Breaking News

अंतरिक्ष युद्ध के लिए अमरिका को स्पेस फ़ोर्स की आवश्यकता- राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

कैलिफोर्निया: जमीन, सागर, और आकाश की तरह अंतरिक्ष भी युद्ध क्षेत्र बना है| इसकी वजह से अन्य क्षेत्रों की तरह अंतरिक्ष भी लष्करी विभाग ‘स्पेस फोर्स’ स्थापित करना आवश्यक है, ऐसी घोषणा अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने की है| इस स्पेस कोर्स के लिए अमरिका का लष्कर बड़ी भूमिका निभायेगा, ऐसा विश्वास राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने व्यक्त किया है| दौरान रशिया और चीन अंतरिक्ष मे अमरिका के उपग्रह पर हमले करेंगे, ऐसा इशारा अमरिकी लष्कर के गुप्तचर विभाग ने दिया था| इस पृष्ठभूमि पर राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प यह घोषणा करते दिखाई दे रहे है|

२ दिनों पहले कैलिफोर्निया के सैन डियागो शहर में मरीन कोअर के मिरमार हवाई अड्डे पर आयोजित किए कार्यक्रम में बोलते हुए राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने स्पेशल फोर्स की संकल्पना प्रस्तुत की है| पिछले कई महीनों में व्हाइट हाउस में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों ने तैयार किये धारणाओं में अंतरिक्ष यह आनेवाले समय में नई युद्धभूमि होगी, ऐसी जानकारी राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने दी है| इसकी वजह से अंतरिक्ष में अपने हितसंबंधों के सुरक्षा के लिए पृथ्वी पर वातावरण कक्ष में स्पेशल फोर्स तैनात करना आवश्यक है ऐसा, ट्रम्प ने कहा है|

अमरिका के हवाई अड्डे के जैसे स्पेशल फोर्स काम करेगा, ऐसा कहकर इस बारे में हम बहुत गंभीर होने की गवाही राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने दी है| प्रशासकीय और निजी स्तर पर अमरिका अंतरिक्ष में बड़ा निवेश कर रहा है| अंतरिक्ष क्षेत्र के विकास पर अमरिका की सफलता निर्भर है| इसकी वजह से इस अंतरिक्ष क्षेत्र में अपने हित संबंधों की सुरक्षा के लिए अमरिका को स्पेस फ़ोर्स की आवश्यकता है, ऐसा अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष ने रेखांकित किया है|

अमरिका के स्पेशल फोर्स में अमरिकी लष्कर के अधिकारियों का समावेश होगा, ऐसा संकेत भी राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने दिया है| अमरिकी लष्कर, हवाई दल तथा मरीन्स के कई जवान अंतरिक्ष कार्यक्रम में इससे पहले भी शामिल हुए हैं और वह अंतरिक्ष वीर के तौर पर काम करेंगे| इस अंतरिक्ष वीर सैनिकों का उपयोग स्पेशल फोर्स के लिए किया जा सकता है, ऐसा ट्रम्प ने आगे कहा है| ऐसा हुआ तो भविष्य में अमरिका स्पेस फोर्स की सहायता से अंतरिक्ष का नेतृत्व कर सकता है, ऐसा दावा अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष ने किया है|

राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने प्रस्तुत किए स्पेस फोर्स की योजना को माइक रौजर्स और कई रिपब्लिकन नेताओं ने समर्थन दिया है| अंतराल सुरक्षा यह एक गंभीर मुद्दा होकर राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने प्रस्तुत कि योजना योग्य होने की बात रौजर्स ने कही है| पिछले वर्ष अक्तूबर महीने में राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने पहली बार स्पेशल फोर्स की योजना प्रस्तुत की थी| उसके बाद अमेरिकन प्रतिनिधि गृह में सीनेटर की एक गटने इस योजना को उठाए धरा था| तथा इस स्पेशल फोर्स के लिए अमरिकन हवाई दल का उपयोग किया जाए, हवाई दल के विभाग किए जाए, ऐसा प्रस्ताव प्रस्तुत किया था, पर कांग्रेस ने ट्रम्प का यह प्रस्ताव ठुकराया था| स्पेस का निर्माण करके अमरिका अंतरिक्ष में शस्त्र स्पर्धा को निमंत्रण दे सकता है, ऐसी टीका कई कांग्रेस के सदस्यों ने की थी|

दौरान अमरिका के पहले रशियाने अंतरिक्ष के लिए अपना स्वतंत्र स्पेस फोर्स विकसित की है| रशिया ने अंतरिक्ष में अपने लष्करी गट को एरोस्पेस फोर्सेस का नाम दिया है| इसके अतिरिक्त रशिया और चीन अंतरिक्ष युद्ध की तैयारी कर रहे हैं, ऐसा दावा अमरिका के यंत्रणा कर रही है| अमरिका के उपग्रह नष्ट करने का सामर्थ्य रशिया और चीन के पास है| फिलहाल यह दोनों देश अंतरिक्ष क्षेत्र में शांति का पुरस्कार कर रहे हैं, फिर भी वास्तव में अंतरिक्ष युद्ध हुआ तो परिस्थिति दूसरी होगी, ऐसा इशारा अमरिका के जनरल रॉबर्ट ऐश्ले और डैन कोटस्, इन अधिकारियों ने दिया था|

अमरिका बड़ी तादाद में राष्ट्रीय एवं निजी उपग्रह पर निर्भर है| यह जानते हुए चीन एवं रशिया उपग्रह भेदी मिसाइल एनर्जी वेपन अथवा लेझर, सायबर जैमिंग और अंतरिक्ष के अन्य उपग्रहों का इस्तेमाल अमरिका के उपग्रहों को नष्ट करने के लिये कर सकता है, ऐसा जनरल रॉबर्ट ऐश्ले एवं डैन कोटस् ने पिछले हफ्ते में कहते हुए सूचित किया है|

 

(Courtesy: www.newscast-pratyaksha.com)

leave a reply