Breaking News

तेल अवीव में जल्द ही पैलस्टिनी सरकार होगी – ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता आयातुल्लाह खामेनी

तेहरान – गाझा में पैलस्टिनी कट्टरतावादियों ने हाल ही में हुए संघर्ष के दौरान इस्रायल को दिया प्रत्युत्तर यानी इस्रायल के अंत का आगाज है। पैलस्टिनिओं का यह जवाब भविष्य में इस्रायल पर होने वाली निर्णायक जीत की गवाही देने वाला साबित होगा। जल्द ही तेल अवीव में पैलस्टिनिओं की सरकार होगी, यह घोषणा ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता आयातुल्लाह खामेनी इन्होंनी की। साथ ही इस इस्रायल विरोधी संघर्ष के लिए पैलस्टिनी जनता और पैलस्टिनियन इस्लामिक जिहाद’ इस संगठन को ईरान का समर्थन हमेशा प्राप्त होगा, यह भी खामेनी इन्होंने घोषित किया।

अमरिका, युरोपीय महासंघ और इस्रायल ने आतंकी संगठन के तौर पर मुहर लगाए ‘पैलस्टिनियन इस्लामिक जिहाद’ (पीआईजे) इस संगठन के प्रमुख ‘झईद अल नखाला’ इन्होंने हाल ही में ईरान की यात्रा की थी। इस दौरान नखला इन्होंने ईरान के सर्वोच्च नेता खामेनी इनकी भेंट की थी। खामेनी इन्होंने ‘पीआईजे’ के प्रमुख के साथ की बातचीत के दौरान गाझापट्टी के हमास और अन्य आतंकी संगठनों ने इस्रायल के विरोध में किए गठबंधन की प्रशंसा की। हमास, ‘पीआईजे’ एवं अन्य संगठनों के कडे विरोध की वजह से इस्रायल घुटने के बल आया है, यह दावा खामेनी इन्होंने किया। साथ ही इस्रायल और गाझा की आतंकी संगठनों में हुए संघर्ष की भी उन्होंने याद दिलाई।

इसके पहले हुए दो संघर्षों में गाझा के हथियार बंद गुटों ने इस्रायल को २२ और बाद में ८ दिनों में युद्ध विराम करने पर विवश किया था। वही हाल ही में हुए संघर्ष के दौरान इस्रायल ने केवल ४८ घंटों में युद्ध विराम का ऐलान किया। इसका सीधा मतलब, इस्रायल घुटने के बल आया है, यही होता है, यह खामेनी ने कहा। ‘अरब देशों की सेना को भी जो मुमकिन नही हुआ वह पैलस्टिनी गुटोंने कर दिखाया है। लेकिन यह छोटी जीत है। भविष्य में पैलस्टिनिओं को बडी जीत प्राप्त करनी है। तेल अवीव में जल्द ही पैलस्टिनिओं की सरकार होगी, यह कहकर ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता ने ‘पीआईजे’ और गाझा की अन्य कट्टरपंथियों को उकसाया।

वेस्ट बैंक में पैलस्टिनी सरकार चला रहे फताह पक्ष ने ‘जेरूसलम’ यह पैलस्टाइन की राजधानी होगी और तेल अवीव यह इस्रायल की राजधानी रहेगी, यह भूमिका का स्वीकार किया है। वही अन्य अरब देशों ने भी यही भूमिका का स्वीकार किया है। लेकिन ईरान और जिहबुल्लाह, हमास और पीआईजे इन आतंकी संगठनों ने इस्रायल का अस्तित्व ठुकराया है। साथ ही भविष्य में तेल अवीव पैलस्टाईन के राजधानी का ही हिस्सा होगा, यह ऐलान भी किया है।

खामेनी इनके साथ ही ‘पीआईजे’ प्रमुख नखाला ने भी ईरान के समर्थन से इस्रायल के उत्तरी हिस्से से दक्षिणी हिस्से तक हमले होंगे, यह चेतावनी दी है। लेबनान में हिजबुल्लाह इस्रायल के उथ्तरी हिस्से में हमलों के लिए सहायता करेगी और गाझा के कट्टरतावादी संगठन दक्षिणी इस्रायल में हर शहर को मिसाइलों से लक्ष्य करेंगी, यह चेतावनी नखाला इन्होंने दी है।

 English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info