Breaking News

बैरूत के शहरी क्षेत्रों में हिज़बुल्लाह ने बनाए ‘मिसाईल बेस’ – इस्रायली अभ्यासगुट का दावा

तेल अवीव – ईरान के कड़े समर्थक रहे, लेबनान स्थित आतंकी संगठन हिज़बुल्लाह ने लेबनान की राजधानी बैरूत के शहरी क्षेत्रों में अपने २८ ‘मिसाइल बेस’ बनाए हैं। शहरी क्षेत्रों में अपने अड्डे स्थापित करके अपने मिसाइलों की सुरक्षा के लिए हिज़बुल्लाह शहरी क्षेत्रों इलाकों का बतौर ढ़ाल इस्तेमाल कर रहा है, ऐसा आरोप इस्रायल के अभ्यासगुट ने रखा है। इनमें से कुछ अड्डे इस्रायल पर हमला करने के लिए तैयार होने की चेतावनी भी इस अभ्यासगुट ने दी है। इसी बीच, तीन सप्ताह पहले हिज़बुल्लाह ने प्रसिद्ध किए एक वीडियो में, इस्रायल के तेल अवीव शहर की दिशा में मिसाइल तैनात किए हुए दिखाए थे।

लेबनान की राजधानी बैरूत में हिज़बुल्लाह के मिसाइल बेस होने की जानकारी इस्रायल ने पहले ही दुनिया के सामने रखी थी। ये मिसाईल तहखाने में रखें होने के सबूत देनेवाले सैटेलाईट फोटोग्राफ्स भी इस्रायल ने सार्वजनिक किए थे। लेकिन, ‘अल्मा रिसर्च ॲण्ड एज्युकेशन सेंटर’ इस इस्रायली अभ्यासगुट ने जारी की हुई इस जानकारी में नया दावा किया गया है। इससे पहले कभी भी ध्यान ना गया हो, ऐसी ज़गहों पर हिज़बुल्लाह ने मिसाइल बेस बनाने की जानकारी इस्रायली अभ्यासगुट ने अपनी रिपोर्ट के ज़रिये सार्वजनिक की है। हिज़बुल्ला का प्रभाव होनेवाले बैरूत शहर के दक्षिणी हिस्से में इन मिसाइलों के भंड़ार एवं लौंच पैड़ होने की बात इस अभ्यासगुट ने इस्रायली अख़बार को प्रदान की हुई जानकारी में साझा की है।

मध्यम दूरी के एवं गायडेड मिसाइल इन अड्डों पर रखें गए हैं। ऐसें मिसाइल निवासी इमारत, प्रार्थना स्थल, शिक्षा संस्था, अस्पताल एवं फुटबॉल ग्राउंड के साथ ईरानी दूतावास एवं लेबनीज रक्षा मंत्रालय के सामने तैनात किए गए हैं, यह बात भी इस्रायली अभ्यासगुट के प्रमुख ताल बिरी ने कही है। भीड़वाली ज़गहों पर मिसाइल बेस स्थापित करके हिज़बुल्लाह अपने मिसाइलों की सुरक्षा के लिए मानवी ढ़ाल का इस्तेमाल कर रहा है। आंतर्राष्ट्रीय समुदाय हिज़बुल्लाह की इन हरकतों पर ध्यान दें, यह आवाहन भी बिरी ने अपनी इस रिपोर्ट में किया है। इस्रायल के इस अभ्यासगुट ने हिज़बुल्लाह के इन मिसाइल बेस के सैटेलाईट से लिए गए फोटो भी प्रकाशित किए हैं।

हिज़बुल्लाह के पास कम से कम १,३०,००० मिसाइल्स एवं राकेटस्‌ का भंड़ार है और ये मिसाइल एवं राकेटस्‌ हिज़बुल्लाह ने ईरान से प्राप्त किए हैं, यह आरोप इस्रायल कर रहा है। हिज़बुल्लाह को गायडेड मिसाइलों से लैस करने के लिए ईरान ने, लेबनान की दक्षिणी सीमा से करीबी क्षेत्र में मिसाइल निर्माण का केंद्र स्थापित किया है। इस केंद्र के फोटो भी जारी हुए थे। हिज़बुल्लाह के ये मिसाइल्स अपनी सुरक्षा के लिए ख़तरा होने की चेतावनी इस्रायल ने पहले ही दी थी। अपने ये मिसाइल्स इस्रायल के प्रमुख शहरों को जलाकर राख़ कर देंगे, ऐसे दावे भी हिज़बुल्लाह ने किए थे।

सन २००६ में इस्रायल-लेबनान सीमा पर हिज़बुल्लाह और इस्रायली सेना के बीच ३४ दिनों तक संघर्ष हुआ था। इस संघर्ष के दौरान हिज़बुल्लाह ने इस्रायल से किया हुआ मुकाबला सभी लोगों को चौकानेवाला साबित हुआ था। लेकिन, अगले दिनों में हिज़बुल्लाह ने इस्रायल के विरोध में कुछ गलत हरकत की, तो लेबनान में घुसकर इस संगठन के ठिकाने तबाह किए जाएँगे, यह चेतावनी इस्रायल ने दी थी। तभी से हिज़बुल्लाह के आतंकी एवं हथियारों के ‘बेस’ निवासी इलाकों में बनाने की तैयारी हिज़बुल्लाह ने की थी। इस्रायली गुप्तचर यंत्रणाओं ने इससे संबंधित चेतावनियाँ भी दी थीं। अब भी हिज़बुल्लाह निवासी इलाकों का इस्तेमाल ढ़ाल की तरह करके, अपने मिसाइल्स इस्रायल के हमलों से सुरक्षित रखने की कोशिश कर रहा है, यह बात इस अभ्यासगुट की रिपोर्ट से सामने आ रही है।

English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info