Breaking News

अफ्रीका के साहेल क्षेत्र में भीषण हिंसाचार; १०० से अधिक लोगों की मृत्यु

– नाइजर में हुए हमले में ५८ लोगों की मौत

– नाइजीरिया की संघर्ष में ५० से अधिक लोग मृत

– माली में हुए आतंकवादी हमले में ११ जवानों की मृत्यु

निआमे/बमाको/अबुजा – सोमवार को पश्चिमी अफ्रीका के ‘साहेल रिजन’ के नाम से जाने जानेवाले देशों में हुए हिंसाचार में १०० से भी अधिक लोगों की जान गई है। नाइजर के ‘तिलाबेरी’ इलाके में हुए हमलों में ५८ लोगों की मृत्यु हुई है। वहीं, माली में आतंकवादी गुट ने लष्करी चौकी पर किए हमले में ११ जवानों की मृत्यु हुई होकर, कई जवान लापता होने की बात भी बताई जा रही है। नाइजीरिया में ‘स्पेशल फोर्सेस’ ने की कार्रवाई में बोको हराम के ४१ आतंकी ढेर हुए हैं, ऐसी जानकारी मिली है। उसी समय बोको हराम ने लष्कर के ३० से भी अधिक जवानों को मारा होने का दावा किया।

अफ्रीका, हिंसाचार, साहेल, बोको हराम, अपहरण, नायजर, चिनेदोगर, TWW, Third World War

अफ्रीका के नाइजर, माली, बुर्किना फासो, चाड, नाइजीरिया और मॉरिशानिया इन देशों को ‘साहेल कंट्रीज्’ के रूप में जाना जाता है। इस साहेल क्षेत्र में पिछले कुछ सालों से आतंकवादी संगठनों का प्रभाव लगातार बढ़ रहा है। ‘अल कायदा’ और ‘आयएस’ इन दोनों संगठनों से जुड़े गुट अपना वर्चस्व बरकरार रखने के लिए लगातार हमले कर रहे हैं। सोमवार को हुआ हिंसाचार उसी का भाग दिखाई दे रहा है।

नाइजर में तिलाबेरी इलाके में ‘चिनेदोगर’ गांव के नजदीक हथियारबंद हमलावरों ने पहला हमला किया। दोपहर को पास के मार्केट से गाड़ियों में लौट आने वाले गाँववालों पर यह हमला किया गया। इस हमले में २० लोगों की मौत होने की जानकारी सूत्रों ने दी। इस हमले के बाद शाम के समय हथियारबंद हमलावरों ने दो गाँवों पर हमले किए होकर, उनमें लगभग २८ लोगों की मृत्यु हुई बताई जाती है।

अफ्रीका, हिंसाचार, साहेल, बोको हराम, अपहरण, नायजर, चिनेदोगर, TWW, Third World War

ये दोनों हमले माली और बुर्किना फासो की सीमा से नजदीकी भागों में हुए हैं। हमले की जिम्मेदारी हालाँकि किसी भी संगठन ने नहीं स्वीकारी है, फिर भी ‘बोको हराम’ अथवा ‘आयएस’ से जुड़े आतंकवादी गुट ने हमला किया होने का शक सूत्रों ने ज़ाहिर किया है। स्थानिक यंत्रणाओं ने इसके पीछे वांशिक विद्रोही संगठन का हाथ हो सकता है, ऐसी भी संभावना जताई है। पिछले तीन महीने में हुआ यह दूसरा बड़ा हमला है। इससे पहले जनवरी महीने में हुए हमलों में लगभग १०० लोगों की मौत हुई थी।

नाइजीरिया में लष्कर के ‘स्पेशल फोर्सेस’ ने बोर्नो प्रांत में की कार्रवाई में ‘बोको हराम’ के ४१ आतंकियों को ढेर किया। इस समय, आतंकियों ने अपहरण कीं हुईं ६० से अधिक महिलाओं और बच्चों की रिहाई की गई है। आतंकियों से बड़े पैमाने पर हथियार हत्यारों का भंडार भी बरामद किया होने की जानकारी अधिकारियों ने दी। इस समय लष्कर के चार जवानों को जान गँवानी पड़ी, ऐसा लष्करी सूत्रों ने नमूद किया। लेकिन ‘बोको हराम’ ने स्वतंत्र निवेदन जारी करके, कम से कम ३० से अधिक जवानों को मार गिराने का दावा किया होकर, कुछ जवानों का अपहरण किया, ऐसा भी बताया है ।

माली के ईशान्य इलाक़े के अन्सोंगो शहर के पास होनेवाली लष्करी चौकी पर सोमवार को आतंकवादियों ने हमला किया। इस हमले में ११ जवानों की मृत्यु हुई होकर, कई जवान लापता हुए हैं। माली में पिछले महीने भर में आतंकवादी गुटों ने लष्करी चौकी को लक्ष्य करने की यह दूसरी घटना है। इससे पहले फरवरी महीने में मध्य माली में स्थित मोपती में आतंकवादियों ने किए हमले में माली लष्कर के १० जवानों की मृत्यु हुई थी।

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info