Breaking News

ईरान ने किया सोने पर निर्भर ‘क्रिप्टोकरंसी’ का ऐलान

वॉशिंगटन – वर्ष १९७९ में हुई इस्लामी क्रांति के बाद पिछले ४० वर्षों में पहली बार ईरान की अर्थव्यवस्था बडे दबाव में आने की बात ईरान के राष्ट्राध्यक्ष हसन रोहानी इन्होंने कबूल की है| ईरानी अर्थव्यवस्था की इस खराब स्थिति के लिए अमरिका जिम्मेदार होने का आरोट भी ईरान के राष्ट्राध्यक्ष ने किया है| अमरिका के प्रतिबंधों की वजह से खतरे मे संकट का सामना कर रही अपनी अर्थव्यवस्था को दुबारा संवरने के लिए ईरान ने सोने पर निर्भर ‘क्रिप्टोकरंसी’ का ऐलान किया है| ईरान यह घोषणा करेगा, ऐसे दावे पहले से हो रहे थे| डॉलर पर निर्भर अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को चुनौती देने के लिए ईरान ने यह कदम बढाया है| इस पर अमरिका की प्रतिक्रिया आ सकती है|

ईरान के अंग्रेजी समाचार पत्र ने यह वृत्त प्रसिद्ध किया है| सोने पर निर्भर इस क्रिप्टोकरंसी के लिए ‘पेमन’ यह नाम दिया गया है| ईरानी क्रिप्टोकरंसी का निर्माण करने के लिए ईरान के चार प्रमुख बैंक एवं एक निजी कंपनी ने पहल की है| इसमें पर्शियन बैंक, बैंक पासारगाद, बैंक मेल्ली ईरान और बैंक मेलत का समावेश है| साथ ही घोघ्नूस कंपनी ने भी यह क्रिप्टोकरंसी लॉंच करने के लिए पहल की है, ऐसी जानकारी ईरानी पत्र ने दी है| इन चारों बैंकों में आनेवाले समय में ‘पेमन’ की सहायता से बैंकों की संपत्ति और अन्य जायदाद का ‘टोकनायजेशन’ किया जाएगा, यह जानकारी घोघ्नूस के संचालक वलीओल्लाह फातेमी इन्होंने दी|

‘क्रिप्टोकरंसी’, ऐलान, पेमन, आर्थिक व्यवहार, ww3, ईरान, EU, इन्स्टेक्स

पेमन का यह टोकन एक वॉलट या पेमेंट चैनल के तौर पर काम करेगा| इसके द्वारा प्रतिदिन के आर्थिक व्यवहार और भी आसान और बैंकों के व्यवहार तेजी से हो सकेंगे, यह दावा फातेमी इन्होंने किया| ईरान की अर्थव्यवस्था की जरूरत ध्यान में रखे तो शुरूआती समय में बैंकों में लगभग एक अरब पेमन क्रिप्टोकरंसी रखी जाएगी| बैंकों के व्यवहार जमने के बाद ईरानी शेअर बाजार भी पेमन के लिए खुला किया जाएगा, यह घोघ्नूस ने कहा है|

अमरिकी प्रतिबंधों की पृष्ठभुमि पर ईरान क्रिप्टोकरंसी का ऐलान करेगा, ऐसा कहा जा रहा था| अमरिकाने लगाए प्रतिबंधों की वजह से ईरान के साथ आर्थिक व्यवहार करने कठिन हुआ था| ऐसे में युरोपीय देशों की सलाह के नुसार विकल्प के तौर पर इस्तेमाल की जानेवाली ‘स्विफ्ट’ यंत्रणा पर भी अमरिका ने प्रतिबंध लगाने से ईरान की परिस्थिति और भी कठिन हो चुकी थी| इस वजह से अमरिकी प्रतिबंध और डॉलर को नजरअंदाज करके अंतरराष्ट्रीय बाजार में व्यवहार शुरू रखने के लिए ईरान ने सोने पर निर्भर पेमन क्रिप्टोकरंसी बाजारात उतारी है, यह बताया जा रहा है|

इस दौरान, पेमन का ऐलान करने से सप्ताह पहले ईरान के सेंट्रल बैंक ने क्रिप्टोकरंसी का इस्तेमाल करने संबंधी नियमों का ऐलान किया था| इस ऐलान के साथ ही ईरान ने क्रिप्टोकरंसी लॉंच करने के संकेत दिए थे|

युरोपीय देशों से ईरान के लिए ‘इन्स्टेक्स’

‘क्रिप्टोकरंसी’, ऐलान, पेमन, आर्थिक व्यवहार, ww3, ईरान, EU, इन्स्टेक्सब्रुसेल्स – फ्रान्स, जर्मनी और ब्रिटेन ने ईरान के साथ आर्थिक व्यवहार करने के लिए विकल्प के तौर पर ‘इन्स्टेक्स’ इस चलन यंत्रणा का निर्माण किया है| अमरिका ने ईरान पर लगाए प्रतिबंध ठुकराने के लिए ‘इन्स्टेक्स’ की सहायता होगी, यह दावा युरोपीय देशों ने किया है|

‘इन्स्टेक्स’ की वजह से युरोपीय देशों का ईरान के साथ व्यापारी सहयोग फिर से शुरू होगा, यह कहा जा रहा है| इस विकल्प की वजह से केवल अन्न, दवाईयां और अस्पतालों के लिए जरुरी सामग्री से जुडे व्यवहार मुमकिन होंगे, यह कहा जा रहा है|

 

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info