यूक्रैन से मारिओपोल आज़ाद करने का रशिया का ऐलान

मास्को/किव – मारिओपोल शहर यूक्रैन से आज़ाद करने का ऐलान रशिया ने किया है| इस शहर की एक स्टील फैक्टरी में अब भी यूक्रैन के दो हज़ार सैनिक रशियन सेना के घेरे में हैं| इन यूक्रैनी सैनिकों को ही नहीं, बल्कि किसी मक्खी को भी यहां से बाहर निकलना मुमकिन ना हो पाए, इतना सख्त घेरा बनाने के आदेश रशियन राष्ट्राध्यक्ष ने अपनी सेना को दिए हैं| रशिया ने मारिओपोल को लेकर यह अहम ऐलान किया है और इसी दौरान अमरीका ने यूक्रैन को और ५० करोड़ डॉलर्स की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है| तथा राष्ट्राध्यक्ष बायडेन ने ८० करोड़ डॉलर्स की सैन्य सहायता यूक्रैन को प्रदान करने का ऐलान भी किया|

Mariupol from Ukraine

मारिओपोल, यूक्रैन का अहम शहर है और इस पर कब्ज़ा करने के लिए रशियन सेना तेज़ी से आगे बढ़ी थी| यूक्रैन की सेना का प्रतिकार रशियन सेना के सामने कम साबित हुआ और मारिओपोल शहर रशिया के हाथ लगा है| लेकिन, इस शहर में मौजूद दो हज़ार यूक्रैनी सैनिकों ने एक स्टील फैक्टरी में आश्रय लिया है| रशियन सेना ने लगातार इन सैनिकों को शरण आने का आवाहन किया था| लेकिन, अब तक इस पर प्रतिसाद प्राप्त नहीं हुआ है|

मारिओपोल को यूक्रैन से स्वतंत्र होने का ऐलान करने के साथ ही रशियन राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रैन के इन सैनिकों को भागने का अवसर ना देने के आदेश भी दिए हैं| इसकी वजह से इन यूक्रैनी सैनिकों का शरण आना रशिया अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी जीत के तौर पर प्रदर्शित करेगी, यह स्पष्ट दिख रहा है| इस युद्ध में रशिया का काफी बड़ा नुकसान होने के दावे कर रही यूक्रैन सरकार और पश्‍चिमी देशों को रशिया ने मारिओपोल में पाई जीत से बड़ा झटका लग सकता है|

यूक्रैन पर रशियन सेना के हमले अभी भी जारी हैं| साथ ही रशिया की इस युद्ध में जोरदार हानी होने के दावे पश्‍चिमी देश कर रहे हैं| ऐसी स्थिति में यूक्रैन का मनोबल बढ़ाने के लिए अमरीका ने नई सहायता का ऐलान किया है| यूक्रैन के सरकारी कर्मचारियों का वेतन, पेन्शन और अन्य खर्चों के लिए अमरीका ने ५० करोड़ डॉलर्स की अतिरिक्त सहायता का ऐलान किया| रशिया के हमले के बाद यूक्रैन के सामने खड़ी चुनौतियों पर अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष और वैश्‍विक बैंक की बैठक हुई| इस बैठक के बाद अमरीका ने इस ५० करोड़ डॉलर्स की आर्थिक सहायता का ऐलान किया है|

इसके साथ ही यूक्रैन के लिए तकरीबन ८० करोड़ डॉलर्स के हथियारों की सहायता देने का भी अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ने ऐलान किया| इसमें लंबी दूरी के तोप और तोप के बमों का समावेश है| तथा अमरीका ने रशिया पर नए प्रतिबंधों का ऐलान किया है| इसके अनुसार अब रशिया के जहाज़ों को अमरीकी बंदरगाहों में रुकने की अनुमति नहीं है|

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info