Breaking News

ऑस्ट्रेलिया से पश्चिम जेरूसलम इस्राइल की राजधानी घोषित – पैलेस्टाईन इंडोनेशिया से तीव्र प्रतिक्रिया

कैनबरा / रामल्ला  – अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हो रही आलोचना की परवाह न करते हुए ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने पश्चिम जेरूसलम इस्राइल की राजधानी होने की बात मंजूर की है।​​ संयुक्त राष्ट्रसंघ तथा यूरोपीय मित्रदेशों से लगातार धमकानेवाले इस्राइल का पक्ष लेना, यह ऑस्ट्रेलिया का कर्तव्य होने की बातकहकर प्रधानमंत्री मॉरिसन ने यहघोषणा की है।​ पर अमरिका की तरह ऑस्ट्रेलिया पश्चिम जेरूसलम मेंअपना दूतावास स्थानांतरित करने की जल्दी नहीं करेगा, ऐसा मॉरिसन स्पष्ट किया है।​ दौरान अपने इस निर्णय की प्रतिक्रिया उमड़ सकती है यह पहचान कर प्रधानमंत्री मॉरिसन ने ऑस्ट्रेलियन नागरिकों को इंडोनेशियाकी यात्रा टालने की सूचना की है।​

प्रधानमंत्री मॉरिसन ने शनिवार की सुबह पश्चिम जेरूसलम को इस्राइल की राजधानी का दर्जा देने की घोषणा की है। ऑस्ट्रेलियन सरकार का यह निर्णय द्विराष्ट्रवाद की योजना का और संयुक्त राष्ट्रसंघ में सुरक्षा परिषद के नियमों को मद्दे नजर रखते हुए होने की बात मॉरिसन ने कही है। पश्चिम जेरूसलम को इस्राइल की राजधानी घोषित की है, फिर भी फिलहाल ऑस्ट्रेलिया का दूतावास तेल अवीव में ही है। पर ऑस्ट्रेलिया के रक्षा एवं व्यापार विषयक कार्यालय पश्चिम जेरूसलम में स्थानांतरित होंगे, ऐसा प्रधानमंत्री मॉरिसन ने कहा है। साथ ही इस्राइल और पैलेस्टाईन में शांति चर्चा सफल नहीं होती, तब तक दूतावास पश्चिम जेरुसेलम में स्थानांतरित नहीं होगा, ऐसा ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने कहा है। पैलेस्टाईन को स्वतंत्र राष्ट्र का दर्जा एवं पूर्व जेरूसलम की पैलेस्टाईन की राजधानी इस ऑस्ट्रेलिया की भूमिका पर कायम होने की बात मॉरिसनने कही है। ऑस्ट्रेलियन प्रधानमंत्री जेरूसलम को इस्राइल की राजधानी घोषित करेंगे, ऐसी जानकारी शुक्रवार को ही प्रसिद्ध हुई थी और उन्होंने केवल पश्चिमी जेरूसलम इस्राइल की राजधानी घोषित करने की वजह से इस्राइल के माध्यम आश्चर्य व्यक्त कर रहे हैं।

ऑस्ट्रेलियन प्रधानमंत्री के इस निर्णय पर पैलेस्टाईन के अब्बास सरकार ने जोरदार आलोचना की है। ऑस्ट्रेलिया प्रधानमंत्री का यह निर्णय गैरजिम्मेदार होने का आरोप पैलेस्टाईन नेता साहेब एरेकत ने किया है। प्रधानमंत्री मॉरिसन ने यह निर्णय लेकर संयुक्त राष्ट्रसंघ के नियमों का उल्लंघन करने का दावा किया है। तथा ऑस्ट्रेलिया का पड़ोसी आग्नेय आशियाई देश इंडोनेशिया ने भी प्रधानमंत्री मॉरिसन के निर्णय पर आलोचना करके ऑस्ट्रेलिया के साथ होनेवाले राजनैतिक सहयोग तोड़ने की घोषणा की है। साथ ही इस निर्णय की वजह से ऑस्ट्रेलिया में इंडोनेशिया में अपने समर्थकों से ऑस्ट्रेलियन यात्रियों को खतरा होकर नागरिक इंडोनेशिया की यात्रा टाले, ऐसी सूचना ऑस्ट्रेलियन सरकार ने की है।

वर्ष भर पहले अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने जेरूसलम को इस्राइल की राजधानी घोषित की थी। उसके बाद आनेवाले कई हफ्ते और अमरिका ने जेरूसलम में अपना दूतावास स्थानांतरित किया था। अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष के इस निर्णय पर जोरदार आलोचना हुई थी। यूरोप में अमरिका एवं इस्राइल के मित्र देशों ने राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प इनके निर्णय पर जोरदार विरोध किया था। तथा जेरूसेलम के मुद्दे पर इस्राइल का समर्थन ना करने की बात स्पष्ट हुई थी। इसकी वजह से यूरोपीय देश एवं इस्राइल में तनाव निर्माण हुआ था।

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:
https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info