Breaking News

ब्राजील-व्हेनेझुएला के बीच बने विवाद से लैटिन अमरिका में तनाव

रिओ दि जानिरो/कॅराकस – ब्राजील के नए राष्ट्राध्यक्ष जैर बोल्सोनारो इन्होंने अगले महीने हो रहे अपने शपथग्रहण समारोह के लिए व्हेनेजुएला के राष्ट्राध्यक्ष को दिया निमंत्रण रद्द किया है। साथ ही व्हेनेजुएला के राष्ट्राध्यक्ष निकोलस मदुरो इन्होंने अमरिका के साथ लैटिन अमरिकी देश अपने विरोध में लष्करी कार्रवाई करने की तैयारी कर रहे है, यह आरोप करके उनकी सेना व्हेनेजुएला से जीवित बाहर नही जा सकेगी, इन शब्दों में धमकाया है। ब्राजील और व्हेनेजुएला में शुरू हुए इस नए विवाद से लैटिन अमरिका में बना तनाव में और भी बढोतरी हुई है, यह दिख रहा है।

मै महीने में व्हेनेजुएला में हुए चुनाव में राष्ट्राध्यक्ष मदुरो इन्होंने गैरप्रकार करके फिर से खुदको ही सहा वर्ष के लिए राष्ट्राध्यक्ष घोषित किया था। मदुरो इनकी इस निर्णय की गुंज लैटिन अमरिका के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी सुनाई दी थी। लैटिन अमरिकी देशों की ‘लिमा’ और ‘ओएएस’ संगठनों ने मदुरो इन्हें अधिकृत तौर पर राष्ट्राध्यक्ष स्वीकारने से इन्कार करने की चेतावनी दी है। उसी समय अमरिका ने भी प्रतिंबध लगाकर व्हेनेजुएला की राजवट बदलने के लिए अधिक आक्रामक कार्रवाई के संकेत दिए है।

लेकिन राष्ट्राध्यक्ष मदुरो इन्होंने इस ओर नजरअंदाजी करके सत्ता पर अपना शिकंजा और भी कसने की कोशिष शुरू की है। इसके लिए उन्होंने नए चलन का ऐलान करके, अपनी सियासत का समर्थन कर रहे गुटों की (मिलिशिआ) कक्षा विस्तारना, देश में चुनाव लेकर अपनी हुकूमत क्रियाशील है, यह चित्र बनाने का भी प्रयत्न शुरू किये है। दुसरी ओर रशिया और तुर्की जैसे देशों से आर्थिक सहायता प्राप्त करके और ‘अल्बा’ इस सहयोगी देशों के गुट का समर्थन पाकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई देश अपने साथ खडे है, यह दिखाया है।

मदुरो इनकी इन कोशिषों को लैटिन अमरिका के प्रमुख ब्राजील और कोलंबिया जैसे देशों ने कडा विरोध किया है। ब्राजील के नए राष्ट्राध्यक्ष जैर बोल्सानारो इन्होंने अगले महीने में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह का निमंत्रण रद्द करके नजदिकी समय में व्हेनेजुएका के विरोध में अपनाई भूमिका और भी आक्रामक होने के संकेत दिए है। बोल्सानारो सरकार में विदेश मंत्री नियुक्त हुए ‘अर्नेस्टो अरोजो’ इन्होंने तो विश्‍व के सभी देश एक होकर व्हेनेजुएला को आजाद करने की दर्ख्वास्त करके खलबली मचाई है।

बोल्सानारो इनका पुत्र एदुआर्दो ने व्हेनेजुएला में मदुरो हुकूमत को विरोध कर रहे दक्षिण पंथी गुटों के साथ हाथ मिलाया है, यह भी स्पष्ट हुआ है। कुछ दिन पहले ही एदुआर्दो ने सोशल मीडिया पर प्रसिद्ध किए एक पोस्ट में मदुरो को लक्ष्य करके ‘अंत निकट है’, यह विधान किया था। कोलंबिया ने व्हेनेजुएला को हो रही सहायता बंद करने की चेतावनी दी है और सीमा पर तैनाती बढाई है।

इन सभी गतिविधियों की वजह से लैटिन अमरिका में बने तनाव में और भी बढोतरी हो रही है, यह कहा जा रहा है और जल्द ही यह संघर्ष भडक सकता है, यह दावा विश्‍लेषक कर रहे है।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info