Breaking News

नायजर लष्कर की कार्रवाई में बोको हराम के २८० से अधिक आतंकी ढेर

निआमे – पश्‍चिमी अफ्रीका में ‘नायजर’ देश की सेना ने आतंकी ‘बोको हराम’ संगठन के विरोध में की बडी कार्रवाई में २८० से अधिक आतंकवादी ढेर हुए है। ‘लेक चाड’ और ‘योबे रिव्हर’ क्षेत्र में नायजर सेना ने किए हवाई हमलों में कम से कम २०० और लष्करी कार्रवाई में ८७ आतंकवादी ढेर होने की जानकारी नायजर के रक्षा विभाग ने दी है। नायजर ने ‘बोको हराम’ के विरोध में की यह सबसे बडी कार्रवाई मानी जा रही है।

पिछले वर्ष ‘बोको हराम’ संगठन दुबारा प्रबल होने के संकेत प्राप्त हो रहे थे। इस आतंकी संगठन ने नाईजेरिया, चाड और नायजर इन देशों में लगातार हमले किए है और इस दौरान लष्करी ठिकानों को भी लक्ष्य किया गया था। २०१८ में ‘बोको हराम’ ने इन तीन देशों में किए हमलों में हजार से भी ज्यादा लोग बलि हुए है और इनमें सैनिकों की संख्या काफी ज्यादा है। नाईजेरिया की सेना ने २०१८ में की कार्रवाई में ‘बोको हराम’ का पराभव होने का दावा किया गया था। लेकिन उसके बाद भी इस आतंकी संगठन के हमलों में लगातार बढोतरी होता देखा गया है।

इस पृष्ठभुमि पर ‘नायजर’ सेना ने पिछले हफ्तें में की कार्रवाई ध्यान आकर्षित करने वाली साबित होती है। शुक्रवार २८ दिसंबर से नायजर सेना ने आतंकविरोधी मुहीम की शुरूआत की थी। ‘लेक चाड’ और ‘कोमादोगु योबे रिव्हर’ प्रांत के छोटे द्विपों पर हवाई हमले किए गए। इन हवाई हमलों के बाद नायजर सेना की टुकडीयों ने जमीन पर कार्रवाई करके ‘बोको हराम’ के ठिकानों पर हमले किए। जमीन से हुई इस कार्रवाई के दौरान लगभग ८७ आतंकी ढेर किए गए है और बडी मात्रा में हथियार भी जब्त किए गए।

‘नायजर’ सेना ने किए हवाई हमलों में २०० आतंकी ढेर होने की बात कही जा रही है, फिर भी यह संख्या बढने की संभावना है, यह संकेत भी दिए गए है। पिछले महीने में ‘बोको हराम’ ने नाईजेरिया के लष्करी अड्डोंपर बडी मात्रा में हमले किए थे। इन हमलों के बाद ‘बोको हराम’ नायजर को लक्ष्य करेगा, यह डर जताया गया था। नवंबर महीने में पश्‍चिमी अफ्रीकी देशों ने इसी मुद्दे पर विशेष बैठक का आयोजन भी किया था। इसी बैठक में ‘बोको हराम’ ने ‘ड्रोन्स’ प्राप्त किए है और लष्करी ठिकानों पर हमले करने से पहले ‘ड्रोन्स’ का इस्तेमाल करके बोको हराम लष्करी ठिकानों की गश्त करता है, यह चौकानेवाला दावा नाईजेरिया के राष्ट्राध्यक्ष ने किया था।

English    मराठी

 

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info