Breaking News

‘साउथ चायना सी’ में बने तनाव की पृष्ठभूमि पर अमरीका और चीन ने किए परमाणु हथियारों के परीक्षण

nuclear warheads, us, china, south china sea

वॉशिंग्टन/बीजिंग – ‘साउथ चायना सी’ के मुद्दे पर अमरीका और चीन के बीच युद्ध भड़क सकता है, ऐसे इशारे दिए जा रहे हैं तभी दोनों देशों ने अल्पावधी में परमाणु मिसाइलों का परीक्षण करने की जानकारी सामने आयी है। अमरीका ने सोमवार के दिन ‘मिनटमैन 3’ नामक अंतरमहाद्विपीय परमाणु बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण करने का ऐलान किया। उससे पहले चीन ने भी ‘डाँगफेंग-26’ और ‘डाँगफेंग-16’ नामक परमाणु बैलेस्टिक मिसाइलों का परीक्षण करने का ऐलान किया है। हम युद्ध के लिए ‘हाय अलर्ट स्टेट’ में होने का इशारा चीन की ‘पीपल्स लिब्रेशन आर्मी’ ने इन परीक्षणों के बाद दिया।

परमाणु मिसाइलों का परीक्षण

मंगलवार के दिन 4 अगस्त को स्थानिय समय के अनुसार देर रात 12.21 बजे कैलिफोर्निया के ‘वैन्डनबर्ग एअरफोर्स बेस’ से ‘मिनटमैन-3’ मिसाइल का परीक्षण किया गया। इस दौरान अमरीकी वायुसेना की ‘ग्लोबल स्ट्राईक कमांड’ ने ‘एअरबोर्न लौंच कंट्रोल सिस्टिम’ और ‘री-एंट्री वेहिकल’ के तीन परीक्षण करने की जानकारी प्राप्त हुई है। परीक्षण के दौरान संबंधित परमाणु मिसाइल करीबन 4200 किलोमीटर दूरी पर पैसिफिक महासागर में स्थित मार्शल आयलैंड के इलाके में गिरने की जानकारी अमरीकी अधिकारियों ने प्रदान की। अमरीका के परमाणु प्रत्युत्तर के लिए इस्तेमाल होनेवाली यह मिसाइल यंत्रणा सुरक्षित, विश्‍वासार्ह और प्रभावी होने की बात इस परीक्षण में साबित हुई है, यह भरोसा ‘टेस्ट स्क्वाड्रन कमांडर’ कर्नल ओमर कोलबर्ट ने दिलाया है।

वर्ष 1970 से अमरीका के ‘न्युक्लिअर ट्रायड’ का अंग होनेवाला अंतरमाद्विपीय परमाणु बैलेस्टिक ‘मिनटमैन 3’ मिसाईल 10 हज़ार किलोमीटर की दूरी तक करने की क्षमता रखता है। ध्वनि से 23 गुना अधिक तेज़ यानी ‘मैक 23’ गति से हमला करने की क्षमता रखनेवाले इस मिसाइल पर ‘थर्मोन्युक्लिअर वॉरहेडस्‌’ की तैनाती की जाती है। वर्तमान में अमरीका के बेड़े में 400 ‘मिनटमैन 3’ मिसाइल होने की बात कही जा रही है। चीन ने परमाणु हथियारों की क्षमता बढ़ाने के लिए गतिविधियां शुरू की हैं और तभी अमरीका ने किया हुआ यह परीक्षण अहमियत रखता है।

परमाणु मिसाइलों का परीक्षण

अमरीका ने किए परीक्षण की पृष्ठभूमि पर चीन ने भी दो परमाणु मिसाइलों का परीक्षण करने की जानकारी सामने आ रही है। चीन की ‘पीपल्स लिब्रेशन आर्मी’ के ‘राकेट फोर्स’ ने ‘डाँगफेंग-26’ और ‘डाँगफेंग-16’ नामक परमाणु बैलेस्टिक मिसाइलों का परीक्षण करने की जानकारी साझा की है। इस परीक्षण के फोटो प्रसिद्ध किए गए हैं, लेकिन यह परीक्षण कब किया गया इस बात की पुख्ता जानकारी अभी साझा नहीं की गई है। चीन की सेना से संबंधित ‘81 सीएन’ नामक वेबसाईट पर इससे संबंधित समाचार जारी किया गया है।

हम युद्ध के लिए ‘हाय अलर्ट स्टेट’ में हैं और सटिक एवं जल्द प्रत्युत्तर देने के लिए तैयार हैं, यह इशारा भी ‘रॉकेट फोर्स’ के कमांडर लियु यांग ने इस दौरान दिया है। ‘डाँगफेंग-26’, मध्यम दूरी का बैलेस्टिक मिसाइल है। यह मिसाइल करीबन चार हज़ार किलोमीटर की दूरी तय करने की क्षमता रखता है, यह जानकारी भी साझा की गई है। अमरीका की विशाल विमान वाहक युद्धपोत ध्वस्त करने की क्षमता यह मिसाइल रखता है, यह दावा भी चीन कर रहा है। तो ‘डाँगफेंग-16’ बैलेस्टिक मिसाइल 800 से 1,000 किलोमीटर दूरी तक हमला करने के लिए सक्षम है। यह दोनों परमाणु मिसाइल ‘थर्मोन्युक्लिअर वेपन’ के साथ हमला करने की क्षमता भी रखते हैं।

English     मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info