Breaking News

अमेरीका के रशिया पर प्रतिबंधों के खिलाफ रशिया सीरिया में परमाणू बम तैनात करेगा – रशियन संसद सदस्य का दावा

मॉस्को – सीरिया में परमाणू बम तैनात कर हुए रशिया अमेरीका के प्रतिबंधों को करारा जवाब दे सकेगा, ऐसा दावा करते हुए रशियन सांसद ने खलबली मचाई है। अमेरीका ने रशिया पर कठोर आर्थिक प्रतिबंध लगाए जिसका तनाव रशियन अर्थव्यवस्था पर हो चुका है जिससे रशियन रुबल की किमत गिर चुकी है। लेकिन उसे जवाब देने के लिए सीरिया में परमाणू बम तैनात करने का सांसद व्लादिमिर गुतेनेव्ह की चेतावनी अमेरीका से उतनीही विस्फोटक प्रतिक्रिया आने की संभावना है। इससे सीरिया की स्थिती भीषण बनने के संकेत मिल रहे है।

परमाणू बम, तैनात, व्लादिमिर गुतेनेव्ह, आर्थिक प्रतिबंध, उल्लंघन, रशिया, सर्जेई स्क्रिपलअमेरीका ने पिछले सप्ताह रशिया पर प्रतिबंध लगाए थे। सोव्हिएत रशिया का भूतपूर्व एजन्ट सर्जेई स्क्रिपल पर ब्रिटन की राजधानी लंडन में विषप्रयोग कर रशिया ने रासायनिक एवं जैविक हथियारों संबंधित आंतर्राष्ट्रीय समझौते का उल्लंघन किया, ऐसा कहते हुए अमेरीका ने ये प्रतिबंध घोषित किए। इस पर रशियन संसद के कनिष्ठ सभागृह में ‘इकोनॉमिक पॉलिसी कमिटी’ के उपप्रमुख गुतेनेव्ह ने कडी आलोचना करते हुए ये प्रतिबंध लगाकर अमेरीका ने मर्यादा रेषा (रेड लाईन्स) का उल्लंघन करने का आरोप किया।

अमेरीका ने रशिया पर प्रतिबंध लगाकर अपनी मर्यादा रेला लांघने के बाद रशिया को भी अपनी मर्यादा रेषा निश्‍चित करनी होगी, ऐसा गुतेनेव्ह ने कहा। ‘सीरिया में परमाणू बम तैनात करते हुए रशिया अमेरीका को मुँहतोड जवाब देने का यही सही समय है। सीरिया में रशियन परमाणू बमन की तैनाती अमेरीका के प्रतिबंधों को जैसे तो तैसा जवाब होगा’, ऐसा दावा गुतेनेव्ह ने किया।

इससे पहले रशिया के विशेषज्ञों ने भी सीरिया में परमाणू बम तैनात करने के बारे में राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमिर पुतिन को सुझाव दिया था, इसकी याद गुतेनेव्ह ने रशियन संसद में कराई।

इसी दौरान, सीरिया में रासायनिक हमलों का नाटक खडा कर अमेरीका सीरिया में अस्साद हुकूमत पर हमले की योजना रच रहा है, ऐसा आरोप रशिया के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता इगोर कोनाशेंकोव्ह ने किया है। पिछले सप्ताह ‘टॉमाहॉक’ प्रक्षेपास्त्रों से लैस अमेरीका की युद्धपोत भूमध्य समुद्र में दाखिल हुई है। इसके अलावा पर्शियन खाडी में अमेरीका की युद्धपोत की तैनाती और बॉम्बर विमान की रतवाही की जानकारी देते हुए रशियन रक्षा मंत्रालय ने ये दावा किया।

English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info