Breaking News

आर्टिफिशल इंटेलिजन्स पर हेन्री किसिंजर की चेतावनी

वॉशिंग्टन – ‘आर्टिफिशल इंटेलिजन्स’ की तेज गती से हो रहे अनिर्बंध विकास पर ‘एलॉन मस्क’ और ‘जॅक मा’ जैसे प्रमुख उद्योजकों समेत संशोधक और मान्यवरों ने चिंता जताई थी| इस सूची में अब अमेरीका के पूर्व विदेश मंत्री और ज्येष्ठ विशेषज्ञ हेन्री किसिंजर भी शामिल हुए है| किसिंजर ने ‘आर्टिफिशल इंटेलिजन्स’ यानी कृत्रिम बुद्धिमत्ता से मानव जाती के सामने खड़े संकटों का अनुभव करा दिया| किसिंजर का इस विषय पर आधारीत लेख ‘अटलांटिक’ नामक मासिक में प्रकाशित हुआ है|

किसिंजर ने इस क्षेत्र के विकास के बारे में कुछ मूलभूत सवाल उपस्थित करते हुए कहा कि, ‘‘आर्टिफिशल इंटेलिजन्स’ टैकनोलजी ने शतरंज जैसे बेहद पेचीदा खेल में मात्र कुछ घंटों में ही निपुणता संपादित की| इस खेल में निपुणता प्राप्त करने के लिए मानव समाज को १५०० सालों का काल लगा, वह आर्टिफिशल टैकनोलजी का इस्तेमाल किए जानेवाले ‘एल्फाझिरो’ ने कुछ घंटो में ही प्राप्त किया| आर्टिफिशल इंटेलिजन्स पिछले पाच वर्षों में कितना प्रगती करेगा, इसके बारे में सोचना उचित होगा|’ इसके लिए किसिजर ने कुछ उदाहरण सामने रखी|

वास्तव बन चुकी ‘ड्रायव्हरलेस कार’ अर्थात स्वयंचलित मोटार आनेवाले दशकों में सभी जगह दिखाई देंगी| एक कुशल ड्रायव्हर के समान यह मोटार काम करेंगे| लेकिन ड्रायव्हिंग करते समय, एकाएक सामने आने वाली समस्या आर्टिफिशल टैकनोलजी द्वारा छुडा सकते है क्या? वृद्ध नाना-नानी और एक बच्चा इनमें से किसी एक को बचाना हो, तो यह टैकनोलजी कैसे काम करेगी? ऐसा सवाल किसिंजर ने किया| इसलिए इस आर्टिफिशल इंटेलिजन्स के क्षेत्र में काम करनेवालों को इनकी उद्दिष्टों को ध्यानपूर्वक बनाना होगा| अन्यथा आर्टिफिशल इंटेलिजन्स के अनिर्बंध विकास से भीषण समस्या खड़ी हो सकती है, इस पर किसिंजर ने ध्यान आकर्षित किया|

तेज गती से ‘आर्टिफिशल इंटेलिजन्स’ द्वारा लिए जानेवाले फैसले गलत हो सकते है| इन गलतियों को सुधारने के लिए समय नहीं मिलेगा, मानवी बुद्धिमत्ता की गती से इसकी तुलना नहीं हो सकती| इन परीस्थिती में इस टैकनोलजी के इस्तेमाल के लिए मानवी भावनाओं का शासन लगाना जरूरी है,’ ऐसा किसिंजर ने धमकाया| किसिंजर ने यह दावा करते हुए कहा कि, अमेरीकी सरकार द्वारा आर्टिफिशल इंटेलिजन्स के इस्तेमाल के लिए अध्यक्षीय समिती का गठन करे और इस पर नियंत्रण रखे, ऐसा आवाहन किसिंजर ने किया है| अभी से इसकी शुरुआत नहीं की गई तो हमने इसके लिए बहुत देरी की इस पर पछतावा करना पड़ेगा, ऐसी चेतावनी किसिंजर ने दी|

आनेवाले समय में आर्टिफिशल इंटेलिजन्स से हाहाकार मच जाएगा, ऐसा दावा ‘टेसला मोटर्स’ के एलॉन मस्क और ‘अलिबाबा ग्रुप’ के जॅक मा ने किसिंजर के पहले भी किया था| इस टैकनोलजी से बेकारी बड़ी मात्रा में बढेगी और यह टैकनोलजी तृतीय विश्‍वयुद्ध भडकाएगा, ऐसा जॅक मा ने धमकाया था| वहीं रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमिर पुतिन ने दावा किया था कि, ‘आर्टिफिशल इंटेलिजन्स’ में अगुआई करनेवाले देश ही आनेवाले समय में दुनिया पर नियंत्रण करेंगे| चीन ने आर्टिफिशल इंटेलिजन्स के क्षेत्र में बड़ी मात्रा में निवेश शुरू करने की जानकारी उजागर हुई थी| वही इस टैकनोलजी का सैनिकी इस्तेमाल बड़े पैमाने पर संहार कर सकता है, ऐसी चिंता दुनिया के ११६ उद्योजक और संशोधकों ने एक खुले पत्र द्वारा जताई थी| संयुक्त राष्ट्र को लिखे इस पत्र में ‘आर्टिफिशल इंटेलिजन्स’ और ‘रोबोटिक्स’ की सहायता से विकसित होनेवाले हथियारों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाए जाए, ऐसी मॉंग की गई थी|

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info/status/998553484713709569
https://www.facebook.com/WW3Info/posts/396230477452109