निंग शॉटस् के बाद रशियन विमान फिर से दक्षिण कोरिया की हवाई सीमा से नजदिकी क्षेत्र से उडान भरता दिखाई नही दिया, यह बात रक्षा मंत्रालय ने स्पष्ट की|

साथ ही ‘अगले समय में दक्षिण कोरिया की हवाई सीमा का उल्लंघन हुआ तो और भी कडी कार्रवाई के साथ जवाब दिया जाएगा| रशिया इस बारे में ध्यान रखें’, यह इशारा दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने दिया है| रशियन लष्करी विमानों ने दक्षिण कोरिया के हवाई सीमा में प्रवेश करने की यह पहली ही घटना है, यह भी रक्षा मंत्रालय ने स्पष्ट किया| इससे पहले चीन और उत्तर कोरिया के विमानों ने दक्षिण कोरिया की सीमा में घुसपैठ करने की घटना हुई थी|

दक्षिण कोरिया ने लगाए आरोप रशिया ने ठुकराए है| रशिया के लष्करी विमान ने दक्षिण कोरिया के हवाई सीमा में प्रवेश किया नही है, यह भी रशियन विदेश मंत्रालय ने कहा है| रशिया के दो ‘टू-९५ स्ट्रॅटेजिक बॉम्बर्स’ विमानों ने अंतरराष्ट्रीय हवाई क्षेत्र से उडान भरी थी, ऐसा रशियन विदेश मंत्रालय का कहना है|

इस दौरान रशियन विमानों ने दक्षिण कोरिया की हवाई सीमा में घुसपैठ करने की घटना पर जापान ने भी आलोचना की है| ऐसी हरकतों की वजह से अपने देश की सुरक्षा के लिए खतरा बन सकता है, इस ओर जापान की सरकार ने ध्यान आकर्षित किया है| जापान में अमरिकी लष्कर, नौसेना और वायुसेना के बडे अड्डे है| इश वजह से चीन और रशियन विमानों की इस क्षेत्र में हुई घुसपैठ काफी गंभीर बात साबित हो रही है|

English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info