Breaking News

बिडेन अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष बने तो इस्रायल-ईरान संघर्ष भड़केगा – इस्रायली मंत्री का इशारा

जेरूसलम – अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष पद के चुनावों में धांदली होने का आरोप तीव्र हो रहा है और ‘एक्जिट पोल’ के नतीज़े जो बिडेन के पक्ष में दिखाई दे रहे हैं। अमरिकी चुनावों के इस एक्जिट पोल के नतीज़ों पर इस्रायल से तीव्र प्रतिक्रिया प्राप्त होने लगी है। जो बिडेन अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष के तौर पर चुने गए और उन्होंने ईरान के साथ किया परमाणु समझौता दुबारा स्वीकार किया तो इस्रायल और ईरान के बीच संघर्ष शुरू होगा, यह इशारा इस्रायल के वरिष्ठ मंत्री ने दिया है। इसी बीच, कुछ दिन पहले ईरान ने अमरीका के चुनावों में ट्रम्प की हार आवश्‍यक होने की प्रतिक्रिया व्यक्त की थी।

बिडेन

अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष पद के चुनावों में डेमोक्रैट पक्ष के उम्मीदवार जो बिडेन की ईरान संबंधि भूमिका पर इस्रायल में नाराज़गी हैं। ईरान के साथ नए से परमाणु समझौता किया तो ईरान के परमाणु हथियारों का निर्माण रोकना संभव होगा, यह ऐलान करके बिडेन ने ईरान पर लगाए प्रतिबंधों का विरोध किया हैं। साथ ही इस्रायल और अरब देशों में स्थापित हुए सहयोग को लेकर भी बिडेन ज्यादा उत्साही ना होने की बात पहले ही स्पष्ट हुई थी। इसके अलावा ईरान के विरोध में सख्त भूमिका अपनानेवाले इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू पर बिडेन ने पहले ही आलोचना की थी। इस पृष्ठभूमि पर बिडेन के पक्ष में एक्जिट पोल ने झुकाव दिखाने के बाद इस पर इस्रायली नेताओं की प्रतिक्रिया प्राप्त होने लगी है।

‘हम राष्ट्राध्यक्ष बने तो ईरान के साथ दुबारा परमाणु समझौता किया जाएगा, यह ऐलान बिडेन ने किया था। ऐसा हुआ तो इस्रायल और ईरान में हिंसक संघर्ष भड़केगा’, यह इशारा इस्रायल के वरिष्ठ मंत्री ताची हानेबी ने दिया। बिडेन की ईरान से संबंधित इस भूमिका के साथ इस्रायल सहमा नहीं है, यह बात हानेबी ने की। इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू के साथ इस्रायल के अन्य मंत्री और नेता वर्ष २०१५ में हुए परमाणु समझौते की ओर अमरीका की सबसे बड़ी गलती के तौर पर देखते हैं, इस बात की याद भी हानेबी ने ताज़ा की। साथ ही अमरीका के पूर्व राष्ट्राध्यक्ष बराक ओबामा ने की हुई गलती बिडेन ना दोहराएं, यह सूचक इशारा भी हानेबी ने दिया है।

इसके साथ ही अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान को लेकर अपनाई भूमिका का हानेबी ने स्वागत किया। ट्रम्प ने ईरान को नया प्रस्ताव देने का ऐलान किया है, इसके बावजूद ईरान पर लगाए गए प्रतिबंधों का भार कम नहीं करेंगे, यह भी स्पष्ट किया है, इस ओर भी हानेबी ने ध्यान आकर्षित किया। तभी ओबामा ने पांच वर्ष पहले बिडेन के समर्थन से किया परमाणु समझौता ईरान को परमाणु हथियारों से सज्जित होने से रोकनेवाला नहीं था, ऐसी आलोचना इस्रायली संसद के सुरक्षा और विदेश नीति के अध्यक्ष हॉसेर ने की। ईरान परमाणु हथियारों से सज्जित हुआ तो सौदी अरब, तुर्की और इजिप्ट भी परमाणु हथियारों के निर्माण करने की स्पर्धा में उतरेंगे, यह इशारा हॉसेर ने दिया।

इसी बीच, राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने बीते पांच वर्षों में ईरान के साथ किए परमाणु समजौते से पीछे हटकर लगाए गए प्रतिबंधों का इस्रायल के साथ ही अरब देशों ने भी स्वागत किया है। अमरीका के इन प्रतिबंधों की वजह से ईरान की घेराबंदी होने का दावा किया जा रहा है। तभी अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष पद पर डोनाल्ड ट्रम्प का दुबारा चयन किया गया तो वह अमरिकी जनता के लिए उचित नहीं होगा, यह आलोचना करके ईरान ने कुछ दिन पहले ही बिडेन के चयन का अप्रत्यक्ष तरीके से समर्थन किया था।

English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info